IBN7IBN7

बुढ़ापे में सिगरेट छोड़ें तो भी नहीं होगा हार्ट अटैक!

Published on Apr 24, 2015 at 17:09
0 IBNKhabar

लंदन। अगर आप 60 की उम्र में भी धूम्रपान की लत से छुटकारा पाते हैं, तो आप दिल का दौरा व स्ट्रोक के खतरे को कम करते हैं। जर्मनी के एक शोधकर्ता ने यह खुलासा किया है। किसी व्यक्ति की ओर से धूम्रपान छोड़ने के बाद यह खतरा लगातार कम होता जाता है। औसतन एक पूर्व धूम्रपान कर्ता को जीवन में कभी भी धूम्रपान न करने वालों से मात्र 1.3 फीसदी ज्यादा दिल का दौरा व स्ट्रोक का खतरा होता है।

बुजुर्गो में धूम्रपान का हृदय संबंधी रोगों के अब तक के सबसे व्यापक अध्ययन में जर्मन कैंसर रिसर्च सेंटर के एपिडेमियोलॉजिस्ट यूट मॉन्स ने 25 अलग-अलग विश्लेषण किए, जिसमें 60 वर्ष या उससे अधिक आयु के पांच लाख लोगों के आंकड़ों का अध्ययन किया गया। उन्होंने कहा कि पहले पांच साल के दौरान ही खतरा बेहद व्यापक तौर पर कम हो गया।

ये आसान तरीके अपनाएं, डार्क सर्कल हटाएं!

Published on Apr 23, 2015 at 11:13 | Updated Apr 23, 2015 at 11:58
0 IBNKhabar

लखनऊ। आंखों के नीचे काले घेरे यानी डार्क सर्कल आजकल आम बात हो गई है। महिलाओं के साथ-साथ पुरुषों में भी ये समस्या बढ़ती जा रही है और इसकी अहम वजह भागदौड़ की दिनचर्या है, जिसमें आराम नहीं है। ऐसे में आंखों के नीचे होने वाले काले घेरे खूबसूरती और स्मार्टनेस को कम कर सकते हैं।

कई बार, आंखों के नीचे होने वाले काले घेरे, अनहेल्दी लाइफस्टाइल का परिणाम होते हैं। बहुत ज्यादा काम करने, तनाव लेने, नींद न पूरी हो पाने और अन्य कारणों से आंखों के नीचे काले घेरे हो जाते हैं।

सेहतमंद जीवन जीने के लिए जरूरी है सेक्स!

Published on Apr 21, 2015 at 11:03 | Updated Apr 21, 2015 at 11:15
0 IBNKhabar

टोक्यो। बिना सेक्स के जीने से उन मादा जीव-जंतुओं का स्वास्थ्य भी प्रभावित होता है, जिन्होंने समय पर नर से समागम किए बिना क्लोनिंग के जरिए संतति उत्पन्न करने की क्षमता हासिल कर ली है। विकास क्रम में कुछ जल और थल दोनों ही जगह जीवित रह सकने वाली कुछ प्रजातियों, कुछ सरीसर्पों और कुछ मछली प्रजातियों की मादाओं में सेक्स के बिना वंश को आगे बढ़ा पाने की क्षमता आ गई है।

अध्ययन में पाया गया है कि जिन प्रजातियों की मादाओं में बिना नर के संतान पैदा करने की क्षमता का विकास हो गया है, उनमें भी अधिकाधिक संख्या में स्वस्थ्य संतति के लिए प्रजनन आवश्यक है। इस तरह से वैसी प्रजातियों में भी नर की भूमिका किसी तरह कम नहीं हुई है।

गर्मियों में बीमारियों से ऐसे करें बचाव!

Published on Apr 21, 2015 at 10:20 | Updated Apr 21, 2015 at 11:11
0 IBNKhabar

नई दिल्ली। सर्दियों की तरह गर्मियां भी मौसमी बीमारियों के साथ आती हैं। गर्मी में होने वाली गर्मी से थकावट, लू लगना, पानी की कमी, फूड पॉयजनिंग आम बीमारियां हैं। अगर हम कुछ सावधानियां बरतें तो इन बीमारियों से बचा जा सकता है। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के महासचिव डॉ के. के. अग्रवाल ने कहा कि हीट एग्जॉशन गर्मी की एक साधारण बीमारी है जिसके दौरान शरीर का तापमान 37 डिग्री सेल्सियस से 40 डिग्री सेल्सियस तक होता है।

चक्कर आना, अत्यधिक प्यास लगना, कमजोरी, सिर दर्द और बेचैनी इसके मुख्य लक्षण हैं। इसका इलाज तुरंत ठंडक देना और पानी पीकर पानी की कमी दूर करना है। अगर हीट एग्जॉशन का इलाज तुरंत न किया जाए तो हीट-स्ट्रोक हो सकता है, जो कि जानलेवा भी साबित हो सकता है।

तस्वीरों में देखें: धूप से बचने के 10 उपाय

Published on Apr 19, 2015 at 07:27 | Updated Apr 20, 2015 at 09:50
0 IBNKhabar

नई दिल्ली। गर्मियां शुरू होने के साथ ही धूप ने भी अपना रंग दिखाना शुरू कर दिया है। लोग परेशान हैं, परेशानी की वजह है इस गर्मी में स्किन की प्रॉब्लम। तो आप ऐसे में क्या उपाय करेंगे। धूप से हर समय बच के रहना तो मुमकिन नहीं है। इसलिए हम आपको कुछ ऐसे उपाय बता रहे हैं जिनकी मदद से आप गर्मियों में धूप में रहने के बावजूद भी अपनी स्किन की सुरक्षा कर सकेंगे। तस्वीरों में देखें धूप में कैसे करें स्कीन की केयर।

इन उपायों से धूप हो जाएगी बेअसर!

ये खाएं, शरीर में नहीं होगी पानी की कमी!

Published on Apr 18, 2015 at 10:10
0 IBNKhabar

नई दिल्ली। गर्मियों में जब तापमान चरम पर होता है तब सबसे बड़ी समस्या होती है शरीर में पानी की कमी हो जाना। एक विशेषज्ञ ने इसके लिए आसान सुझाव दिया है कि गर्मियों में अपने भोजन को ही जल का अच्छा स्रोत बनाएं। फिटनेस और आहार विशेषज्ञ नीरज मेहता ने कहा कि गर्मियों में कोई भी अधिक मात्रा में पानी पी सकता है। ठोस खाना भी आश्चर्यजनक मात्रा में पानी उपलब्ध कराता है जो आपके शरीर में पानी के स्तर को संतुलित रखता है।

नीरज मेहता के सुझाव के अनुसार गर्मियों में भोजन के रूप में लिए जा सकने योग्य खाद्य पदार्थो का ब्योरा:-

जॉब के साथ स्तनपान, तकनीक ने बनाया आसान

Published on Apr 17, 2015 at 16:41 | Updated Apr 17, 2015 at 16:44
0 IBNKhabar

30 साल की सफल मार्केटिंग एक्जीक्यूटिव नेहा बच्चों का ख्याल रखने वाली मां बनने का सपना देखती रही हैं। आदित्य का जन्म हुआ तो उनका यह सपना पूरा हुआ। बेटा उनकी खुशियों का खजाना है पर उनकी खुशियां ज्यादा समय नहीं रहीं। आदित्य के चिकित्सक ने नेहा को बताया कि उसकी प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर है और भविष्य में बीमारी का जोखिम कम करने के लिए नेहा को चाहिए कि कम से कम एक साल अपने बेटे को स्तनपान कराएं। नेहा की मुख्य चिंता ये थी कि जब वे दफ्तर में होंगी तो बच्चे को स्तनपान कैसे कराएंगी। उन्होंने बच्चे का ध्यान रखने वाली आया को काम से हटा दिया और अपना इस्तीफा बॉस को मेल कर दिया।

नेहा जैसी हम कई कहानियां सुनते हैं जब महिलाएं मातृत्व के लिए अपने फलते-फूलते कैरियर को छोड़ देती हैं। कुछ मांएं बच्चों को पालने के लिए लंबी छुट्टी ले लेती हैं पर लंबे ब्रेक के बाद वापस काम शुरू करना हमेशा आसान नहीं होता है क्योंकि ज्यादातर महिलाएं आत्मविश्वास खो देती हैं और मानती हैं कि प्रतिस्पर्धी बाजार में वे नहीं टिक सकती हैं।

ऐसे पहचानें आपका नाश्ता हेल्दी है या नहीं!

Published on Apr 16, 2015 at 08:05 | Updated Apr 16, 2015 at 10:22
0 IBNKhabar

नई दिल्ली। कहा जाता है कि सुबह का नाश्ता पूरे दिन के खाने में सबसे अहम है। अगर सुबह का नाश्ता अच्छा और पौष्टिक कर लिया जाए तो आपके शरीर की पूर्ति हो जाती है। इसलिए हम आपको ऐसे नाश्तों के बारे में बता रहे हैं जो पौष्टिक, शक्तिवर्धक है और आपको ऊर्जा देते हैं। आगे की स्लाइड्स की देखें कौन सा ब्रेकफास्ट है पौष्टिक।

ऐसा हो सुबह का नाश्ता

विटामिन ई की कमी दिमाग के लिए नुकसानदेह!

Published on Apr 14, 2015 at 14:38 | Updated Apr 14, 2015 at 14:48
0 IBNKhabar

न्यूयॉर्क। विटामिन ई न सिर्फ दमकती त्वचा के लिए जरूरी है, बल्कि यह स्वस्थ दिमाग के लिए भी उतना ही आवश्यक है। यदि नियमित खानपान में विटामिन ई युक्त खाद्य पदार्थों को शामिल किया जाए तो इसका दिमाग के स्वास्थ्य पर अच्छा असर होता है। शोधकर्ताओं का यह भी कहना है कि इसकी कमी मस्तिष्क की कोशिकाओं को नुकसान पहुंचा सकती है। एक शोध में पता चला है कि विटामिन ई की कमी से शरीर के विभिन्न हिस्सों में विशेष पोषक तत्वों की आपूर्ति बाधित होती है। यह मस्तिष्क की संवेदनात्मक क्षमता को बनाए रखने के लिए आवश्यक है।

अमेरिका के ओरेगॉन स्टेट यूनिवर्सिटी की प्रोफेसर और प्रमुख शोधकर्ता मैरेट ट्रैबर ने कहा कि इस शोध से पता चलता है कि विटामिन ई मस्तिष्क में बेहद महत्वपूर्ण मालेक्यूल (अणु) के अभाव को रोकने के लिए आवश्यक है। यह शोध इस बात की व्याख्या करने में भी मददगार है कि मस्तिष्क के अच्छे स्वास्थ्य के लिए विटामिन ई क्यों जरूरी है।

सावधान! फेसबुक बना देगा डिप्रेशन का शिकार!

  • सारंग उपाध्याय
Published on Apr 13, 2015 at 07:27 | Updated Apr 13, 2015 at 08:39
0 IBNKhabar

नई दिल्ली। यदि आप सोशल नेटवर्किँग साइट्स का लगातार और ज्यादा प्रयोग करते हैं, तो आप डिप्रेशन में हो सकते हैं, या फिर किसी मनोरोग के शिकार। बात थोड़ी अटपटी लग सकती है, लेकिन सही है। जी हां, जानकारों की मानें तो यदि आप फेसबुक पर घंटों बैठते हैं और आपको अपने दोस्तों, रिश्तेदारों और किसी और के पेज व स्टेटस धड़ाधड़ लाइक करने की आदत है तो यह डिप्रेशन के लक्षण हो सकते हैं।

एक्ससपर्ट के मुताबिक फेसबुक पर दूसरों की टाइम लाइन और बनाए गए पेज पर ज्यादा जाना और उन्हें लगातार लाइक करते रहना डिप्रेशन में होने का लक्षण है, क्योंकि आप अपने अवचेतन में दूसरे के जिंदगी की अपनी लाइफ से तुलना कर रहे हैं।





IBN7IBN7
ibnliveibnlive

INews

फेसबुक ने एंड्रॉयड उपयोगकर्ताओं के लिए एक नया कॉलर आईडी एप लांच किया है। यह फेसबुक डाटा का इस्तेमाल करके यह पता लगाएगा कि कौन फोन कर रहा है।
अब मोबाइल फोन पर भी साधारण सेकेंड क्लास के अनारक्षित टिकट बुक कराए जा सकेंगे। आपको काउंटर पर जाकर लाइन में लगने और नकद पैसे देने की जरूरत भी नहीं पड़ेगी।
स्मार्टफोन के जरिए संदेश आदान-प्रदान करने की सुविधा देने वाली बेहद लोकप्रिय सेवा व्हाट्सऐप ने अपने आईफोन उपयोगकर्ताओं के लिए भी अंतत: निशुल्क कॉलिंग सुविधा पेश कर दी।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

इतिहास

हिंदुस्तान का इतिहास यहां राज करने वाली कई सल्तनतों की बची हुई निशानियों में आज भी सांस लेता है। किले या दुर्ग ऐसी ही निशानियां हैं।
आगरा में ताजमहल में दफनाने से पहले उसकी ममी बनाई गई थी? अफसर अहमद की लिखी गई किताब ‘ताजमहल या ममी महल’ में इस विषय पर प्रकाश डाला गया है।
मुगल इतिहास का एक टुकड़ा ऐसा भी है जो बताता है कि एक बेटे ने जीते जी ही नहीं मरने के बाद भी बाप की आखिरी ख्वाहिश नहीं मानी। जी हां, वह अभागा बाप शाहजहां था।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

रिश्ते

एक नई प्रौद्योगिकी के जरिए हाथ के विभिन्न हिस्सों से आप में खुशी, दुख, रोमांच या डर के अहसास का संचार किया जा सकता है, वह भी बिना आपको छूए।
जिंदगी के कई मोड़ पर न चाहते हुए भी ऎसे हालात बन जाते हैं जो किसी रिश्ते में दरार पैदा कर देते हैं। जब आप प्रेम के बंधन में बंधे होते हैं तब हर एक पल आपके लिए खास होता है।
कहा जाता है कि फर्स्ट इंप्रेशन इज लास्ट इंप्रेशन। यदि आप अपनी पहली डेट पर ही कुछ गलती कर दें तो ये रिश्ते के लिए खतरनाक भी हो सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

गैजेट्स

प्राइमरी स्कूल जाने से पहले शिशु विद्यालय जा रहे बच्चे यदि कक्षा में मोबाइल ऐप का इस्तेमाल करते हैं तो इससे उनकी सीखने की क्षमता तेजी से बढ़ती है।
ये हैं 12 हजार रुपये से सस्ते स्मार्टफोन जो आपके बजट में तो हैं ही, बल्कि आपको बेस्ट एक्सपीरियंस भी देंगे। तो अगर आप भी ढूंढ रहे हैं ।
फोटो शेयरिंग साइट इंस्टाग्राम एपल वॉच पर भी उपलब्ध होगी। स्मार्टवॉच पर यह अब एक नए एप के साथ आ रही है, जो किसी के द्वारा कोई तस्वीर पोस्ट करते ही आपको तत्काल अलर्ट जारी करेगी।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

फैशन

गोवा सरकार के कला एवं संस्कृति विभाग ने अपने कर्मचारियों के बिना आस्तीन वाले कपड़े, कई जेब वाली पतलून और जींस पहनने पर प्रतिबंध लगा दिया है।
लैक्मे फैशन वीक में देश के जाने-माने फैशन डिजाइनरों ने अपने हुनर का प्रदर्शन किया। इस दौरान बॉलीवुड की तमाम बड़ी सेलेब्रिटीज कैटवॉक करती दिखीं।
दमकती त्वचा की ख्वाहिश किसे नहीं होती है जाहिर है आपको भी होगी, लेकिन इसके लिए आए आए दिन पार्लर जाना, महंगे प्रोडक्ट्स खरीदना थोड़ा मुश्किल पड़ जाता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

क्या आपको फोन गुमाने की आदत है, क्या आप इधर उधर फोन छोड़कर भूल जाते हैं, तो आपके लिए गूगल ने एक नई सर्विस लॉन्च की है जिसका नाम है फाइंड माय फोन।
आज हर कोई एटीएम कार्ड यानि का इस्तेमाल करता है लेकिन कई बार जानकारी के अभाव में वो धोखा खाकर उन्हें नुकसान उठाना पड़ता है।
किसी के लिए साइकिल ट्रांसपोर्ट का जरिया, किसी के लिए फिटनेस तो किसी के लिए खिलौना तो किसी के लिए स्पोर्ट्स। ट्रांसपोर्टेशन के दुनिया में साइकिल एक क्रांतिकारी अविष्कार है।
ibnliveibnlive