26 जुलाई 2014

न्यूजलैटर सब्सक्राइब करें

CLOSE

Sign Up


प्रसाद खिलाकर आश्रम में रेप का प्रयास

Updated May 30, 2012 at 12:29 pm IST |

 

30 मई 2012
आईबीएन- 7


औरंगाबाद के ब्रह्मकुमारी आश्रम में एक एमसीए की छात्रा से बलात्कार की पुष्टि की गई। पीड़ित छात्रा के मुताबिक वो जब साधना करने आई तो उसे प्रसाद दिया गया जिसे खाकर उसकी आंखों के सामने अंधेरा छा गया। उसके बाद महिलाओं ने उसके कपड़े उतारे और व्यक्ति बलात्कार की कोशिश करने लगा। लेकिन उसके चिल्लाने पर सब भाग खड़े हुए। मामला सामने आने के बाद पुलिस ने जांच शुरू की है।

 

यह खबर आपको कैसी लगी

10 में से 3 वोट मिले

पाठकों की राय | 30 May 2012

Aug 11, 2013

ये ब्रह्माकुमारी संस्था अपने उदेय्श्ययों से पूरी तरह भटक चुकी है. यह कोई पहली घटना नही है ऐसी घटना बहुत होती है इस संस्था मे. बलात्कार ही नही बल्कि कितने मर्डर और स्यूयिसाइड की भी घटना हो चुकी हैं असलियत जननी हो तो माउंट अबू के लोकल रहने वालों से पूछें. इनकी मुरली कहती है माँगने से मारना भला और ये हर कार्य के लिए भीख ही माँगते रहते हैं. कभी ब्रह्माभोजन के लिए, सेवा के लिए,मेगा प्रोग्रम्स के लिए,मेले के लिए ना जाने किस किस के लिए. कुछ प्रश्नो का उत्तर अगर इनसे माँगा जाए तो ये तुरंत हाथापाई पे उतार आते है.जैसे की: 1. परमात्मा सर्वव्यापी नही तो एक व्यापी कहाँ है ? 2. शिवशंकर अलग-2 हैं तो एक कैसे हो गये ? कारण बताएँ ?3. आत्मा सो परमात्मा नही है तो आत्मा सो परमात्मा का गायन किसका है ?4. गीता का साकार भगवान कृष्ण नही है तो गीता का साकार भगवान शिव कैसे है ?5. पतित पवँनी गंगा नही है तो शंकर के उपर विराजमान क्यों है ?6. अनेक मठपंथों द्वारा गीता की 108 से भी अधिक टिकाएँ हो चुकी हैं फिर ब्रह्मा कुमारियों के ग्यान के अनुसार गीता की व्याख्या क्यों नही हो सकती ?7. शास्त्र अगर झूठे हैं तो ब्रह्मा बाबा ने शास्त्रकारों की ये कहावत बार बार क्यों धोहराई कि ब्रह्मा भी उतर आए तो भी हम शास्त्रों को नही छोड़गे ?8. शंकर और विष्णु अगर साकार मे नही होते तो उनकी इतनी याद,मंदिर और मूर्तियाँ कहाँ से आ गई ? त्रिमूर्ती शिव की पहली मूर्ति ब्रह्मा - की पूजा, मंदिर और मूर्तियाँ क्यों नही बनतीं ? ब्रह्मा कुमारियाँ पहले अपने द्वारा ग्यान का प्रचार करने से पहले इन प्रशनों का उत्तर जान ले. ग्यान बुधि मे है नही तो दूसरों को अग्यान ही देंगे. इसलिए ऐसी-2 घटनायं होती . अधिकांश ब्रह्मा कुमार कुमारियाँ शिवबाबा के बदले मनुष्य्यों को अपना गुरु बना लिया है इसलिया आसुरी कर्म करते हैं. जैसा संग वैसा रंग कहा है शिवबाबा ने. शिवबाबा अभी भी साकार मे कार्य कर रहा है.

P Singh Bhilai

Jul 12, 2012

Mujhe is sanstha se jude huve 9 vars ho gaye hai is sanstha me jo gyan diya jata hai usse jivan mahan ban jata hai .Aur yah prectical maine apne jivan me dekha hai . Is sansta ke gyan ko apne jivan me lane se mai '' din duni aur raat cagni "saflta mujhe mil rahi hai . Is gyan me aane se pahle mai chota sa paintertha aur aaj mere khud ke 2 photo studio hai .Kuch asamajik tatva ke log hai jo is sanstha ko badnaam karna cahti hai lekin yah gyan khud shiv baba ka hai is sanstha ka main shiv baba hai.Bhgvan ko sab mante hai par - bhgvan ki koi nahi mante '' santosh kumar sarthi dis.-korba (c.G.)

SANTOSH KUMAR SARTHI KORBA (C.G.)

Jun 10, 2012

जहाँ तक हम जानते हैं ब्रह्माकुमारीस को वहाँ तक ऐसी किसी भी घटना का कोई अंदेशा नहीं लगता... हम भी टीन साल्स ए बहमाकुमार हैं .. अब दोनो ही बातें हैं,न्यूज़ ग़लत हो ये भी बात नहीं बनती.. फालतू का इल्ज़ाम रचने की साज़िश भी हो सकती है .. हमें लगता है की पुलिस को अपना कार्य करने देना चाहिए और हमें परिणाम की परीक्षा करनी चाहिए..

बाकी,शिवबाबा पे भरोसा तो करना पड़ेगा,, और विवेक भाई साहब से हम ये कहना चाहते हैं की हम लोग कहते हैं की शिव ही परमात्मा हैं बाकी सभी देवी-देवता हैं जिसका प्रणाम सभी धर्मो के शास्त्रों में मिलता है और स्वयं अपनी गीता में भी ऐसी बहुत सी बातें लिखी हैं जिनको शायद प्रभु एक मद्याम से हमने जाना है और बाकी दुनिया आज भी उनसे अंजान है या शायद अंजान बन रही है

हम किसिको ग़लत या सही नहीं कहते बस अपने शिवबाबा की मानते हैं और बाकी सबकी बातों की भी इज़्ज़त रखते हैं,, विवेक भाई साहब को ब्रह्माकुमारी के बारे में और जानने की ज़रूरत है

bk jatin lucknow

Jun 04, 2012

Brahma kumar ashram main sharmnak ghatna,

Aatma Mt.Abu

Jun 03, 2012

इस संस्था की और अधिक गहराई से जाँच होनी चाहिए क्योंकि इस संस्था के खिलाफ ऐसे बहुत से मुक़दमे हैं जो की बाहर आने से पहले ही दबा दिए जाते हैं. आबू मे बहुत सी ज़मीन पे इस संस्था ने अनधिक्रुत रूप से क़ब्ज़ा करके रखा है. यह संस्था अपने अनुयायियों को ऐसा पाठ पढ़ती हैं की बाकी सारे भगवान ग़लत हैं और उनके संस्थापक ही परमात्मा के सच्चे माध्यम हैं और खुद भगवान परमात्मा इनकी दादी के शरीर मे आकर गीता ज्ञान सुनाते हैं. ऐसी-ऐसी बाते कहकर यह संस्था अपने भक्तों से करोड़ो रुपये ऐथती है.

Vivek Sinha Delhi


कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का इस्तेमाल न करें। अभद्र शब्दों का इस्तेमाल आपको इस साइट पर राय देने से प्रतिबंधित किए जाने का कारण बन सकता है। सभी टिप्पणियां समुचित जांच के बाद प्रकशित की जाएंगी।
नाम
शहर
इमेल

आज के वीडियो

प्रमुख ख़बरें

Live TV  |  Stock Market India  |  IBNLive News  |  Cricket News  |  In.com  |  Latest Movie Songs  |  Latest Videos  |  Play Online Games  |  Rss Feed  |  हमारे बारे में  |  हमारा पता  |  हमें बताइए  |  विज्ञापन  |  अस्वीकरण  |  गोपनीयता  |  शर्तें  |  साइट जानकारी
© 2011, Web18 Software Services Ltd. All Rights Reserved.