27 नवम्बर 2014

न्यूजलैटर सब्सक्राइब करें

CLOSE

Sign Up


वीकेंड मैगजीनः टीम इंडिया के दो धुरंधर बने जानी दुश्मन

Updated Oct 14, 2012 at 10:24 am IST |

 

14 अक्टूबर 2012
हिन्दी इन डॉट कॉम
संजीत कुमार

टीम इंडिया के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और काफी समय से आउट ऑफ फॉर्म चल रहे विस्फोटक सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग के बीच खटास की ख़बरों पर अब बीसीसीआई की मुहर लग चुकी है। बीसीसीआई के एक अधिकारी ने धोनी और सहवाग में फूट की ख़बरों की पुष्टि की है।

धोनी के कटेंगे पर, अब टीम इंडिया में होंगे 3 कप्तान

अगर टीम में मतभेदों की बात करें तो कई साल से सहवाग और धोनी लंबे समय से इस मुद्दे पर सुर्खियों में रहे हैं। दोनों खिलाड़ियों में सबसे पहले खटास की खबर ट्वेंटी-20 विश्वकप 2007 में आयी थी, जब धोनी ने विश्व कप के फाइनल मुकाबले में सहवाग को बैठकर यूसुफ पठान को टीम में शामिल किया था। उसके बाद से दोनों खिलाड़ियों के अकसर तकरार होती रही। धोनी ने जब सहवाग को टी-20 विश्व कप के फाइनल मुकाबले में बाहर बैठने को कहा था तो वीरू चिढ़ गए थे। इसके बाद हुए विवाद में धोनी ने वीरू पर बुरा प्रदर्शन का आरोप लगा दिया। माही ने कहा कि वीरू ने आईपीएल सीजन 5 के अलावा कभी भी उनकी कप्तानी में विस्फोटक खेल नहीं दिखाया है। धोनी को लगता है कि वीरू अपने खेल को लेकर हद से ज्यादा लापरवाह हैं। उनका यह भी मानना है कि वह टीम में गुटबाजी लाकर बाकी खिलाड़ियों को उनके खिलाफ करना चाहते हैं।

धोनी और वीरू में फूट की खबर सही

दोनों ही खिलाड़ियों के बीच गहमागहमी और बढ़ गयी जब सीबी सीरीज-2008 के फाइनल मे सहवाग को खराब फिटनेस के चलते नहीं खिलाया गया। उनकी जगह रॉबिन उथप्पा को खइलाबाद में सहवाग ने कहा कि वह फिट थे। इसके बाद तो स्थिति बिगड़ती ही चली गई। टी-20 विश्व कप 2009 में धोनी ने पत्रकार वार्ता में टीम एकता का प्रदर्शन किया। इस विश्व कप में सहवाग कंधे में चोट के बावजूद टूर्नामेंट में शामिल हुए थे। इसके बावजूद कप्तान ने उनको आराम देने का मन बनाया था।

क्या माही का जादू खत्म हो चुका है?

वहीं टीम इंडिया के विस्फोटक बल्लेबाज का कहना है कि धोनी टीम चयन में प्रदर्शन को तरजीह न देकर दोस्ती को पैमाना मानते हैं। आरपी सिंह से उनकी दोस्ती कभी छुपी नहीं है, रवीन्द्र जडेजा और पीयूष चावला को भी उन्होंने अनगिनत मौके दिए हैं। वहीं विश्व कप 2011 की जीत के बाद जहां माही इस जीत के हीरो बन रहे थे। तभी सहवाग ने इस जीत का श्रेय पूरी टीम को दिया था। सहवाग के गुप्त सूत्रों पर विश्वास किया जाए तो उन्होंने धोनी के सहवाग पर लगे आरोपों को गलत बताया है। उनका कहना था कि सहवाग जैसे बल्लेबाज़ कभी ऐसा नहीं करेंगे। साल 2008-2010 में उनका औसत अच्छा रहा है।

वेंगसरकरः ‘धृतराष्ट्र’ फ्लेचर ने किया टीम का बंटाधार

हाल में सम्पन्न हुए ट्वेंटी-20 विश्व कप 2012 में धोनी ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सुपर-8 मैच में सहवाग को बाहर बैठा दिया था। धोनी ने पठान से टीम की ओपनिंग करवाई और भारत यह मैच 9 विकेट से हार गया और सेमीफाइनल में पहुंच से चूक गया। हालांकि ऑस्ट्रेलिया से हार के बाद सहवाग को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैच में शामिल कर लिया गया था।

विश्वकप से बाहर होते ही धोनी को याद आयी ‘मां’

सहवाग ने धोनी की कप्तानी में 2008 और 2010 में अच्छा प्रदर्शन किया है। सहवाग वो बल्लेबाज है जो अपने आत्मविश्वसास और खुद पर भरोसा करने वाले हैं। जब सहवाग का आत्मविश्वसास डगमगाया तो वो टीम के लिए पराये हो गए। सहवाग वो सख्स हैं जो मुश्किल घड़ी में भी खुद को वापसी करने का माद्दा रखते हैं।

धोनी और वीरू में तकरार, भारत को पड़ी भारी?

धोनी शांत कप्तान से ज्यादा एक मूक कप्तान नजर आए

देखें, धोनी क्या बोले, जीत के लिए किसी का भी पत्ता काट देंगे

 

यह खबर आपको कैसी लगी

10 में से 4 वोट मिले

पाठकों की राय | 14 Oct 2012

Oct 15, 2012

धोनी ने एंडियन क्रिकेट टीम की और सहवाग की लंका लगा दी

Vineet Dehradun

Oct 14, 2012

यह सब ग़लत हे ढूनी शानदार कप्तान हे / सब उससे जलते हे /

N.K.Tiwari Ujjain

Oct 14, 2012

यह समाचार इकतरफ़ा हेसह्बाग सही मे अच्छा नही खेल रहे व गौतम गंभीर के साथ मिल कर ढूनी को कप्तानी से हटवाना चाहते हे/ ढूनी शानदार कप्तान हे था ओर रहेगा/ अगर टीम के खिलाड़ी कप्तान के खिलाफ षडयंत्र करे टोकपतान क्या करेगवो शह दस खिलाड़िओ के बदले ना तो बेट्टिंग कर सकता हे और ना ही बॉलिंग/ अगर वो हट भी गये तो इन दोनो की तरह स्यापा नही करेंगे / उन्होने दो बार विश्व कप जितवाया हे /

N.K.Tiwari u


कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का इस्तेमाल न करें। अभद्र शब्दों का इस्तेमाल आपको इस साइट पर राय देने से प्रतिबंधित किए जाने का कारण बन सकता है। सभी टिप्पणियां समुचित जांच के बाद प्रकशित की जाएंगी।
नाम
शहर
इमेल

आज के वीडियो

प्रमुख ख़बरें

Live TV  |  Stock Market India  |  IBNLive News  |  Cricket News  |  In.com  |  Latest Movie Songs  |  Latest Videos  |  Play Online Games  |  Rss Feed  |  हमारे बारे में  |  हमारा पता  |  हमें बताइए  |  विज्ञापन  |  अस्वीकरण  |  गोपनीयता  |  शर्तें  |  साइट जानकारी
© 2011, Web18 Software Services Ltd. All Rights Reserved.