IBN Khabar Logo
सांसद चौधरी अजित सिंह राष्ट्रीय लोकदल के संस्थापक हैं। उनका जन्म 12 फरवरी 1939 में मेरठ के भडोला गांव में हुआ था। वे खुद को जाट नेता कहलवाना भी पसंद करते हैं। लखनऊ में इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने के बाद वे आईआईटी खड़गपुर में पढ़े और इसके बाद अमेरिका के इलिनाइस इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नालॉजी में पढ़ने के बाद सत्रह साल अमेरिका में कॉरपोरेट जगत में काम करते रहे।
1980 में जब पिता चौधरी चरण सिंह बुजुर्ग हो गए तो उन्होंने अजित सिंह को दिल्ली बुलाया और अपना लोकदल उन्हें सौंप दिया। अजित सिंह 1986 में उत्तर प्रदेश से राज्यसभा में पहुंचे। वे 1989 में लोकसभा के लिए चुने गए। 1991 में भी वे लोकसभा के लिए चुने गए। इस दौरान विश्वनाथ प्रताप सिंह सरकार में 11 महीने के लिए वे उद्योग मंत्री भी रह चुके थे। 1998 में अजित सिंह बागपत से ही चुनाव हार गए। उन्हें बीजेपी के नेता सोमपाल शास्त्री ने हराया। इसके बाद अजित सिंह ने राष्ट्रीय लोकदल की स्थापना की और फिर चुनाव लड़ा। इस बार वो जीत गए।
मुलायम की साइकिल छोड़ अनुराधा BJP में गईं
भारतीय जनता पार्टी में दूसरे दलों के नेताओं के आने का सिलसिला जारी है। आज समाजवादी पार्टी की नेता और उत्तर प्रदेश की पूर्व मंत्री अनुराधा चौधरी आज भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गईं।
मायावती-अजीत साथ, मिलकर लड़ेंगे MLC चुनाव
उत्तर प्रदेश में मायावती और अजीत सिंह के हाथ मिलाने की खबर है। सूत्रों के मुताबिक विधान परिषद के चुनाव के लिए मायावती और अजीत सिंह के बीच सहमति बन गई है।
अजीत के बंगले पर ‘बवाल',कई समर्थक अरेस्ट
दिल्ली में सरकारी बंगले को खाली कराने से नाराज अजित सिंह समर्थकों ने आज दिल्ली में महापंचायत बुलाई है। अजित सिंह के समर्थक तुगलक रोड पहुंच गए हैं।
अजीत सिंह का बंगले पर घमासान जायज?
सरकारी बंगले को पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह का स्मारक बनाने की मांग को सरकार ने सिरे से ठुकरा दिया है। इसके बाद अजित सिंह और सरकार आमने-सामने हैं। आईबीएऩ पर आज इसी पर चर्चा हुई। देखें वीडियो।
अजित सिंह का 'बंगला' नहीं बनेगा स्मारक: केंद्र
अजित सिंह का कहना है कि उनके सरकारी बंगले को उनके पिता चरण सिंह का स्मारक बना दे। इस बीच केंद्र सरकार ने साफ कर दिया कि वो सरकारी बंगले को स्मारक नहीं बनाएगी।
अजित ब्लैकमेलिंग की राजनीति कर रहे हैं?
पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के बेटे और राष्ट्रीय लोक दल के मुखिया लोकसभा चुनाव हारने के बावजूद 12 तुगलक रोड का सरकारी बंगला खाली नहीं कर रहे हैं। प्रश्नकाल में सवाल, क्या बंगला बचाने के लिए अजित सिंह ब्लैकमेलिंग की राजनीति कर रहे हैं? देखें वीडियो।
बंगले को लेकर अजीत सिंह समर्थकों का संग्राम
यूपी के गाजियाबाद में अजित सिंह के समर्थकों की पुलिस ने जमकर धुनाई की। दरअसल ये लोग दिल्ली में अजित सिंह का सरकारी मकान खाली कराने से नाराज थे।
अजित सिंह ने बंगला छोड़ा, समर्थकों का हंगामा
लुटियंस जोन स्थित सरकारी बंगले की बिजली पानी काटे जाने के बाद राष्ट्रीय लोकदल के नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री अजित सिंह ने घर तो खाली कर दिया लेकिन उनके समर्थकों का हंगामा जारी है।
बंगला खाली नहीं करा तो अजित का कनेक्शन काटा
अजित सिंह से दिल्ली में सरकारी बंगला खाली कराने की तमाम कोशिशें नकाम होने के बाद घर की बिजली और पानी की सप्लाई एनडीएमसी ने काट दी है।
अजित-मुलायम होंगे साथ, SP-RLD विलय संभव
लोकसभा चुनाव के बाद राष्ट्रीय राजनीति में अपने अस्तित्व के लिए लड़ रहीं और यूपी में अपनी जमीन बचाने में जुटीं समाजवादी पार्टी और राष्ट्रीय लोकदल एक-दूसरे से हाथ मिला सकते हैं।
अपने गढ़ बागपत में ही हारे अजित सिंह
राष्ट्रीय लोक दल के अध्यक्ष अजित सिंह अपना गढ़ बचाने में कामयाब नहीं हुए। बागपत संसदीय सीट पर भाजपा प्रत्याशी सत्यपाल सिंह जैसे नए खिलाड़ी ने उन्हें मात दे दी है।
अपने गढ़ बागपत में ही हारे अजित सिंह
राष्ट्रीय लोक दल के अध्यक्ष अजित सिंह अपना गढ़ बचाने में कामयाब नहीं हुए। बागपत संसदीय सीट पर भाजपा प्रत्याशी सत्यपाल सिंह जैसे नए खिलाड़ी ने उन्हें मात दे दी है।
मोदी पीएम बने तो गांव-गांव में दंगे: अजित
मथुरा में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की मौजूदगी के दौरान राष्ट्रीय लोकदल के नेता अजित सिंह ने बीजेपी के पीएम उम्मीदवार नरेंद्र मोदी पर जमकर हमला बोला।
मोदी पीएम बने तो गांव-गांव में दंगे: अजित
मथुरा में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की मौजूदगी के दौरान राष्ट्रीय लोकदल के नेता अजित सिंह ने बीजेपी के पीएम उम्मीदवार नरेंद्र मोदी पर जमकर हमला बोला।
नीतीश के मंच से शकुनि बोले, मोदी को गाड़ देंगे
बिहार के भागलपुर में नीतीश कुमार के सामने मंच पर खड़े शकुनी चौधरी जोश में जनता से वादा करते हैं कि अगर उनका साथ मिला तो वो मोदी को भागलपुर में ही गाड़ देंगे।
नीतीश के मंच से शकुनि बोले, मोदी को गाड़ देंगे
बिहार के भागलपुर में नीतीश कुमार के सामने मंच पर खड़े शकुनी चौधरी जोश में जनता से वादा करते हैं कि अगर उनका साथ मिला तो वो मोदी को भागलपुर में ही गाड़ देंगे।
  • अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश के सबसे कम उम्र के मुख्यमंत्री बने
  • राष्ट्रीय पार्टियों ने 123 महिलाओं को टिकट दिया
  • राज्य स्तर की पार्टियों ने 447 और पंजीकृत दलों के 3354 के अलावा 1687 निर्दलीय प्रत्याशी मैदान में हैं
  • राष्ट्रीय पार्टियों ने इन चुनावों में 1351 उम्मीदवार मैदान में उतारे
  • 403 विधानसभा सीटों के लिए इस बार 6838 प्रत्याशी मैदान में उतरे जबकि पिछले चुनाव में 6086 उम्मीदवार चुनाव मैदान में थे।
  • जौनपुर में परिसीमन के बाद जफराबाद, बदलापुर-मुंगराबाद, शाहपुर और मल्हनी नई सीट बनी हैं
  • जौनपुर में पिछली 11 फरवरी को हुए मतदान में परिसीमन के बाद सामने आई चार सीटों पर पहली बार कोई विधायक बनेगा
  • 2012 विधानसभा चुनाव में 1780 निर्दलीय उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं

आपका शहर