22 अक्टूबर 2014

न्यूजलैटर सब्सक्राइब करें

CLOSE

Sign Up


बेहतर IIP के बाद भी बाजार गिरावट के साथ बंद हुए

Updated Dec 12, 2012 at 16:21 pm IST |

 

12 दिसम्बर 2012
सीएनबीसी आवाज़


बेहतर आईआईपी आंकड़े और रिटेल महंगाई न घटने की वजह से आरबीआई द्वारा दरें घटाने की संभावना कम हो गई है। इसी वजह से बाजार में निराशा नजर आई।

सेंसेक्स 32 अंक गिरकर 19,355 और निफ्टी 11 अंक गिरकर 5,888 पर बंद हुए। दिग्गजों के मुकाबले छोटे और मझौले शेयरों में ज्यादा खरीदारी नजर आई। निफ्टी मिडकैप और बीएसई स्मॉलकैप 0.3 फीसदी मजबूत हुए।

सबसे ज्यादा गिरावट कैपिटल गुड्स शेयरों में आई। बीएसई कैपिटल गुड्स इंडेक्स 1 फीसदी टूटा। पीएसयू, मेटल, पावर, बैंक शेयरों में 0.8-0.3 फीसदी की कमजोरी दिखी। एफएमसीजी और रियल्टी शेयर भी फिसले।

कंज्यूमर ड्यूरेबल्स और ऑटो शेयरों में 1 फीसदी की तेजी आई। आईटी, तकनीकी, ऑयल एंड गैस और हेल्थकेयर शेयर 0.4-0.2 फीसदी मजबूत हुए।

बाजार की चाल

मजबूत अंतर्राष्ट्रीय संकेतों के बावजूद बाजारों ने तेजी के साथ खुले। निफ्टी 5900 के ऊपर खुला। सेंसेक्स में भी करीब 70 अंक की तेजी आई। लेकिन, आईआईपी आंकड़ों के पहले बाजार असमंजस में नजर आए और मजबूती गंवा बैठे।

अक्टूबर में आईआईपी अनुमान से ज्यादा ज्यादा रहने से बाजार में जोश लौटा। सेंसेक्स करीब 100 अंक उछला। निफ्टी भी दिन के ऊपरी स्तर पर पहुंचा। मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में भी करीब 0.5 फीसदी की तेजी आई।

अक्टूबर में आईआईपी 8.2 फीसदी रही है। जबकि सितंबर में औद्योगिक उत्पादन की रफ्तार -0.7 फीसदी रही थी। पिछले साल अक्टूबर में आईआईपी -5 फीसदी रही थी।

लेकिन, नवंबर में रिटेल महंगाई दर 10 फीसदी के करीब पहुंने से बाजार में निराशा छाई। सेंसेक्स-निफ्टी लाल निशान में फिसले। मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों ने भी मजबूती गंवाई है।

बैंकिंग बिल पर सरकार और बीजेपी में सहमति बनने की उम्मीद से बाजार संभले। लेकिन, बाजार की तेजी ज्यादा देर तक टिक नहीं पाई। यूरोपीय बाजारों से भी साफ संकेत न मिलने से घरेलू बाजार लाल निशान में फिसले।

निफ्टी 5875 के स्तर तक गिरा। सेंसेक्स ने 70 अंक गंवाए। कारोबार खत्म होने तक बाजार संभल नहीं पाए। हालांकि, मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में खरीदारी नजर आई।

क्या चढ़ा, क्या गिरा

ओएनजीसी, एचयूएल, एचडीएफसी, एलएंडटी, बीएचईएल, आईसीआईसीआई बैंक, एसबीआई जैसे दिग्गजों में भारी गिरावट ने बाजार पर दबाव बनाया।

वहीं रिलायंस इंडस्ट्रीज, आईटीसी, बजाज ऑटो, एमएंडएम, टीसीएस, इंफोसिस में आई तेजी से बाजार को सहारा मिला।

एडीएजी शेयरों में अच्छी खरीदारी नजर आई। रिलायंस कैपिटल, रिलायंस कम्यूनिकेशंस और रिलायंस इंफ्रा करीब 4-1.5 फीसदी चढ़े।

महिंद्रा एंड महिंद्रा जनवरी से गाड़ियों के दाम में 1 फीसदी से ज्यादा की बढ़ोतरी करेगी। महिंद्रा एंड महिंद्रा के शेयर 2 फीसदी से ज्यादा मजबूत हुआ।

वित्त वर्ष 2013 में आईटीसी की पेपरबोर्ड बनाने की क्षमता बढ़ाने की योजना है। आईटीसी में करीब 1 फीसदी की तेजी आई।

ब्रिटिश टेलिकॉम द्वारा 9.1 फीसदी हिस्सा बेचे जाने के बाद टेक महिंद्रा के शेयर करीब 4 फीसदी चढ़े। महिंद्रा सत्यम 6.5 फीसदी उछला।

किंगफिशर एयरलाइंस की हिस्सा बेचने के लिए एतिहाद समेत दूसरे निवेशकों से बातचीत चल रही है। किंगफिशर एयरलाइंस में 5 फीसदी उछला। यूबी होल्डिंग्स भी 1 फीसदी मजबूत हुआ।

वहीं, हिस्सा बेचने पर इसी हफ्ते एतिहाद के साथ बातचीत होने की खबर से जेट एयरवेज 4.5 फीसदी चढ़ा। स्पाइसजेट में भी 3 फीसदी की तेजी आई।

सूत्रों के मुताबिक ज्वाइंट वेंचर के लिए केईसी इंटरनेशनल की 8-9 कंपनियों से बातचीत चल रही है। केईसी इंटरनेशनल के शेयर 0.5 फीसदी चढ़े।

डीएलएफ की प्रोमोटर पिया सिंह ने 232 करोड़ रुपये में 1 करोड़ शेयर बेचे। डीएलएफ के शेयरों में 0.5 फीसदी गिरावट आई।

सरकार ऑफर फॉर सेल के जरिए एनएमडीसी का 10 फीसदी हिस्सा बेच रही है। शेयरों का फ्लोर प्राइस 147 रुपये रखा गया है। एनएमडीसी करीब 3 फीसदी टूटा।

वित्त मंत्रालय का कहना है कि मार्च या अप्रैल में नेवेली लिग्नाइट में सरकार अपनी 5 फीसदी हिस्सेदारी बेचेगी। नेवेली लिग्नाइट में करीब 0.5 फीसदी की कमजोरी आई।

सिटी यूनियन बैंक का राइट्स इश्यू 17 दिसंबर को खुलकर 24 दिसंबर को बंद होगा। सिटी यूनियन बैंक ने राइट्स इश्यू के लिए 20 रुपये प्रति शेयर का भाव तय किया है। सिटी यूनियन बैंक के शेयरों में 1.5 फीसदी की गिरावट आई।

अंतर्राष्ट्रीय संकेत

एशियाई बाजारों में मजबूती का रुझान रहा। ताइवान इंडेक्स 1 फीसदी चढ़ा। हैंग सैंग, स्ट्रेट टाइम्स, निक्केई, कॉस्पी, शंघाई कंपोजिट 0.8-0.4 फीसदी मजबूत हुए।

अमेरिकी फेडरल रिजर्व की बैठक के पहले यूरोपीय बाजारों में उतार-चढ़ाव नजर आ रहा है। डीएएक्स और एफटीएसई में 0.3 फीसदी की तेजी है। वहीं, सीएसी लाल निशान में कारोबार कर रहा है।

अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये में सुस्त कारोबार नजर आ रहा है। फिलहाल रुपया 54.2 के स्तर पर कारोबार कर रहा है।

 

यह खबर आपको कैसी लगी

10 में से 3 वोट मिले

पाठकों की राय | 12 Dec 2012


कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का इस्तेमाल न करें। अभद्र शब्दों का इस्तेमाल आपको इस साइट पर राय देने से प्रतिबंधित किए जाने का कारण बन सकता है। सभी टिप्पणियां समुचित जांच के बाद प्रकशित की जाएंगी।
नाम
शहर
इमेल

आज के वीडियो

प्रमुख ख़बरें

Live TV  |  Stock Market India  |  IBNLive News  |  Cricket News  |  In.com  |  Latest Movie Songs  |  Latest Videos  |  Play Online Games  |  Rss Feed  |  हमारे बारे में  |  हमारा पता  |  हमें बताइए  |  विज्ञापन  |  अस्वीकरण  |  गोपनीयता  |  शर्तें  |  साइट जानकारी
© 2011, Web18 Software Services Ltd. All Rights Reserved.