26 नवम्बर 2014

न्यूजलैटर सब्सक्राइब करें

CLOSE

Sign Up


सावधान, वैज्ञानिक बोले 10 साल में हम सब डूब जाएगे

Updated Aug 14, 2012 at 13:22 pm IST |

 

14 अगस्‍त 2012
इंडो एशियन न्‍यूज सर्विस

लंदन।
वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी है कि आर्कटिक सागर की बर्फ 10 वर्षो से कम समय में पिघल सकती है, क्योंकि यह ग्लोबल वार्मिंग के कारण पूर्वानुमान से कहीं ज्यादा तेजी से पिघल रही है। वैज्ञानिकों ने पिघलने की इस प्रक्रिया को मौजूदा अनुमानों से 50 प्रतिशत तीव्र बताया है।

यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी द्वारा संचालित नए उपग्रहों ने खतरनाक तस्वीर पेश की हैं, जिससे पता चला है कि पिछले साल के दौरान 900 घन किलोमीटर बर्फ पिघल चुकी है।

समाचार पत्र डेली मेल में जारी रपट के अनुसार, यह स्थिति पर्यावरणविदों के मौजूदा अनुमानों से 50 प्रतिशत तीव्र है। वैज्ञानिकों ने कहा है कि यह वृद्धि ग्लोबल वार्मिग और ग्रीनहाउस गैस का उत्सर्जन बढ़ने के कारण हुई है।

यदि अनुमान सही साबित हुए तो पूरा क्षेत्र बर्फ मुक्त हो सकता है। युनिवर्सिटी कॉलेज लंदन के ध्रुवीय अवलोकन और मॉडलिंग केंद्र के सेमौर लैक्सन ने कहा है कि हमारे आकड़े के प्राथमिक विश्लेषण ने संकेत दिया है कि गर्मी के मौसम में आर्कटिक की बर्फ पिघलने की दर पहले के अनुमान से ज्यादा तेज हो सकती है।

वैज्ञानिकों ने खासतौर से बर्फ की मोटाई नापने के लिए क्रायोसैट-2 प्रोब लांच किया था। उस समय तक अधिकांश अध्ययन बर्फ के क्षेत्र पर केंद्रित थे।

बर्फ के विश्लेषण के लिए पानी में पनडुब्बियां भी भेजी गई थीं। कहा गया है कि इसके जरिए जो तस्वीरें मिली हैं, उसमें उत्तरी ध्रुव के आसपास 2004 से बर्फ में आए बदलावों का पता चला है।

 

यह खबर आपको कैसी लगी

10 में से 3 वोट मिले

पाठकों की राय | 14 Aug 2012


कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का इस्तेमाल न करें। अभद्र शब्दों का इस्तेमाल आपको इस साइट पर राय देने से प्रतिबंधित किए जाने का कारण बन सकता है। सभी टिप्पणियां समुचित जांच के बाद प्रकशित की जाएंगी।
नाम
शहर
इमेल

आज के वीडियो

प्रमुख ख़बरें

Live TV  |  Stock Market India  |  IBNLive News  |  Cricket News  |  In.com  |  Latest Movie Songs  |  Latest Videos  |  Play Online Games  |  Rss Feed  |  हमारे बारे में  |  हमारा पता  |  हमें बताइए  |  विज्ञापन  |  अस्वीकरण  |  गोपनीयता  |  शर्तें  |  साइट जानकारी
© 2011, Web18 Software Services Ltd. All Rights Reserved.