29 जुलाई 2014

न्यूजलैटर सब्सक्राइब करें

CLOSE

Sign Up


पाकिस्तान ने कब-कब भारत की पीठ में छुरा घोंपा?

Updated Jan 09, 2013 at 10:55 am IST |

 

09 जनवरी 2013
आईबीएन 7

facebook पर hindi.in.com पेज को LIKE किया क्या?

नई दिल्ली। पाकिस्तान ने एक बार फिर युद्ध विराम का उल्लंघन करते घुसपैठ और गोलीबारी की है। इस हमले में दो भारतीय जवान शहीद हो गये। आजादी के बाद से ही पाकिस्तान लगातार भारत की पीठ में छूरा घोंपता आया है। पाकिस्तान की इसके लिए अंतर्राष्ट्रीय मंच पर जमकर किरकिरी हुई है। बावजूद इसके पाकिस्तान की नीयत और नीति में कोई फर्क नहीं आया। पढ़िए पाकिस्तान के सात धोखे.... 26 नवंबर 2008 को मुंबई पर हमला हुआ। एक तरफ तो भारत से रिश्ते बेहतर करने का ढोंग होता रहा तो दूसरी तरफ होती रही हमले की तैयारी।

13 दिसंबर 2001 को संसद पर हमला किया। ये हमला देश पर पाकिस्तान की तरफ से हुआ सबसे बड़ा हमला था। ये हमला तब हुआ था जब तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने पाकिस्तान पर भरोसा कर वहां के राष्ट्रपति जनरल मुशर्रफ को आगरा वार्ता के लिए बुलाया, लेकिन साल खत्म होने से पहले ही पाकिस्तानी हमलावरों ने संसद पर धावा बोल दिया। साल 1999 में करगिल पर हमला। पीठ पर वार करने में उस्ताद रहा है पाकिस्तान। नापाक इरादों से बेखबर वाजपेयी बस से लाहौर जाते हैं। दोनों देशों के बीच रिश्तों में जमी बर्फ पिघलती है, लेकिन ताशकंद और शिमला समझौते को दोहराते-दोहराते ही दोस्ती का ये नाटक खत्म हो जाता है और नतीजा निकलता है, करगिल पर हमला।

धोखा देकर भारतीय हद में घुसे पाकिस्तानी सैनिकों को करगिल से खदेड़ने की कई कहानियां भारतीय जवानों की शहादत से भरी पड़ी हैं। हालांकि बाद में खुद पाकिस्तान को इसका बड़ा नुकसान उठाना पड़ा और अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर कारगिल की घुसपैठ के लिए उसकी बड़ी बेइज्जती हुई। साल 1999 में ही आईसी 814 विमान हाईजैक कर लिया गया। साल 1999 में ही इंडियन एयरलाइंस के जहाज का अपहरण कर पाकिस्तानी आतंकी कंधार ले गए और सौदेबाजी के बाद मौलाना मसूद अजहर जैसे कुख्यात आंतकी को छुड़ा भी ले गए। साल 1971 में पाक से दूसरी जंग। पाकिस्तान ने भारत के खिलाफ युद्ध छेड़ दिया, लेकिन भारत ने पाकिस्तान को करारा जवाब दिया। नापाक इरादों वाला देश दो फाड़ हो गया।

पूर्वी पाकिस्तान से बांग्लादेश का जन्म हुआ। साल 1965 में पाकिस्तान से भारत की पहली जंग हुई। साल 1965 में पाकिस्तान पहले ही भारत की पीठ में छुरा घोंपने की कोशिश कर चुका है। सादी वर्दी में पाकिस्तानी सैनिक कश्मीर में घुसने लगे। बार बार कहने पर भी जब वो अपनी हरकत से बाज नहीं आये तो भारतीय सेना को मुंहतोड़ जवाब देना पड़ा। युद्ध में शिकस्त के बाद उसे ताशकंद समझौता करना पड़ा। साल 1947 में पीओके मसला यानि वो साल जब पाकिस्तान ने अपनी पैदाइश के साथ ही दिया भारत को पहला धोखा। 1947 में कबाइलियों के नाम पर पाकिस्तानी सैनिक जम्मू कश्मीर में घुस आए। कश्मीर रियासत के भारत में विलय के बाद जब तक भारतीय सेना पहुंचती। देश के करीब एक तिहाई हिस्से पर पाकिस्तान कब्जा कर चुका था।

 

चेतन भगत का ट्वीट, आसाराम आप मेरे भाई हैं, ज्ञान बांटना...

करोड़ों की संपत्ति पर एपी का नेता जगनमोहन रेड्डी ईडी के चंगुल में

 

यह खबर आपको कैसी लगी

10 में से 1 वोट मिले

पाठकों की राय | 09 Jan 2013

Jan 12, 2013

हमे जब पाकिस्तान से कोई लेना देना नही हे तो हम उसके साथ क्यू बार बार हाथ मिलने जाते हे, क्यू बार बार हमे धोका देते हे ये पता होने के बाद भी हम उन्हे खेलने के लिए भारत बुलाते हेकुत्ते को पूछ को 20 सालो तक भी ज़मीन मे गड़ दो तो भी वह सीधे नही हो सकती, वेसए ही पाकिस्तानी हे जो कभी भी भरोसे के लायक नही हे, वो कभी भी हमारी पीठ मे चुरा भीओक सकते हे, लेकिन ये सोनिया गाँधी ओर मनमोहन सींग के ना तो सरीर मे खून हे ना तो आत्मा की वो ये बात सोच सके वेसा दिमाग़ हे की हमे पाकिस्तान से कोई भी तरह के बातचीत को या कार्यो करने की ज़रूरत हे,मनमोहन तो इतना सीधा हे की सोनिया जिस तरह से चलना चाहे चला सकती हे, ओर वो तो बेवकूफ़ हे की उसको इस बात का ज़रा भी समज नही हे की दूसरे देश की ओरात हमारे भारत देश मे राज कर रही हे, क्या उसके अलावा कोई भी ऐसा इंसान नही हे जो इस देश को चलने के लिए लायक हो, कों कहता हे की ये देश आज़ाद हे अभी भी ह्यूम देसरे देश की नागरिक ही चला रही हेवा वा वा, कुछ तो सम्जो

hkms juyrop

Jan 09, 2013

As indo pak cricket series,,,,,,,,,2012 ........??????????/

MONU KANPUR

Jan 09, 2013

लाटो के भूत बतो से नही मानते

dilip agra


कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का इस्तेमाल न करें। अभद्र शब्दों का इस्तेमाल आपको इस साइट पर राय देने से प्रतिबंधित किए जाने का कारण बन सकता है। सभी टिप्पणियां समुचित जांच के बाद प्रकशित की जाएंगी।
नाम
शहर
इमेल

आज के वीडियो

प्रमुख ख़बरें

Live TV  |  Stock Market India  |  IBNLive News  |  Cricket News  |  In.com  |  Latest Movie Songs  |  Latest Videos  |  Play Online Games  |  Rss Feed  |  हमारे बारे में  |  हमारा पता  |  हमें बताइए  |  विज्ञापन  |  अस्वीकरण  |  गोपनीयता  |  शर्तें  |  साइट जानकारी
© 2011, Web18 Software Services Ltd. All Rights Reserved.