02 सितम्बर 2014

न्यूजलैटर सब्सक्राइब करें

CLOSE

Sign Up


राज ठाकरे के खिलाफ दिल्ली कोर्ट से गैर जमानती वारंट

Updated Sep 28, 2012 at 17:43 pm IST |

 

28 सितम्बर 2011
सीएनएन-आईबीएन

facebook पर hindi.in.com पेज को LIKE किया क्या?

नई दिल्ली।
दिल्ली की सत्र न्यायालय ने शुक्रवार को महारष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के प्रमुख राज ठाकरे के खिलाफ नया गैर जमानती वारंट जारी किया है। सुरक्षा कारणों से अदालत में पेश नहीं होने के कारण राज के खिलाफ आज दोबारा गैर जमानती वारंट जारी किया गया। दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट ने 2008 के मामले में ये वारंट जारी किया है।

राज ने गणेश उत्सव और सुरक्षा का बनाया बहाना
राज ठाकरे के वकीलों ने कोर्ट को बताया था कि गणेश उत्सव और सुरक्षा कारणों की वजह से वह कोर्ट नहीं आ सकते। कोर्ट ने इस जवाब को असंगत पाया और गैर जमानती वारंट को आज दोबारा जारी किया। 17 नवंबर को केस की अगली सुनवाई होनी है।

मालूम हो कि उत्तर भारतीयों के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी के मामले में राज ठाकरे के खिलाफ बिहार की दो अदालतों में शिकायत की गई थी। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद यह मामला दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में आया। इसी आदेश पर अमल करते हुए आज अदालत ने 2008 में जारी किए गए दो वारंट को दोबारा जारी किया।

क्या है मामला
आरोप है कि साल 2008 में मुंबई में रेलवे की परीक्षा देने गए छात्रों पर राज ठाकरे के इशारे पर हमला किया गया। इसके साथ ही राज ठाकरे पर उत्तर भारतीयों के खिलाफ छठ पर्व पर घृणित भाषण देने का भी आरोप है। तीस हजारी कोर्ट में ही राज के खिलाफ ऐसे 7 अन्य मामले हैं। साल 2012 के शुरुआत में सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर इन्हें दिल्ली भेजा गया था।

बिहार में जारी हुए गैर जमानती वारंट के खिलाफ राज सुरक्षा कारणों का हवाला देकर सुप्रीम कोर्ट चले गए थे। जिसके बाद केस को दिल्ली ट्रांसफर किया गया था।

दिल्ली पुलिस ने केस दर्ज किया
वहीं दूसरी तरफ, दिल्‍ली की एक स्‍थानीय अदालत के आदेश पर अमल करते हुए पुलिस ने राज ठाकरे के खिलाफ एक ओर प्राथमिकी दर्ज किया है। राज के खिलाफ यह प्राथमिकी बिहार के लोगों को मुंबई के घुसपैठिए की संज्ञा देने पर किया गया है।

राज ने बिहारियों को कहा था घुसपैठिया
मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट नीरज गौर ने गुरुवार को दिल्ली के अधिवक्ता प्रेम शंकर शर्मा की याचिका पर सुनवाई करते हुए यह आदेश दिया। शर्मा ने याचिका दायर कर ठाकरे पर भड़काऊ एवं राष्ट्रविरोधी भाषण देने के लिए प्राथमिकी दर्ज करने की मांग की थी। याचिकाकर्ता ने आरोप लगाया कि 31 अगस्त को मुम्बई में दिए अपने भाषण में राज ने मुम्बई में बिहार के लोगों को घुसपैठिया कहा और उन्हें महाराष्ट्र से भगाने की धमकी दी।

इससे पहले दिल्ली पुलिस ने अदालत में कार्रवाई रिपोर्ट पेश करते हुए कहा कि बिहार के लोगों को घुसपैठिया कहने के बयान पर राज के खिलाफ मामला दर्ज करने में कई कानूनी बाधाएं हैं। पुलिस ने कहा कि न तो यह बयान दिल्ली में दिया गया था और न ही किसी समाचार पत्र में प्रकाशित किया गया था।

तो राज ठाकरे बिहारियों को बोलेंगे ‘घुसपैठिया’ और खदेड़ देंगे!

नीतीश का ठाकरे को जवाब, बोले बंदर घुड़की से नहीं डरते

महाराष्ट्र में हिंदी चैनल बंद करवा दूंगा: राज ठाकरे

मनसे को नहीं भायी ‘एक बिहारी, सौ पर भारी, थियेटर में तोड़फोड़

 

यह खबर आपको कैसी लगी

10 में से 3 वोट मिले

पाठकों की राय | 28 Sep 2012

Sep 29, 2012

आप सब लोग खाली अपने बारे मे सोचते है लेकिन यह सोचा है की,आपके नेता लोगोनेराज्य को 65 साल हो गये तो क्या आपके राज्य को कीव विकास नही किया आपलोग यह सवाल अपने नेता लोग से पूछा कभी न ही ना तो आपको कोही हक नही बनताकी दूसरे लोगो पर उगली उठाने का ,हम अपने राज्य का विकास हमारे लोगोके लिए करते हैकी उनको नोकरी मिले आप अपने नेता लोग से बोलो की 65 साल मे क्या किया अगरआप भारतीय तो हम कोन है लिखने बहुत कुछ है ...........हर्षमुंबई महाराष्ट्रा

HARSH MUMBAI

Sep 29, 2012

राज ठाकरे देश को बाटने जैसी बाते करते है जो की बिल्कुल ग़लत है एसेलोगो को तो फाँसी पर लटका देना चाहिए

ANSHU JAAT Gurgaon

Sep 29, 2012

बड़े दुख की बात है अपने ही देश मे उत्तरी भारत के लोगो के साथ मुंबई मे राज ठाकरे के लोग ग़लत तरीके से पेस आते है राज ठाकरे शायद ये भूल रहे है की महारास्ट्रा के लोग तो भारत से दूर दूसरे देशो मे काम कर रहे है

JITENDER RANA SHAMLI


कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का इस्तेमाल न करें। अभद्र शब्दों का इस्तेमाल आपको इस साइट पर राय देने से प्रतिबंधित किए जाने का कारण बन सकता है। सभी टिप्पणियां समुचित जांच के बाद प्रकशित की जाएंगी।
नाम
शहर
इमेल

आज के वीडियो

प्रमुख ख़बरें

Live TV  |  Stock Market India  |  IBNLive News  |  Cricket News  |  In.com  |  Latest Movie Songs  |  Latest Videos  |  Play Online Games  |  Rss Feed  |  हमारे बारे में  |  हमारा पता  |  हमें बताइए  |  विज्ञापन  |  अस्वीकरण  |  गोपनीयता  |  शर्तें  |  साइट जानकारी
© 2011, Web18 Software Services Ltd. All Rights Reserved.