21 दिसम्बर 2014

न्यूजलैटर सब्सक्राइब करें

CLOSE

Sign Up


‘अक्खड़ वीरू के बिना खेले, तो विश्वकप जीत जाएगा भारत’

Updated Sep 28, 2012 at 16:02 pm IST |

 

28 सितम्बर 2012
वार्ता

T20 विश्वकप से जुड़ी सारी ख़बरें यहां देखें

नई दिल्ली।
भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कोच ग्रेग चैपल ने कहा है कि उनके कोचिंग कार्यकाल के दौरान विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग उनकी परेशानी का बड़ा कारण थे जो अपनी प्रतिभा को लेकर हमेशा अतिउत्साहित रहते थे और नियम कानून का पालन करने को लेकर अक्खड़ रवैया रखते थे।

सहवाग का रवैया काफी खराब

टीम इंडिया के सबसे विवादित कोच रहे चैपल ने अपने एक लेख में वीरू को अपनी परेशानी का कारण बताते हुए उनकी जमकर निंदा की है। वर्ष 2005 से 2007 के बीच टीम इंडिया के कोच रहे चैपल ने कहा कि सहवाग जैसा स्ट्राइकर उन्होंने पहले कभी नहीं देखा, लेकिन उनका रवैया काफी खराब और निराशाजनक था।

सहवाग कभी नहीं बदलेंगे

चैपल ने कहा, मुझे लगता है कि अब सहवाग के लिए अपनी आदतें बदलना आसान नहीं है। अगर धोनी और चयनकर्ता यह सोच लें कि अब सहवाग को और बर्दाश्त नहीं करना चाहिए तो टीम उनके बिना ट्वेंटी-20 विश्वकप जीतना भारत के लिए आसान हो सकता है। पूर्व कोच ने कहा, मेरे कोचिंग कार्यकाल के दौरान वीरू मेरे लिए परेशानी का एक बड़ा कारण हुआ करते थे। वह हमेशा मुझे निराश करते थे।

टिककर नहीं खेलते थे सहवाग

सहवाग को गैर अनुशासित खिलाड़ी बताते हुए चैपल ने कहा, जब भी सहवाग ट्रेनिंग के लिए आते थे तो उनका मकसद हर गेंद को उड़ाने से होता था वह इस बात की परवाह नहीं करते थे कि उन्हें टिककर खेलना चाहिए क्योंकि टीम को उनकी जरूरत है, लेकिन वह तो बस मैदान पर आकर तब तक स्मैश शॉट खेलते रहते थे जब तक कि वह आउट न हो जाएं।

सहवाग में कप्तानी करने के गणु, लेकिन

ऑस्ट्रेलियाई कोच ने कहा कि टीम इंडिया के विस्फोटक बल्लेबाज सहवाग में कप्तानी करने का गुण है, लेकिन उन्हें अपने रवैये में बदलाव लाना होगा। उन्होंने कहा कि वीरू नियमों और रणनीति का पालन नहीं करते हैं।

उन्होंने कहा, सहवाग को सिर्फ अपने स्ट्राइक रेट की चिंता रहती है। ऐसे में जब टीम को उनकी जरूरत होती है तब तक वह आउट हो चुके होते हैं।

T20 विश्वकपः क्या वीरू ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेलेंगे?

वीरू तो गुस्सा हो गए, नहीं कर रहे नेट प्रैक्टिस

वीरू का गुस्सा हुआ कम, नेट पर जमकर भांजा बल्ला

 

यह खबर आपको कैसी लगी

10 में से 3 वोट मिले

पाठकों की राय | 28 Sep 2012

Sep 29, 2012

चपल वो आदमी है जो मीडिया मे रहने के लिए बयकार की बयान बाज़ी करता है.कोइ उस को समझा हो की इंडिया मे उस की अब की बार पेटाई ना हो ज़ाएह.

bhushan sharma delhi

Sep 29, 2012

चॅपल तू उस जानवर की पुंछ है जो कभी सीधी नही हो सकती. अपनी टीम के बारे मे सोच फालतू आदमी.

bhushan sharma delhi

Sep 28, 2012

चैपल अगर अस्टेलिया के बारे मे सोचे तो ज़्यादा बहतेर होगा

kk knp

Sep 28, 2012

अबे चापेल तू कभी नही सुदरेग | इंडियन टीम की कितनी वाट लगाएगा | तेरी वजह से सौरभ गांगुली का करियर कत्म हुआ है | अभी सहवाग के पीछे पड़ा है | ऑस्ट्रेलिया के बारेमे सोच , इंडिया के बरेमे नही |

ajay hyderabad


कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का इस्तेमाल न करें। अभद्र शब्दों का इस्तेमाल आपको इस साइट पर राय देने से प्रतिबंधित किए जाने का कारण बन सकता है। सभी टिप्पणियां समुचित जांच के बाद प्रकशित की जाएंगी।
नाम
शहर
इमेल

आज के वीडियो

प्रमुख ख़बरें

Live TV  |  Stock Market India  |  IBNLive News  |  Cricket News  |  In.com  |  Latest Movie Songs  |  Latest Videos  |  Play Online Games  |  Rss Feed  |  हमारे बारे में  |  हमारा पता  |  हमें बताइए  |  विज्ञापन  |  अस्वीकरण  |  गोपनीयता  |  शर्तें  |  साइट जानकारी
© 2011, Web18 Software Services Ltd. All Rights Reserved.