गु, गे, गो, स, सा, सी, सु, से, सं, सो, सौ, द, दा । इनका शारीर घड़े के आकर का होता है। पुष्पों और सुगन्धित द्रवों के प्रिय होते हैं। कभी क्षय को प्राप्त होते हैं तो कभी वृद्धि को अर्थात इनके आर्थिक पक्ष में उतार चढ़ाव आता रहता है।

कुम्भ- जिम्मेदारियों को प्राथमिकता से पूरा करने में जुटे रहें। जब तक एक कार्य सम्पन्न न हो जाये नयी शुरुआत से बचें। वाणी व्यवहार मधुर रखें। दिन संघर्ष से सफलता दिलाने।