03 सितम्बर 2014

न्यूजलैटर सब्सक्राइब करें

CLOSE

Sign Up


पूर्व प्रधानमंत्री इंद्र कुमार गुजराल नहीं रहे

Updated Nov 30, 2012 at 15:53 pm IST |

 

30 अक्‍टूबर 2012
आईबीएन 7

facebook पर hindi.in.com पेज को LIKE किया क्या?

गुडगांव। पूर्व प्रधानमंत्री इंद्र कुमार गुजराल का निधन हो गया है। गुजराल पिछले लंबे अरसे से बीमार चल रहे थे। गुजराल का इलाज गुड़गांव के मेदांता मेडिसिटी अस्पताल में चल रहा था। 93 साल के गुजराल को फेंफड़े में इन्फेक्शन की शिकायत की वजह से 19 नवंबर को अस्पताल में भर्ती कराया गया था और इसके बाद से उन्हें वेंटिलेटर के सहारे रखा गया था।

वह जीवन रक्षक प्रणाली पर थे। उनकी हालत मंगलवार को और भी बिगड़ गई थी। पूर्व प्रधानमंत्री के डॉक्टरों के मुताबिक उन्हें मूत्र सम्बंधी समस्या भी उत्पन्न हो गई थी।

गुजराल देश के 12वें प्रधानमंत्री थे। वो अप्रैल 1997 से मार्च 1998 तक देश के प्रधानमंत्री के तौर पर रहे। इससे पहले 1996 में देवगौड़ा सरकार और 1989 में वी पी सिंह सरकार में विदेश मंत्री रहे। उन्होंने पड़ोसी देशों के साथ संबंध सुधारने के लिए गुजराल सिद्धांत दिया था। राजनीति में आने से पहले गुजराल IFS भी रहे।

पूर्व प्रधानमंत्री इंद्र कुमार गुजराल को यहां श्रद्धांजलि दें।

19 साल बाद पता चला कि उसकी पत्नी एक पुरुष है!

13 साल की थीं अनीता, जब चूमा था ‘काका’ ने?

 

यह खबर आपको कैसी लगी

10 में से 4 वोट मिले

पाठकों की राय | 30 Nov 2012

Dec 02, 2012

आज गुजराल साहेब हमारे बीच नही रहें लेकिन उनकी यादें हमेशा तागी रहेगी / जब मैने उनसे गया के लायंस क्लब बोघ गया मे उनको सादर आमंत्रित किया था जब उनके साथ रूस का एक प्रतिनिधि मंडल भी था और उन्होने रूस की जीवन शैली से हम लायंस को बतलाया था / वो प्रतिभा के धनी ब्यक्ति थे और उन्होने अपने जीवन काल मे अपने पद की गरिमा को बढ़ाया / आज उनसे और उनके बिचारों का देश को बहुत ज़रूरत थी लेकिन होनी को कौन टाल सकता है / भगवान उनके आत्मा को शांति दे / उनको देश हमेशा याद करेगा / उन्होने प्रधान मंत्री का भी पद गरिमा के साथ निभाया / आपके पास . भी मंत्रालय रहा वा इतिहास के पन्नों मे स्वर्ण अछर मे लिखा जाएगा

A.K.Bhadani Gaya

Dec 01, 2012

गुज़राल साहबएक अनुभवीऔर सुलझे हुए नेता मैं उनको श्रधजंलि देता हुए उनकी आत्मा के शांति की कामना करता भगवान उनकी आत्मा को शांति दे.

s.s.gaharwar buldhana.

Nov 30, 2012

आज गुजराल साहेब हमारे बीच नही रहें / जिस वक्त वो प्रधान मंत्री नही बने थे उस समय वे एक रूसी डेलिगेट्स को लेकर गया आए थे और बोध गया लियंस क्लब की ओर से हमलोगों ने उनका स्वागत किया था और गुजराल साहेब के बिचार से अभ्गत हुआ था / वी एक महान ब्यक्ति थे और अपना प्रभाब छोड़ देते थे / बहुत ही शालीन बिचार के और मिलनसार ब्यक्ति थे / भगवान उनके आत्मा को शांति दे / आज भी उनकी याद ताज़ा है नही लगता की आज वो हमारे बीच नही है / उबका नाम हमेशा अमर रहे यही हमारी शुभ कामना है

A.K.Bhadani Gaya


कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का इस्तेमाल न करें। अभद्र शब्दों का इस्तेमाल आपको इस साइट पर राय देने से प्रतिबंधित किए जाने का कारण बन सकता है। सभी टिप्पणियां समुचित जांच के बाद प्रकशित की जाएंगी।
नाम
शहर
इमेल

आज के वीडियो

प्रमुख ख़बरें

Live TV  |  Stock Market India  |  IBNLive News  |  Cricket News  |  In.com  |  Latest Movie Songs  |  Latest Videos  |  Play Online Games  |  Rss Feed  |  हमारे बारे में  |  हमारा पता  |  हमें बताइए  |  विज्ञापन  |  अस्वीकरण  |  गोपनीयता  |  शर्तें  |  साइट जानकारी
© 2011, Web18 Software Services Ltd. All Rights Reserved.