30 अक्टूबर 2014

न्यूजलैटर सब्सक्राइब करें

CLOSE

Sign Up


गजब, पटना में बिक रहे हैं ‘शाहरुख’ और ‘सलमान’!

Updated Oct 26, 2012 at 11:02 am IST |

 

26 अक्टूबर 2012
इंडो-एशियन न्यूज सर्विस

facebook पर hindi.in.com पेज को LIKE किया क्या?

पटना। बॉलीवुड के खान बंधुओं के नाम को भुनाने का उदाहरण आजकल बिहार की राजधानी में देखने को मिल रहा है। अगर आपको बकरीद के लिए ‘शाहरुख’ और ‘सलमान’ की जरूरत हो तो आपको मुंबई जाने की जरूरत नहीं, पटना के जगदेव पथ स्थित बकरी बाजार में आकर इन्हें ले जा सकते हैं।

ईद-उल-जुहा उर्फ बकरीद के नजदीक आते ही पशु विक्रेता ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए नई मार्केटिंग रणनीति अपना रहे हैं। उन्होंने अपने बकरों के नाम शाहरुख खान, सलमान खान, आमिर खान रखा है।

बकरीद का त्योहार 27 अक्टूबर को है। कुर्बानी का यह त्योहार पटना में धूमधाम से मनाया जाता है। बड़ी शख्सियतों के नाम वाले बकरे अपने शारीरिक वजन और गुण के अनुसार 40 हजार रुपये से लेकर एक लाख रुपये के बीच बिक रहे हैं।

इन ‘खान बंधुओं’ के पटना के बकरी बाजार में आ जाने से ना केवल बाजार में खरीदारों की भीड़ उमड़ रही है, बल्कि महंगाई के इस दौर में जब खरीदार इन महंगे सितारों के नाम के बकरों को नहीं खरीद पा रहे हैं तो टेलीविजन सीरियल के ही कम बजट के सितारे ‘पुनर्विवाह’ धारावाहिक के ‘गुरमीत’, ‘तेरी मेरी लव स्टोरी’ के ‘करण’ को ही कम कीमतों में खरीदकर बकरीद मनाने की तैयारी कर रहे हैं।

अलीगढ़ जिले के जलाली गांव के रहने वाले बकरा विक्रेता महबूब आलम कहते हैं कि मेरे दो बकरे बाजार में सवरेत्तम हैं। उनकी अच्छी शारीरिक बनावट और अच्छे व्यवहार के कारण मैंने उनका नाम शाहरुख और सलमान रखा है। इस बाजार में सलमान की दबंगई अब तक चल रही है। सलमान की कीमत 80 हजार रुपये रखी गई है, लेकिन अभी तक उसके खरीदार नहीं आ सके हैं। वह बताते हैं कि ग्लैमर के इस दौर में करण-अर्जुन का जोड़ा भी बाजार में खरीददारों को आकर्षित कर रहा है।

इतनी ऊंची कीमत रखने के सवाल पर बकरी पालक बताते हैं कि बकरे को तंदुरुस्त बनाने के लिए उन्हें न केवल बकरे को घी खिलाना पड़ता है, बल्कि उनके स्वास्थ्य का भी विशेष ख्याल रखा जाता है। वह कहते हैं कि ऐसा नहीं है कि किसी भी बकरे में तत्काल मांस बढ़ जाए। इसके लिए दो साल पहले से ही तैयारी करनी पड़ती है।

वैसे बकरे के खरीदार इस महंगाई में बकरे को खरीदने से पहले अच्छे से मोलभाव कर रहे हैं। खरीदार अब्दुल करीम बताते हैं कि इस बार बकरीद के पर्व में महंगाई के कारण बजट कुछ गड़बड़ हो गया है, बकरे की कीमत भी बढ़ी नजर आ रही है।

वैसे, कई खरीदार ऐसे भी हैं जो अच्छे बकरे के लिए कोई भी कीमत अदा करने को तैयार हैं। विक्रेताओं का मानना है कि हर मुसलमान पूर्ण वयस्क जानवर की कुर्बानी के लिए पैसा खर्च करने को तैयार रहते हैं, इसलिए महंगे बकरों को बेचना उनके लिए कठिन नहीं है।

पटना सिटी से बकरा खरीदने आए अब्दुल शमीम कहते हैं कि बकरा कुर्बानी के लिए लेना है, इसलिए वह अच्छा दिखने वाला और अधिक वजन वाले बकरे को खरीदना चाहते हैं। वह कहते हैं कि कीमत मेरे लिए कोई मुद्दा नहीं है।

गजब, शाहरुख खान ने मानी सलमान से हार?

बिग बॉस के ‘आम आदमी’ पर क्यों भड़के सलमान?

 

 

 

यह खबर आपको कैसी लगी

10 में से 0 वोट मिले

पाठकों की राय | 26 Oct 2012


कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का इस्तेमाल न करें। अभद्र शब्दों का इस्तेमाल आपको इस साइट पर राय देने से प्रतिबंधित किए जाने का कारण बन सकता है। सभी टिप्पणियां समुचित जांच के बाद प्रकशित की जाएंगी।
नाम
शहर
इमेल

आज के वीडियो

प्रमुख ख़बरें

Live TV  |  Stock Market India  |  IBNLive News  |  Cricket News  |  In.com  |  Latest Movie Songs  |  Latest Videos  |  Play Online Games  |  Rss Feed  |  हमारे बारे में  |  हमारा पता  |  हमें बताइए  |  विज्ञापन  |  अस्वीकरण  |  गोपनीयता  |  शर्तें  |  साइट जानकारी
© 2011, Web18 Software Services Ltd. All Rights Reserved.