02 सितम्बर 2014

न्यूजलैटर सब्सक्राइब करें

CLOSE

Sign Up


आपकी राय: आसाराम बापू बोले, बलात्‍कार के लिए ‘दामिनी’ भी है जिम्‍मेदार?

Updated Jan 07, 2013 at 16:41 pm IST |

 

07 जनवरी 2013
hindi.in.com

facebook पर hindi.in.com पेज को LIKE किया क्या?

आसाराम बापू ने गैंगरेप के लिए बलात्कारियों के साथ-साथ रेप पीड़िता को भी बराबर का जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा कि ताली एक हाथ से नहीं बजती, दोनों हाथों से बजती है। उन्होंने कहा कि रेप के लिए लड़की का भी दोष है। वह चाहती तो आरोपियों को भाई कहकर, उनके हाथ-पैर जोड़ सकती थी, जिससे वह बच जाती, लेकिन उसने ऐसा नहीं किया। आसाराम ने यह भी कहा कि उस लड़की ने सरस्वती मंत्र का जाप नहीं किया था। अगर वह ऐसा करती तो मूवी देखने के बाद अपने ब्वॉयफ्रेंड के साथ किसी बस में नहीं बैठती। आसाराम अपने बयानों से कई बार विवाद खड़ा कर चुके हैं, इस बार भी ऐसा हो रहा है।


हिंदी इन डॉट कॉम को बताइए कि आसाराम बापू का ये कहना क्‍या सही है कि बलात्‍कार के लिए दामिनी भी दोषी है?

 

अब आसाराम का बयान, बलात्कारियों को भाई क्यों नहीं बोला?

 

यह खबर आपको कैसी लगी

10 में से 3 वोट मिले

पाठकों की राय | 07 Jan 2013

Mar 17, 2013

असाराम जी गयांन का ठेका आप ना ले. कही अपने आप को अवतार तो नही समझ बैठे? 20 साल पहले आपकी टीम चरण स्पर्श के 500 रुपये भक्त जानो से लिया करती थी आपके नाम पर. गुरु जी गणित तो आपका भी सॉलिड था. चलो ओपन चॅलेंज देता हूँ कुछ ऐसा करो की पाकिस्तान पी. ओ.केपर अपना दावा छोड़ दे या चीन हमारी ज़मीन लौटा दे. नही तो आप सिर्फ़ अपनी धर्म की दुकान चलाए ( जब तक चले) बिला मतलब भावनाओ को आहत ना करे.

prashant kanpur

Jan 22, 2013

Aasaram ji bol kya rahe hai unhe pata hi nahi agar damini unhe bhai kahti to kya proof hai wo use chod dete n ye bakwas ki usne sraswati ka jaap nahi kiya .... Sab media me naam lane ki khud aasa ki sajis hai maro sale aasa ram ko b...Ka..........Uski apni bahan ya beti us waqt hoti to kya saraswati jaap karti yaaaa bhai boltiiiiiiii

mukesh delhi

Jan 22, 2013

. .
ऐसा जी को गोली मार दो..

tarun ambala

Jan 21, 2013

आसा राम बापू ki \

deepak khatima

Jan 21, 2013

Mujhe lagta he aasaram bapu pagal ho gaya he meri taraf se to is pagal guru ka tyag kar dena chahiye per

JAISINGH JAIPUR

Jan 21, 2013

सबसे पहले तो जो मूर्ख भक्तजन हैं आसाराम बापू के, उनेह इस मूर्ख गुरु को त्याग कर अपनी मूर्खता ठीक करनी चाहिए. सबसे बड़ा धर्म मानवता का है. मानव कल्याण सबसे बड़ा केर्तवय है. एसे पाखंडी संत को कारागार मे डाल देना चाहिए.

bhim dehradun

Jan 19, 2013

Ab aap logo ko kay batau is santo ke bare ye kya kya karte hai inke asram me kuch don rahke dekhiye sari sachai smane a jaygi jb koi ladki aise logo ka shikar hoti to sab kuch bolti lakin ek bat muje samj nahi ye asaram bapu ko kaise pata chala ki usne bahi aur sarswti matra ka jap nahi kiya tha

vimal delhi

Jan 11, 2013

Sarkar ko chahiye aise bhadkao bayan dene wale ko turant jail me dal de aur ghar me ya asharam me talashi le ki wo kya dhandha karte h agar aise byan koi sarkar ke kisi vip ya political membar ke liye deta to sarkar use turant action leti jaise bal thakre ke liye byan dene pe kiya tha

seema jhon Bhopal

Jan 10, 2013

आसाराम के साथ साथ इस दशरथ और बाबूजी को भी जूते से स्वागत् की ज़रूरत है.

ranjit srivastwa adra

Jan 10, 2013

असारामजी सटीया गये उनका कहना है की लड़की की भी ग़लती है बोलते है की उस समय भाई बोलनी कचाई थाजबकि एक लड़का बहन बोल कर बस मे बीतया था तो फिर क्या बोल रह है लगता है बाबा का दिमाग़ ख़तम हो गया है

girendra kumar pATNA

Jan 10, 2013

बुड्ढा पागला गया है, अपनी बेटी के साथ ये होता तो भी यह कहता की ताली दो हाथ से बजती है, लानत है ऐसे धर्म गुरु पर और उन लोगों पर जो इन जैसे मूर्ख लोगों को गुरु कहते हैं, मेरा खून खौलता है की इस बाबा की जूतों से पिटाई क्यों नही की गयी .

Rocky Rawat Brisbane Australia

Jan 09, 2013

संत श्री आशारामजी ने जो कहा वह बिल्कुल सही हे समान्य मनुष्य की बुद्धि उनका आकलन नही कर सक्ति.उन्होने जो कहा वह सबके हित मे ही कहा हे,सभी देशवासी शांति रखे.यहि सत्य साबित होगा.

dashrath lucknow

Jan 09, 2013

आसाराम जी अब चुप हो जाइए ..वरना जनता मे से कोई जूता फेंक मारेगा आप के मूह पे...दुनिया मे सिरफिरो की कमी नही है.

Ranbir singh jodhpur

Jan 08, 2013

असारामजी सटीया गये है. ताली दोनो हाथो से बजसकती है किंतु छ-छ हाथो से नही बज सकती. लगता है उन्हे वो मंज़र याद नही जब दरीदे अपनी इंसानीयत को पार कर रहे थे. ऐसा प्रवचन देने से पहेले उन्होने महाभारत की द्रौपदी का प्रसंग क्यों नही याद आया. जब भरी सभा में द्रौपदी खुद लाचार थी.

Vikas Saini JAIPUR

Jan 08, 2013

क्या आपको सपना आया था

A.K.Bhadani Gaya

Jan 08, 2013

असाराम ? है

Babulal meena jaipur

Jan 08, 2013

धर्मा के नाम पर लोगों को बरगलता है. पाखंडी है बाबा.

prashant Gurgaon

Jan 08, 2013

आसाराम बापू संत नही हे. क्योकि संत अभिमानी नही होते हे, जो अपने गुस्से पर काबू नही कर सकेते वो संत नही होते, और क्या भाई बोलने से वो दरिंदे उस लकड़ी को छोड़ देते, ऐसा नही होता... बापू का यह बयान सिर्फ़ प्रचार पाने का तरीका हे

ram prakash jaipur

Jan 08, 2013

बापू जी नारी का समान करो अपमाननही.

PARVEEN SAINI HANSI

Jan 08, 2013

इस त्रह का बियान देना दुर्भाग्यपूर्ण है |उस वक्त कोई भी सभी पारियास करता है |

kuldip kumar Ludhiana

Jan 08, 2013

आसा राम बापू इस नोट आ धरम गुरु. यह तो एक नौटंकी बाज क्रिमिनल है इस क्स काट देना चाहिये. यह तो घटिया इंससन है इसको समझना चहाइए के रेप रज़ामंदी से न्ही होता ओर जिसके साथ होता है वन्हि इस दर्द को समझसाकता है इस सुएर का बहिष्कार केरना चहाइए

amba delhi

Jan 07, 2013

आशा राम जैसे लोग इस देस पे कलंक है,ऐसे ढोंगी से क्या उम्मीद की जा सकती है ,ये सठिया गया है

rudra kolkata

Jan 07, 2013

मुजे लगता है की आसाराम बापू का दिमाग़ खराब हो गया है. उनको आपने दिमाग़ का इलाज करना चाहिए.

rajender Dehradun

Jan 07, 2013

ज़िमेदार गूवरमेंट हैं ऐसे ड्रेस जो ब्ड़काओ हैं उस पे रोक लगाना चाहिए और औरत को पूरा जिस्म ढाका वाला कपड़ा पहना चाहिए और जब किसी से बात कर तो सीधी बात करे ताकि दोसरा कोई उस की तरफ़ अट्रेक्ट ना हो भीर उस के बाद भी कोई मर्द उस का रेप करता हैं तो उस को सजाए मौत देना चाहिए

ABDUL MUMBAI

Jan 07, 2013

आशारम जी ने बहुत अककचा बात कहा.. ऐसा ही करना था .. उसे मेट्रो से या लोकल बस से जाना था ..

babu ji india

Jan 07, 2013

अगर तेरी लड़की के साथ एसा होता तो तब तू क्या कहता तुझे सरे आम जूते मरने चाहिए

Garry delhi

Jan 07, 2013

बापू जी जब इंसान पर वासना ,का भूत स्वार हो जाता हे तब उसे कुछ नही सूझता ओर ये लोग तो दारू पिए हुए थे साथ मे जवान लड़के ,उस दारू के नशे मे इनके सामने इनकी कोई भी रिश्तेदार आ जाए तो भी ये दरिंदे ग़लत काम करते ,इनकी सज़ा तो इन्हे तडफा तडफा कर मारे ओर इनको जो मरते हुए देखे तो दुबारा ऐसे घिनोना काम ना कर सके

RAM NARESH GUPTA JAIPUR


कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का इस्तेमाल न करें। अभद्र शब्दों का इस्तेमाल आपको इस साइट पर राय देने से प्रतिबंधित किए जाने का कारण बन सकता है। सभी टिप्पणियां समुचित जांच के बाद प्रकशित की जाएंगी।
नाम
शहर
इमेल

आज के वीडियो

प्रमुख ख़बरें

Live TV  |  Stock Market India  |  IBNLive News  |  Cricket News  |  In.com  |  Latest Movie Songs  |  Latest Videos  |  Play Online Games  |  Rss Feed  |  हमारे बारे में  |  हमारा पता  |  हमें बताइए  |  विज्ञापन  |  अस्वीकरण  |  गोपनीयता  |  शर्तें  |  साइट जानकारी
© 2011, Web18 Software Services Ltd. All Rights Reserved.