23 अक्टूबर 2014

न्यूजलैटर सब्सक्राइब करें

CLOSE

Sign Up


एडिट पेज: सचिन तेंदुलकर के नाम पहली चिट्ठी

Updated Apr 27, 2012 at 14:24 pm IST |

 

सिरी सचीन तेंदुलकरजी,

नमसकार, अभी समाचार मिले कि आप भी संसद में जाएंगे। जैसे हमारे इलाके के भईयाजी है। भईयाजी बड़े आदमी है। उनकी हवेली है। उनके लोगों के पास बंदूक भी है। भईयाजी जब गांव-देहात में जाते है तो खूब बड़ी-बड़ी गाड़ी में जाते हैं। उनकी बहुत जमीन है। लेकिन उनका लरइका बहुत बदमास है। गांव की लड़कियों को छेड़ता है। दरोगाजी भी उसको कुछ नहीं कहते। सुना है हवलदारजी तो उनके लिए बीयर लेकर आते हैं। वो दिन भर किसना के खेत-खलिहान में मटरगसती करते रहता है।

हम सोच रहे हैं कि आप तो ऐसे नहीं है। फिर संसद में जाकर आपकी कैसे बनेगी। आपकी तो भईयाजी जैसी मूंछें भी नहीं है। आप तो खद्दर भी नहीं पहते। आप तो बंदूक लेकर भी नहीं चलते।

हम सबको तो आप नीली पतलून-शरट में ही अच्छे लगते हैं। मुन्नी की मां को भी। गोलू तो आप जब चोका-छक्का मारते है तो खूब सोर करता है। इसलिए कभी-कभी मार भी खाता है। हम सब आपको बहुत चाहते है। आपका खेल देखते है। आप बहुत अच्छा खेलते है। फिर आप राजनीति के गंदे खेल खेलने क्यों जा रहे हैं। वहां के मैच में ये मालूम ही नहीं होता है कि कौन आपकी टीम में है और कौन अपोजिशन की टीम में। कभी-कभी तो अपोजिशन की टीम वाला अपना होता है और कभी –कभी अपनी टीम वाला चुपचाप अपोजिशन का खाना खाता है उनके लिए काम करता है। ऐसे में आप कैसे राजनीति में शतक बना पाएंगे। आपकों तो आपका ही साथी हिट विकेट करवा देगा।

सरजी, आप तो क्रिकेट ही खेलो। कहते है राजनीति का खेल बहुत गंदा होता है। बहुत जोड़-तोड़ करनी पड़ती है। आप कैसे कर पाएंगे। आप तो रिकार्ड तोड़ना और रिकार्ड अपने खाते में जोड़ना ही जानते हैं।

सरजी, हम सब क्रिकेट फेन की गुजारिस है। आप तो क्रिकेट खेलों। खूब खेलों। ऐसे रिकार्ड बनाओं कि कोई पाकिस्तान या ऑस्ट्रेलिया का लाल ना तोड़ पाए।
अभी तो आप जवान है, ये राजनीति-वाजनीति तो बुढ़ापे में कर लेना सरजी।

पप्पू की चाय दुकान पर बात हो रही थी। लोग कह रहे थे कि सरकार बहुत चतरी है। महंगाई बहुत बढ़ गई है ना। भिन्डी सत्तर-अस्सी रुपया किलो हो गई है। दाल भी अब सौ रुपया मांगती है। खाने का तेल तो पूछो ही मत। हम तो भजिया खाना ही छोड़ दिए। लेकिन मंत्रीजी टीबी में कह रहे थे कि महंगाई कम हुई है। कहां कम हुई है। लोग-बाग बहुत गुस्सा है। शायद इसीलिए हम सबका ध्यान महंगाई से हटाने के लिए आपको यूज तो नहीं कर रहें। बाद में २०१४ में आकर कहेंगे, महंगाई बड़ी है तो क्या, हमने आपके तेंदुलकर को संसद में बुलाया ना। अब वोट दो। और सरजी, हमको देना पड़ेगा। हमको क्या पप्पू, झुनिया, पंडित काका, रामचूरन, पाटील बुआ, अन्ना सबको देना होगा। क्योंकि हम सब आपके फैन है। अब आप ही बताएं महंगाई को लेकर रोएं या आपके संसद में जाने पर हंसे।

चिठ्ठी का जवाब के इंतजार में,

आपका रामचरन।

गांव: क्रिकेटपुर

मुकाम पोस्ट, स्टेडियमगंज,

जिला बल्ला, पिच प्रदेश

इंडिया

 

यह खबर आपको कैसी लगी

10 में से 6 वोट मिले

पाठकों की राय | 27 Apr 2012

Jul 18, 2012

इसे क ह ते हे बात ब हुत ब ढी यालगे रहो ...................

Vijay Baride Nasik, Maharashtra, India

Jun 11, 2012

kya sir ji aap brasta char mitayge ya aap bhi unhi logo ki trah brasta char brayge hamko samjh nhi aata he ki aap en logo ki ktar me kyo khara hona kyo pasand karte he aap ko sara desh mhaan cricket ke roop me dekhna cahta he aap to kafi samajdar hi feer enke jaal saji me kayse aa gye yaa aap ko cricket me patse ki kame ho rhi he agar aap ko paysa he se pyar hi to aap apne desh ke yoova logo ko bta de ham sab canda mang kar aap ko dedeti sir aap bhot bari bhool kar deya esse ham logo ko kafi douk hova sir ji aap ki jvab ka intjar rhi ga ya ham loog mankar cale ki hmare desh me ek bhrasta careyo ki sankhya me ejafa ho gya he

parvez ahmad delhi

Jun 04, 2012

मैं यहां अपने खेल की बदौलत पहुंचा हूं। मैं इस खेल पर से फिलहाल ध्यान नहीं हटा सकता। (कॉमेंट: तो संसद क्यों आए, यह मनोरंजन का स्थान है? जब मन करेगा तब आओगे,   ) जब भी समय मिलेगा मैं राज्य सभा के सदस्य के तौर पर अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करूंगा। (कॉमेंट: संसद ना हुआ क्लब हुआ जिसका आप को पास मिला है, जब मन करेगा तब ही आओगे, सचिन जी खेल से बड़ा है संसद, संसद का सम्मान करना सीखें

Pankaj Patna

May 12, 2012

सचिन जी एक महान क्रिकेटर हैं ये पूरी दुनिया जानती है सचिन जी अगर राज्यसभा मे जाते है तो इसमे कोई हैरानी नही होनी चाहिए क्योकि सचिन ने क्रिकेट के मैदान मे वो सारे चमत्कार कर दिखाए है जिसकी बहुत सारे लोगो को उम्मीद भी नही थी,क्रिकेट मे सचिन जी के  लिए कुच्छ बाकी नही है जो उन्हे पूरा करना है,सचिन जी को राज्यसभा मे  उस उम्मीद के साथ जाना चाहिए की जैसा उन्होने क्रिकेट मे चमत्कार करके पूरी दुनिया का दिल जीत लिया वैसा ही कुछ संसद मे करे की पूरा देश उन पर गर्व महसूस करे और उन्हे ढेर सारा सम्मान मिले,

Ram Maurya Mumbai

May 08, 2012

Good story.....i like this....

vinod Bangalore

Apr 27, 2012

sachin, commo..its not for u..wanna c u play more..plzzzzz

anchal bandra, mumbai

Apr 27, 2012

kool.its nice to have such piece.sachin should not enter into politics. man, go for bat, not those fats.chiiiisss

priya noida

Apr 27, 2012

मजा आ गया। बहुत बढ़िया है। और लिखे।
सचिन, जैसलमेर

सचिन जैसलमेर

Apr 27, 2012

my hindi is not that good, but i like it..good one..a new style of writing. at last you mediamen try to voice common man..thats good..
s v p reddy, hyderabad.

s v p reddy hyderabda


कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का इस्तेमाल न करें। अभद्र शब्दों का इस्तेमाल आपको इस साइट पर राय देने से प्रतिबंधित किए जाने का कारण बन सकता है। सभी टिप्पणियां समुचित जांच के बाद प्रकशित की जाएंगी।
नाम
शहर
इमेल

आज के वीडियो

प्रमुख ख़बरें

Live TV  |  Stock Market India  |  IBNLive News  |  Cricket News  |  In.com  |  Latest Movie Songs  |  Latest Videos  |  Play Online Games  |  Rss Feed  |  हमारे बारे में  |  हमारा पता  |  हमें बताइए  |  विज्ञापन  |  अस्वीकरण  |  गोपनीयता  |  शर्तें  |  साइट जानकारी
© 2011, Web18 Software Services Ltd. All Rights Reserved.