02 अक्टूबर 2014

न्यूजलैटर सब्सक्राइब करें

CLOSE

Sign Up


क्‍या आतंकी कसाब को ‘मच्‍छर’ ने मारा?

Updated Nov 21, 2012 at 16:53 pm IST |

 

21 नवंबर 2012
hindi.in.com
योगेंद्र कुमार

आतंकी कसाब से जुडी सारी खबरें यहां पढ़ें

साल 2008 में हुए मुंबई हमलों के एक मात्र जिंदा पकड़े गए पाकिस्‍तानी आतंकवादी अजमल आमिर कसाब को बुधवार सुबह फांसी दे दी गई। केंद्र और महाराष्‍ट्र सरकार कसाब की फांसी को बड़ी उपलब्धि के तौर पर पेश कर रही है, लेकिन सोशल नेटवर्किंग साइट्स समेत देशभर में चर्चा है कि 26/11 के गुनहगार कसाब को ‘मच्‍छर’ ने मारा है यानी उसकी मौत डेंगू से हुई है। फेसबुक समेत कई साइट्स पर हालांकि कुछ लोगों ने मजाकिया लहजे में ये बात कही है, लेकिन बहुत से लोगों ने गंभीरता के साथ कई सवाल पूछे हैं। जैसे, 26/11 से ठीक 4 दिन पहले ही क्‍यों उसे फांसी दी गई। संसद पर हमले के दोषी अफजल गुरु पर फैसले से पहले कसाब को क्‍यों फांसी दी गई? कसाब के मामले में इतनी जल्‍दबाजी क्‍यों? कई लोग तो पायल रोहतगी के उस कमेंट का भी हवाला दे रहे हैं, जिसमें उन्‍होंने कहा था-‘कसाब का हिसाब अब मच्‍छर करेगा।’

गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे ने बताया कि कसाब की फांसी पर 7 नवंबर को हुआ। ये भी कहा जा रहा है उसे डेंगू होने की झूठी खबर इसलिए फैलाई गई थी ताकि उसका चेकअप हो सके और उस पर नजर बनाई जा सके। कसाब को ऑपरेशन X के तहत फांसी दी गई। अब सवाल पूछ जा रहे हैं कि कसाब को डेंगू की खबर तो 5 नवंबर को आई थी यानी फैसले से पहले यानी ऑपरेशन X से पहले तो ये झूठी खबर फैलाने वाली बात लोग कैसे हजम करें? कई लोगों ने तो यहां तक कमेंट किए हैं कि कसाब की डेंगू से मौत के कारण सरकार ने आनन-फानन में फांसी की बात दी, क्‍योंकि उसके पास कोई विकल्‍प नहीं बचा था। कुछ लोग यहां तक सवाल उठा रहे हैं कि कसाब को फांसी से जुड़ा कोई वीडियो क्‍यों नहीं दिखाया गया, जिससे एक मिसाल कायम की जा सके। लोग यहां तक पूछ रहे हैं कि कसाब को फांसी पर लटकाने के लिए ले जाते हुए एक फोटो तक सामने नहीं आया। सिर्फ और सिर्फ सरकारी बयानों के अलावा कोई ऐसा सबूत पेश नहीं किया गया, जिससे उन्‍हें ये सबूत मिले कि वाकई उसे फांसी दी गई है।

कहीं ऐसा तो नहीं देशभर में बढ़ते डेंगू के मामले और डेंगू से कसाब की मौत के मामले में देश की अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर छवि बचाने के लिए गुपचुप फांसी की बात कह दी हो? सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर तर्क ये भी दिए जा रहे हैं कि जब यश चोपड़ा जैसे दिग्‍गज और सर्वसंपन्‍न व्‍यक्‍ित की मौत डेंगू से हो सकती है तो कसाब तो फिर भी जेल में था। डेंगू का मच्‍छर अगर यश चोपड़ा की अलीशान जिंदगी में जगह तलाश सकता है तो भारतीय जेल में पहुंचने में उसे कितनी देर लगी होगी।

 

facebook पर hindi.in.com पेज को LIKE किया क्या?

पढ़ें, कसाब पर चले मुकदमे और फैसलों का सफर...

कसाब को नसीब नहीं होगी पाकिस्‍तान की मिट्टी 

 

 

यह खबर आपको कैसी लगी

10 में से 7 वोट मिले

पाठकों की राय | 21 Nov 2012

Dec 01, 2012

हैवानियतका इसाफ है ये...

pintuanand chaudhary darbhanga

Nov 28, 2012

Wai macchar ko dondna chaiyai.

rajiv semwal noida

Nov 28, 2012

आप से निवेदन है कृपया देश की इस उपलब्धि को इतनी हेय दृष्टि से न देखे. इसप्रकार के लेख से अंतरराष्ट्रीय समुदाय, विशेषकर पाकिस्तान, के समक्ष अपने ही देश भारत की छवी ख़राब होती है. कल विदेश के लोग आपको भी संदेह की दृष्टि से ही देखेंगे. आप देश के नेताओ के गालों पर नही अपने ही गाल पर तमाचा मार रहे हो.

j kolkata

Nov 24, 2012

सही कहा भाई सब को यही लग रहा है

mohan lko

Nov 23, 2012

पाकिस्तानियो के इस चीज़ से सबक ले लेना चाहिए की भारत देश का एक छोटा सा मच्छर उसके आदमी को मार सकता हे तो फिर यदि इस देश की फौज यदि अपनी पे आ जाएगी तो इस दुनिया से उसका (पाकिस्तान) नामो निशान मिट जायेगा / ये सच हे की कसाब को मच्छर ने मारा वरना ये कॉंग्रसी बाथरूम भी करने जाते हे तो अपनी अम्मा और अपने भाई (सोनिया व राहुल) को बता के जाते तो फिर इतनी बड़ी बात हो जाये और ये इन दोनो से नही पूछे एसा विश्वाश नही होता हे / खेर मच्छर को बहुत बहुत धन्यवाद / इस देश के नेताओ को इस मच्छर से देश भक्ति सीखना चाहिये ताकि इस देश का भला हो सके/

IMRAN KHAN ahmedabad

Nov 22, 2012

मेरे को तो लग रहा है, की कसाब को डेंगूसे ही मोत हुए है,महाराष्ट्र सरकार इतना चुप क्यू है,और सरकार पहीले झूट बोला है की कसाब को डेंगू हुआ है, आभी फासी की भी बात झूट हो सकती है,उसका कोई जवाब सरकार के पास नही है,एक तो कॉनसे भी न्यूस पे कसाब को फासी देने की न्यूज़ नही आई, और अगर सरकार ने पाक से बात की गई होगी तो पाक सरकार भी कोई उसपर चर्च करती,सीधी बात कहता हू सरकारने कसाब को फासी नही दी,

Anant Patil Panvel (new mumbai )

Nov 21, 2012

सरकार में दम नई था> ये तो भारतिया मचरों का हे कम है> सरकार तो मच्छरों से भी कमजोर है

radheyshyam HAMIRPUR H P

Nov 21, 2012

कसाब के लिए एक मच्छर ही काफ़ी था

Vineet dehradun

Nov 21, 2012

सरकार से कुछ भी पूछ के फायेदा नही ये अपने मनमानी ही करने वाले है ये क्या कसाब को मरेंगे मछेर ने ही मारा है सरकार तो सिर्फ़ मज़ा मारती है

daas mp

Nov 21, 2012

भारतीय मच्छर ज़िंदाबाद ............

ravindra singh Varanasi

Nov 21, 2012

हमारी सरकार इतना बड़ा फ़ैसला नही ले सकती कसाब को तो भारत के वीर मच्छरो ने ही मारा है.

amit kumar raipur(chhattisgarh)


कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का इस्तेमाल न करें। अभद्र शब्दों का इस्तेमाल आपको इस साइट पर राय देने से प्रतिबंधित किए जाने का कारण बन सकता है। सभी टिप्पणियां समुचित जांच के बाद प्रकशित की जाएंगी।
नाम
शहर
इमेल

आज के वीडियो

प्रमुख ख़बरें

Live TV  |  Stock Market India  |  IBNLive News  |  Cricket News  |  In.com  |  Latest Movie Songs  |  Latest Videos  |  Play Online Games  |  Rss Feed  |  हमारे बारे में  |  हमारा पता  |  हमें बताइए  |  विज्ञापन  |  अस्वीकरण  |  गोपनीयता  |  शर्तें  |  साइट जानकारी
© 2011, Web18 Software Services Ltd. All Rights Reserved.