Tuesday , July 02, 2013

सवाल स्नोडेन से आगे का है...


0 IBNKhabar

अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए के पूर्व कर्मचारी एडवर्ड स्नोडेन के खुलासों से तिलमिलाए अमेरिका की मुसीबत कम होने का नाम नहीं ले रही है। एक तरफ, स्नोडेन अमेरिका की गिरफ्त से लगातार बाहर बना हुआ है, तो दूसरी तरफ स्नोडेन द्वारा लीक जानकारियों से नए नए राज सामने आ रहे हैं। जर्मनी की पत्रिका डेयर स्पिगल के मुताबिक स्नोडेन के दस्तावेजों से खुलासा हुआ है कि अमेरिका ने वाशिंगटन, न्यूयॉर्क और ब्रूसेल्स में ईयू के दफ्तरों पर इलेक्ट्रॉनिक निगरानी और कंप्यूटर नेटवर्क हैक किए। इस खुलासे से नाराज यूरोपियन यूनियन ने अमेरिका से सफाई मांगी है। द गार्जियन ने इस खुलासे को नया आयाम दे दिया है। गार्जियन के मुताबिक राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी के जासूसी के लिए लक्षित 38 ठिकानों में भारतीय दूतावास भी शामिल था। अमेरिकी सरकार इन आरोपों पर अब चुप्पी साधे है। अमेरिका के लिए बड़ी परेशानी स्नोडेन को वापस देश लाना है, जिस पर जासूसी, सरकारी....

Friday , June 14, 2013

सोशल मीडिया पर ‘आइडेंटिटी क्राइसेस’


0 IBNKhabar

दुनिया की सबसे लोकप्रिय सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक ने देर से सही पर दुरुस्त कदम उठाया है। फेसबुक खातों को सत्यापित करने का। फेसबुक ने हाल में बड़ी हस्तियों के खातों को सत्यापित करने की प्रक्रिया शुरू की है। इस सत्यापन प्रक्रिया के तहत साइट उन खातों अथवा पेज पर नीले रंग में सही का चिन्ह अंकित कर देगी, जिन्हें वो वास्तविक समझती है। भारत में अमिताभ बच्चन और सलमान खान जैसी हस्तियों के खातों को फेसबुक सत्यापित कर चुकी है। फेसबुक पर एक करोड़ से ज्यादा फर्जी खातों के आंकड़े के बीच इस कवायद का सबसे बड़ा लाभ यह है कि आम लोग जान सकते हैं कि वे जिस हस्ती को फॉलो कर रहे हैं, वो वास्तविक ही है। माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर की तरह फेसबुक ने इस प्रक्रिया को आरंभ किया है, और इसका लाभ सोशल मीडिया पर सक्रिय बड़ी हस्तियों को मिलेगा। लेकिन, क्या सोशल मीडिया पर सक्रिय....

Thursday , May 02, 2013

140 अक्षरों के आतंक की चुनौती


0 IBNKhabar

क्या 140 अक्षरों के आतंक की चुनौती को हम गंभीरता से ले रहे हैं? क्या 140 अक्षरों के आतंक से निबटने के लिए हम तैयार हैं? और क्या हम इस बात की कल्पना कर पा रहे हैं कि 140 अक्षरों का आतंक भविष्य में उस तबाही को अंजाम दे सकता है, जिसके बारे में अभी हम सोच नहीं पा रहे हैं? जी हां, माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर बहते 140 अक्षरों के आतंक के बाबत आशंकाओं के अतिरेक से परिपूर्ण इन सवालों पर गंभीरता से बहस की आवश्यकता है। निश्चित रूप से हाल की कुछ घटनाएं इस तरफ इशारा कर रही हैं। बीते सोमवार को दुनिया के प्रतिष्ठित समाचार पत्र गार्डियन के 11 ट्विटर खाते हैक कर लिए गए। सीरियन इलेक्ट्रॉनिक आर्मी नामक संस्थान ने गार्डियन फिल्म, गार्डियन ट्रैवल और गार्डियन बुक्स समेत संस्थान के 11 ट्विटर खाते हैक कर लिए। इन खातों पर 10 से ज्यादा फालतू ट्वीट किए....

Wednesday, April 24, 2013

महिलाओं के हथियार बने अब फेसबुक-ट्विटर


0 IBNKhabar

दिल्ली में पांच साल की मासूम के साथ बलात्कार की घटना की गूंज सोशल मीडिया के अलग-अलग मंचों पर भी सुनाई दे रही है। लाखों लोगों का आक्रोश, दर्द, वेदना और छटपटाहट अलग-अलग शब्दों के आवरण में लिपटकर फेसबुक, ट्विटर और दूसरे मंचों पर बिखरी पड़ी है। 16 दिसंबर को निर्भया हादसे के बाद भी सोशल मीडिया इसी तरह उबल रहा था। सोशल मीडिया अपनी प्रकृति में लोकतांत्रिक है और फेसबुक-ट्विटर जैसे मंचों का इस्तेमाल आजकल हर अहम मसले पर प्रतिक्रिया देने के लिए किया जा रहा है। लेकिन सवाल है इन मंचों पर आधी आबादी कहां है? भारत में सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक-ट्विटर पर कितनी महिलाएं हैं? और क्या फेसबुक जैसी साइट सिर्फ आक्रोश को आवाज देने के लिए है अथवा इसके जरिए आधी-आबादी पुरुषवादी मानसिकता के खिलाफ जंग लड़ने की दिशा में भी सोच सकती है? सोशल मीडिया पर महिलाओं की उपस्थिति की बात करें तो स्थिति....

Friday , April 12, 2013

सोशल मीडिया पर राजनीतिक युद्ध


0 IBNKhabar

क्या आने वाले दिनों में सोशल मीडिया पर राजनीतिक जंग लड़ी जाएंगी। क्या 2014 के चुनावों तक भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस के डिजीटल सैनिक एक लड़ाई को सोशल मीडिया के मैदान पर भी अंजाम देंगे। क्या फेसबुक-ट्विटर के मंचों पर लिखी-कही हर राजनीतिक टिप्पणी को प्रतिद्वंदी 'पेड कमेंट' की संज्ञा देकर लोगों को भ्रमित करने की कोशिश करेंगे। और क्या सोशल मीडिया पर राजनीतिक प्रतिद्वंदिता का कोई नतीजा चुनाव नतीजों के आइने में भी पढ़ा जा सकेगा। इन सभी सवालों का पहला जवाब है-हाँ। सोशल मीडिया पर राजनीतिक जंग का आगाज़ हो चुका है, लिहाजा इन सवालों की प्रासंगिकता बढ़ गई है। इस लड़ाई की पहली बड़ी झलक बीते सोमवार को देश-दुनिया ने देख ली, जब माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर 'फेकू' शब्द ट्रेंडिंग टॉपिक बन गया अर्थात इस शब्द से जुड़े हज़ारों ट्वीट किए गए। यह लड़ाई बेहद दिलचस्प थी। इस जंग में दोनों सेनाओं ने जमकर मोर्चा लिया।....

Tuesday , April 02, 2013

जमीन पर ‘आकाश’


0 IBNKhabar

दुनिया के सबसे सस्ते टैबलेट के रूप में प्रचारित 'आकाश' अभी तक कितने छात्रों को किस तरह लाभान्वित कर पाया है, यह अलग शोध का विषय है लेकिन क्या आकाश भविष्य में छात्रों तक पहुंच भी पाएगा, यह सवाल अब महत्वपूर्ण हो गया है। अटकलें लगाई जा रही हैं कि सरकार आकाश टैबलेट उपक्रम को अलविदा कहने का मन बना रही है। इन अटकलों को हवा दी मानव संसाधन मंत्री एम.एम. पल्लम राजू ने। राजू ने हाल ही में एक प्रेस वार्ता में कहा, 'हम हार्डवेयर को लेकर ज्यादा जुनूनी न हों। मसला यह है कि हम छात्रों को किस तरह सुविधा देते हैं। छात्रों को तय करने दीजिए कि कौन सी डिवाइस उपयोगी है'। आकाश टैबलेट प्रोजेक्ट की वर्तमान दशा-दिशा के बीच मानव संसाधन मंत्री का बयान 'आग है तभी धुंआ' वाला साबित हुआ। यह अलग बात है कि पूर्व मानव संसाधन मंत्री और वर्तमान दूरसंचार मंत्री कपिल....

Tuesday , March 26, 2013

गब्बर की होली


0 IBNKhabar

'अरे ओ सांभा, होली कब है? कब है होली'? जेल से छूटकर लौटे गब्बर ने बौखला कर सांभा से पूछा। 'सरदार, होली 27 तारीख को है। लेकिन, अचानक होली का ख्याल कैसे आया। बसंती तो गांव छोड़कर जा चुकी है, और ठाकुर भी अब जिंदा नहीं है। फिर, होली किसके साथ खेलोगे'? 'धत् तेरे की। लेकिन, वीरू-जय उनका क्या हुआ'? 'सरदार, तंबाकू चबाते-चबाते तुम्हारी याद्दाश्त भी चली गई है। जय को तुमने ही ठिकाने लगा दिया था, और वीरू बसंती को लेकर मुंबई चला गया था'। 'जे बात...। जेल में बहुत साल गुजारने के बाद फ्लैशबैक में जाने में दिक्कत हो रही है। खैर, ये बताओ बाकी सब कहाँ हैं'। 'कौन बाकी? तुम और हम बचे हैं। कालिया को जैसे तुमने मारा था, उसके बाद सारे साथी भाग लिए थे। बचे घुचे जय-वीरू ने टपका दिए थे'। 'तो रामगढ़ में हमारी कोई औकात....

Thursday , February 21, 2013

इंडोनेशिया: आधी आबादी का सहारा सोशल मीडिया


0 IBNKhabar

क्या दुनिया के छोटे मुल्कों में सोशल मीडिया के मंच महिलाओं के हाथ में अपने हक की लड़ाई के हथियार साबित हो सकते हैं? दक्षिण एशिया के छोटे से देश इंडोनेशिया में कम से कम इस बात के संकेत मिलने लगे हैं। सोशल मीडिया को लेकर जुनूनी इस मुल्क में महिलाओं ने अपने अधिकारों की लड़ाई के लिए फेसबुक, ट्विटर जैसे मंचों को गले लगा लिया है। इस संदर्भ में दो घटनाएं उल्लेखनीय हैं। पहली, एक लड़की को एसएमएस के जरिए तलाक देने से जुड़ी है। यह मामला पश्चिम जावा प्रांत के गारूत ज़िले के प्रमुख फिकरी से जुड़ा था, जिसने जुलाई में 17 वर्षीय एक लड़की को अपनी दूसरी पत्नी बनाया और शादी के सिर्फ चार दिन बाद एसएमएस के जरिए तलाक दे डाला। वजह बताई कि लड़की कुंआरी नहीं थी। हालांकि, लड़की ने इस बात को गलत करार दिया। फिकरी और उसकी नाबालिग पत्नी की तस्वीर इंटरनेट....

Thursday , February 07, 2013

‘फेसबुकिया साहित्य’को खारिज मत कीजिए


0 IBNKhabar

सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक बीती चार फरवरी को नौ वर्ष की हो गई। इस वर्ष चार फरवरी को ही दिल्ली में विश्व पुस्तक मेला शुरू हुआ। निश्चित ही फेसबुक और विश्व पुस्तक मेले के आयोजन की कोई कड़ी आपस में नहीं जुड़ती। सिवाय इसके कि दोनों का साहित्य के प्रचार-प्रसार में अहम योगदान है। इस संबंध में फेसबुक या यूं कहें कि सोशल मीडिया के अलग-अलग मंचों की भूमिका अधिक उल्लेखनीय है क्योंकि यहां लोग साहित्य रच भी रहे हैं। 'फेसबुकिया साहित्य' नए युग का साहित्य है, जिसकी भाषा, शिल्प, शास्त्र और विषयों को पारंपरिक साहित्य की कसौटी पर नहीं कसा जा सकता। लेकिन, सवाल यह भी है कि क्या इसे साहित्य माना जा सकता है? यह बहस का विषय है, जिस पर आने वाले दिनों में गंभीर चर्चा होगी। इस बाबत गंभीर विमर्श की शुरुआत आगरा में आयोजित पहले ताज साहित्यिक समारोह के आखिरी दिन यानी तीन....

IBN7IBN7
IBN7IBN7

के बारे में कुछ और

IBN7IBN7

IBN7IBN7

पिछली पोस्ट

    आर्काइव्स

    IBN7IBN7