01 नवम्बर 2014

न्यूजलैटर सब्सक्राइब करें

CLOSE

Sign Up


NCP मंत्री के बेटे की शादी, 80 हजार मेहमान, 5 हैलीपेड!

Updated Feb 16, 2013 at 12:19 pm IST |

 

16 फरवरी 2013
आईबीएन 7

facebook पर hindi.in.com पेज को LIKE किया क्या?

मुंबई। महाराष्ट्र के कई इलाकों में सूखा पड़ा है। एक तरफ लोग बूंद-बूंद पानी को तरस रहे हैं। तो वहीं मंत्री के बच्चों की शादी में पानी की तरह पैसा बहाया जा रहा है। बुधवार को नगर विकास राज्य मंत्री और एनसीपी नेता भाष्‍कर जाधव के बच्चों की शाही अंदाज में शादी हुई। सजावट और खाने के इंतजाम पर लाखों रुपये फूंके गए और सबसे शर्मनाक बात ये रही कि ये सारा तामझाम एक ठेकेदार के पैसों से किया गया। दरअसल, बुधवार को महाराष्ट्र के चितलून में शाहीनुमा पंडाल में महाराष्ट्र के नगर विकास मंत्री भाष्कर जाधव के बेटे और बेटी ने सात फेरे लिए। मौका दो-दो शादियों का था लिहाजा मंत्रीजी ने खर्च भी दोनों हाथों से किए। अपनी दौलत और अपनी रसूख की खुलकर नुमाइश की। सजावट से लेकर खाने-पीने पर अंधाधुंध पैसे फूंके गए। शादी मंत्री के बेटे-बेटी की थी लिहाजा भीड़ भी खूब जुटी। खुद मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चौहान मुंबई से पधारे तो उपमुख्यमंत्री अजीत पवार भी आए।

मेहमानों के लिए 5 हैलीपेड बनाए गए

बताया जाता है कि शादी में करीब 80 हजार लोगों ने शिरकत की। शादी के लिए पांच हैलिपेड बनाए गए थे तो करीब एक लाख लोगों के लिए खाने का इंतजाम किया गया था। वहीं आधा महाराष्ट्र सूखे की चपेट में है। लोग बूंद-बूंद पानी को तरस रहे हैं। खेत दरक रहे हैं, मवेशी तिल-तिलककर मर रहे हैं। हर तरफ हाहाकार मचा है। लेकिन सूखे से जल रहे इस महाराष्ट्र से शायद मंत्री महोदय को कोई सरोकार नहीं। होता तो माननीय मंत्री बच्चों की शादी पर यूं बेतहाशा खर्च नहीं करते। खैर, नगर विकास मंत्री के बच्चों की ये शाही शादी एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार को बुरी तरह नागवार गुजरी। पवार ने पार्टी कोटे से मंत्री भाष्कर जाधव को तलब किया और जमकर फटकार लगाई। एक तरफ पानी के अभाव में दम तोड़ते लोग और दूसरी तरफ बच्चों की शादी पर पानी की तरह पैसा बहाते मंत्री। लेकिन इस मामले में नगर विकास मंत्री एक और वजह से सवालों के घेरे में है।

ठेकेदार के पैसे से किया पूरा इंतजाम

मंत्री के बच्चों की शादी का सारा इंतजाम एक ठेकेदार ने किया। ठेकेदार के पास महाराष्ट्र की कोयना परियोजना में कंस्ट्रक्शन का काम है। लेकिन मंत्री भाष्कर जाधव को इसमें कुछ भी गलत नहीं लगता। साफ है भाष्कर जाधव खुद मान रहे हैं कि मदद की एवज में ठेकेदार ने शादी का सारा इंतजाम किया। अब सवाल ये है कि क्या शरद पवार अपने इस असंवेदनशील मंत्री पर कोई कार्रवाई करेंगे या सिर्फ फटकार की रस्म अदायगी कर इन्हें यूं ही छोड़ दिया जाएगा।

 

यह खबर आपको कैसी लगी

10 में से 3 वोट मिले

पाठकों की राय | 16 Feb 2013

Feb 22, 2013

पँवार साहेब के खाने के दाँत और हे और दिखाने के और/ एन सी. पी ने जब 80000 लोगो को खाने के लिए बुलाया तो दुनिया को दिखाने के लिए पँवार साहेब ने उनको डाटने का नाटक किया / पँवार साहेब क्या आपके मंत्री ने एक ही रात मे सारी व्यवस्था के जो आपको मालूम नही चला / हिन्दुस्तान की जनता बहुत ही बेवकूप (भोली) हे जो इन जैसे दोगलें नेताओ की बतो मे आकर उनको वोट दे देती / इस देश का कुछ नही हो सकता क्योकि इन चन्द गद्धार नेताओ के कारण इस देश मे महँगाई, ग़रीबी, लाचारी, आदि समस्याए ख़त्म होने की जगह बढ़ती ही जा रही हे / जागो देश बाशियो वरना अपनी आने वाली पिडी अपनी जिंदगी चैन से नही जी पाएगी जिसके लिए कही ना कही हम ही ज़िम्मेदार हे/

Sanjay Singh ahmedabad

Feb 18, 2013

इस देश मे कोई भी ऐसा नेता नही है जो जनता के बारे मे सोचता है...देश नेता नही भगवान चला रहे है.

amit tiwari jabalpur

Feb 18, 2013

उसको लगे शरम जिसके फूटे करममंत्री जी को क्यों लगे शरम क्यों की मंत्रालया का पैसे है जो गरमागरममंत्री जी ने बेचा है अपना ईमान और मंत्रलाय का पैसा उसके बदले अगर उस कटरक्टोर ने मंत्री जी के यहाँ शादी और जनाज़े मे कुछ इंतज़ाम कर दिया तो हरजा क्या है .लगे रहो मंत्री जी और मदद कर देना किसी बड़े कॉंट्रॅक्टर की .क्यों की शादी मे 80000 गेस्ट तो मातम मे .........हीदुस्तान तुझे सलाम

ajeet pandit gurgaon

Feb 17, 2013

शर्म किसे आएगी? शर्म बेचकर ही तो मंत्री बना जाता है जिन्हे शर्म है ओर जो देश के बारे मे सोचते हैं वो तो भूखे मरने वालों मे ही शामिल हैं. ये तो उस प्रजाति से हैं जो सदियों से लोगों का खून चूस कर जश्न मनाती आई है.इन्से शर्म-लिहाज की उम्मीद रखना बेमानी है.

Rohtash kumar gurgaon

Feb 16, 2013

इस साले से यह पूछो की मदद के बदले उस का क्या काम किया 80 हज़ार आदमी का खाना मदद लाइन वाले की तो लग गये होगी

mukesh beniwal delhi


कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का इस्तेमाल न करें। अभद्र शब्दों का इस्तेमाल आपको इस साइट पर राय देने से प्रतिबंधित किए जाने का कारण बन सकता है। सभी टिप्पणियां समुचित जांच के बाद प्रकशित की जाएंगी।
नाम
शहर
इमेल

आज के वीडियो

प्रमुख ख़बरें

Live TV  |  Stock Market India  |  IBNLive News  |  Cricket News  |  In.com  |  Latest Movie Songs  |  Latest Videos  |  Play Online Games  |  Rss Feed  |  हमारे बारे में  |  हमारा पता  |  हमें बताइए  |  विज्ञापन  |  अस्वीकरण  |  गोपनीयता  |  शर्तें  |  साइट जानकारी
© 2011, Web18 Software Services Ltd. All Rights Reserved.