21 दिसम्बर 2014

न्यूजलैटर सब्सक्राइब करें

CLOSE

Sign Up


पढ़ें, वो 9 बातें जिनके चलते हुई हड़ताल

Updated Feb 20, 2013 at 10:37 am IST |

 

20 फरवरी 2013
आईबीएन 7

facebook पर hindi.in.com पेज को LIKE किया क्या?

नई दिल्ली। याद कीजिए पहले कब ऐसा हुआ है कि ढाई करोड़ कर्मचारी एक साथ दो दिन के लिए हड़ताल पर चले जाएं। जाहिर है 11 ट्रेड यूनियनों के इस आंदोलन ने सरकार के हाथ पांव-फुला दिए हैं। अब तक हड़ताल रोकने की सरकार की तमाम कोशिशें नाकाम साबित हुई हैं। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की अपील भी ठुकरा दी गई है। कल सुबह सरकार और मजदूर संघों के नेताओं के बीच बातचीत बेनतीजा रही। मजदूर संगठनों की नजर में हड़ताल ही अकेला रास्ता बचा है जिससे सरकार को सुनने के लिए मजबूर किया जा सकता है। उनकी मांग है कि...


1-महंगाई के लिए जिम्मेदार सरकार की नीतियां बदली जाएं।

2-महंगाई को देखते हुए न्यूनतम मजदूरी बढ़ाई जाए।

3-सरकारी संगठनों में अनुकंपा के आधार पर नौकरी दी जाए।

4-आउटसोर्सिंग की जगह स्थायी आधार पर कर्मचारियों की भर्ती हो।

5-सरकारी कंपनियों की हिस्सेदारी निजी कंपनियों को न बेची जाए।

6-बैंकों के विलय की नीति न लागू की जाए।

7-केंद्रीय कर्मचारियों के लिए भी हर 5 साल में वेतन में संशोधन हो।

8-नई पेंशन स्कीम बंद करके पुरानी लागू की जाए।

9-श्रम कानूनों में श्रमिक विरोधी बदलाव की कोशिश न की जाए।

 

यह खबर आपको कैसी लगी

10 में से 4 वोट मिले

पाठकों की राय | 20 Feb 2013

Feb 20, 2013

धंधा बहुत गंदा है. आज आप किसी भी ऑफीस मे चलेजाइए सिर्फ़ आप को कांट्रॅक्ट कर्मचारी ही मिलेंगे और जो पर्मनेंट कर्मचारी है वो 1-2 साल मे सेवानिवृत होने वाली है. कांट्रॅक्ट कर्मचारी को इतनी रेस्पॉन्सिबिलिटी...... कैसे योजना पूरी होगी देश की....

irfan ranchi

Feb 20, 2013

कांट्रॅक्ट सिस्टम हटा कर सिर्फ़ पर्मनेंट बहाली लिया जाए. एक ही ऑफीस मे एक ही काम के लिए कांट्रॅक्ट कर्मियो को कम सॅलरी मिलता है. और हमेरा उसे डरा कर रखा जाता है. एक तो आजकर सरकारे नवजवानो को रोज़गार का औसर उपलब्ध करा नही पा रही है और जो पारंपरिक औसर है उसमे कांट्रॅक्ट के नाम पर कम सॅलरी से उनके सेट होने का मौका नही दे रही है. वैसे भी कांट्रॅक्ट बहाली के परक्रिया काफ़ी गंदी है. सरकारे सिर्फ़ सही परक्रिया से पार्मानॅंट बहाली ही ले, और पुरानी कांट्रॅक्ट बहाली को पूरी सॅलरी दे.

irfan ranchi

Feb 20, 2013

सेंट्रल गूव्ट को छाईए के लोक सभा मे एक बिल ले कर आए जीश मे अधोक , डेली वेज, कांट्रॅक्ट कर्मचारी 5 साल के बाड रेगुलर कर दिया जाए और औश की 5 साल की सर्विस वी प्रमोशन मे जोड़ी जाए अभी तक तो सरकार हमारी जिंदगी बर्बाद कर रही हे सबी करंचारी को चर्याए की सॅब कर्मचारी साथ दे सरकार से निवेदेन हे आकरी साथ मे यह बिल जरूर पास करे

bindersingh patiala


कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का इस्तेमाल न करें। अभद्र शब्दों का इस्तेमाल आपको इस साइट पर राय देने से प्रतिबंधित किए जाने का कारण बन सकता है। सभी टिप्पणियां समुचित जांच के बाद प्रकशित की जाएंगी।
नाम
शहर
इमेल

आज के वीडियो

प्रमुख ख़बरें

Live TV  |  Stock Market India  |  IBNLive News  |  Cricket News  |  In.com  |  Latest Movie Songs  |  Latest Videos  |  Play Online Games  |  Rss Feed  |  हमारे बारे में  |  हमारा पता  |  हमें बताइए  |  विज्ञापन  |  अस्वीकरण  |  गोपनीयता  |  शर्तें  |  साइट जानकारी
© 2011, Web18 Software Services Ltd. All Rights Reserved.