01 अगस्त 2014

न्यूजलैटर सब्सक्राइब करें

CLOSE

Sign Up


वीरू, सचिन के रिकॉर्ड के दम पर सीरीज बराबर करेगा भारत

Updated Dec 11, 2012 at 16:37 pm IST |

 

11 दिसंबर 2012
वार्ता

facebook पर hindi.in.com पेज को LIKE किया क्या?

नागपुर।
नागपुर के विदर्भ क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम में ओपनर वीरेन्द्र सहवाग और मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के शानदार रिकॉर्ड को देखते हुए भारत इस मैदान पर गुरुवार से होने वाले चौथे और अंतिम टेस्ट में इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज में बराबरी की उम्मीद कर सकता है।

भारत मुंबई और कोलकाता में लगातार पराजय झेलने के बाद सीरीज में 1-2 से पिछड़ा हुआ है। इंग्लैंड को भारतीय जमीन पर 27 वर्षों के लंबे अंतराल के बाद टेस्ट सीरीज जीतने से रोकने के लिए कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी और उनके साथियों को हर हाल में नागपुर टेस्ट जीतना होगा।

नागपुर में अब तक खेले गए तीनों टेस्टों में परिणाम निकला है जिनमें से दो भारत ने जीते है और एक दक्षिण अफ्रीका के हिस्से में गया है। सहवाग का इस मैदान पर जबर्दस्त रिकॉर्ड है। उन्होंने यहां तीन टेस्टों में 71.40 के बेहद प्रभावशाली औसत से सर्वाधिक 357 रन बनाए हैं जिनमें एक शतक और तीन अर्धशतक शामिल हैं।

सचिन ने इस मैदान में तीन मैचों में दो शतकों और एक अर्धशतक की मदद से 289 रन बनाए हैं। यहां उनका औसत 57.80 है। टीम इंडिया को उम्मीद रहेगी कि नागपुर में उसके ये दोनों सबसे अनुभवी बल्लेबाज चल निकलें जिससे भारत बराबरी हासिल कर सके।

भारत ने नवंबर 2008 में ऑस्ट्रेलिया को 172 रन से और नवंबर 2010 में न्यूजीलैंड को एक पारी और 198 रन से हराया था। भारत फरवरी 2010 में दक्षिण अफ्रीका से पारी और छह रन से हारा था। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मुकाबले में सचिन ने पहली पारी में शानदार 109 रन बनाए थे जबकि सहवाग ने दोनों पारियों ने 66 और 92 रन बनाए थे।

न्यूजीलैंड के खिलाफ मैच में सहवाग ने 74 और सचिन ने 61 रन की पारियां खेली थीं जबकि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैच में सहवाग ने पहली पारी में 109 रन और सचिन ने दूसरी पारी में 100 रन बनाए थे। कप्तान धोनी भी इस मैदान में तीन मैचों में तीन अर्धशतकों की मदद से 240 रन बना चुके हैं। गंभीर ने यहां दो मैचों में 91 रन बनाए हैं।

गेंदबाजी में भारत ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन से अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद कर सकता है क्योंकि इस मैदान पर सर्वाधिक विकेट लेने वाले दो गेंदबाज ऑफ स्पिनर हैं। टीम इंडिया से बाहर किए जा चुके हरभजन सिंह ने यहां तीन मैचों में 13 विकेट लिए हैं जबकि ऑस्ट्रेलिया के जैसन क्रेजा ने एक मैच में 12 विकेट चटकाए हैं।

तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा यहां 11 विकेट ले चुके हैं जबकि बाएं हाथ के स्पिनर प्रज्ञान ओझा ने एक मैच में पांच विकेट लिए हैं। भारत उम्मीद कर सकता है कि अश्विन और ओझा की जोड़ी यहां अहमदाबाद जैसा कमाल करके दिखाए। हालांकि इंग्लैंड के आफ स्पिनर ग्रीम स्वान और बाएं हाथ के स्पिनर मोंटी पनेसर की खतरनाक जोड़ी भी यहां की परिस्थितियों का फायदा उठा सकती है।

तिवारी टी20 से बाहर, रायुडू को मौका

 

यह खबर आपको कैसी लगी

10 में से 5 वोट मिले

पाठकों की राय | 11 Dec 2012


कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का इस्तेमाल न करें। अभद्र शब्दों का इस्तेमाल आपको इस साइट पर राय देने से प्रतिबंधित किए जाने का कारण बन सकता है। सभी टिप्पणियां समुचित जांच के बाद प्रकशित की जाएंगी।
नाम
शहर
इमेल

आज के वीडियो

प्रमुख ख़बरें

Live TV  |  Stock Market India  |  IBNLive News  |  Cricket News  |  In.com  |  Latest Movie Songs  |  Latest Videos  |  Play Online Games  |  Rss Feed  |  हमारे बारे में  |  हमारा पता  |  हमें बताइए  |  विज्ञापन  |  अस्वीकरण  |  गोपनीयता  |  शर्तें  |  साइट जानकारी
© 2011, Web18 Software Services Ltd. All Rights Reserved.