गु, गे, गो, स, सा, सी, सु, से, सं, सो, सौ, द, दा । इनका शारीर घड़े के आकर का होता है। पुष्पों और सुगन्धित द्रवों के प्रिय होते हैं। कभी क्षय को प्राप्त होते हैं तो कभी वृद्धि को अर्थात इनके आर्थिक पक्ष में उतार चढ़ाव आता रहता है।

कुंभ- सभ्यता और भव्यता पर जोर बना रहेगा। वाणी व्यवहार से सभी को प्रभावित करने में सफल रहेंगे। मांगलिक आयोजनों में प्रमुखता से शामिल हो सकते हैं।