IBN7IBN7

जरूरत से ज्यादा पानी, बढ़ाएगा किडनी की परेशानी

Published on Nov 24, 2014 at 12:09 | Updated Nov 24, 2014 at 12:26
0 IBNKhabar

लखनऊ। देश के जाने माने नेफ्रोलाजी विशेषज्ञों का कहना है कि जरूरत से ज्यादा पानी पीना किडनी के लिए हानिकारक हो सकता है। चिकित्सकों ने किडनी रोग से बचाव के लिए फास्ट फूड और दर्द निवारक गोलियों से परहेज की सलाह भी दी है। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ स्थित संजय गांधी स्नातकोत्तर संस्थान (एसजीपीजीआई) में कल शाम सम्पन्न एक कार्यशाला में शामिल हुए नेफ्रोलाजी विशेषज्ञों ने कहा कि आमतौर पर लोगों में यह धारणा है कि जितना पानी पीएगें तो उनकी किडनी अच्छी रहेगी जबकि ऐसा नहीं है। जरूरत से ज्यादा पानी पीना भी किडनी पर बुरा प्रभाव डाल सकता है।

उन्होनें कहा कि किडनी रोगों से बचाव के लिए एक स्वस्थ्य व्यक्ति को एक दिन में अधिकतम पांच ग्राम नमक ही खाना चाहिए जबकि रक्तचाप से पीड़ित लोगों के लिए दो ग्राम नमक ही काफी होता है। किडनी की बीमारी से बचने के लिए लोगों के तरल भोजन को वरीयता देनी चाहिए। इसके अलावा लोग अपने रोजाना के भोजन में 10 प्रतिशत वसा, 60 प्रतिशत कार्बोहाइड्रेड और 30 प्रतिशत प्रोटीन खाने में जरूर शामिल करें।

कभी कभी रखें उपवास, होगा दिमाग का विकास

Published on Nov 24, 2014 at 10:52 | Updated Nov 24, 2014 at 11:03
0 IBNKhabar

वॉशिंगटन| व्यायाम के साथ-साथ कभी कभार उपवास रखना दिमाग के न्यूरॉन को बढ़ावा देने के लिए अच्छा होता है, यह बात एक शोध में सामने आई है। जानवरों पर किए गए शोध में पता चला है कि कैसे रुक-रुक कर उपवास रखने से चूहे सीखने और स्मृति में वृद्धि कर सकते हैं। साथ ही इससे मस्तिष्क के कार्यों में गिरावट का खतरा कम हो जाता है।

अमेरिका के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एजिंग में तंत्रिका वैज्ञानिक मार्क मैटसन ने बताया कि हमारे पास इस बात के साक्ष्य हैं कि व्यायाम और समय-समय पर उपवास से न्यूरॉन्स में सूत्रकणिकाओं की संख्या में वृद्धि होती है। समय-समय पर उपवास से संज्ञात्मक परीक्षणों के प्रदर्शन में सुधार हो सकता है, तंत्रिका तंत्र के संयोजन में बदलाव आ सकता है। उपवास और व्यायाम से पैदा तनाव मस्तिष्क को अनुकूल रखने और न्यूरॉन्स की ऊर्जा प्रवाह में मदद करता है। इस अध्ययन को हाल ही में सोसाइटी फॉर न्यूरोसाइंस की वार्षिक बैठक में प्रस्तुत किया गया।

74.8 करोड़ लोगों को मिलता है गंदा पानी: WHO

Published on Nov 20, 2014 at 08:05
0 IBNKhabar

जेनेवा| दुनिया में तकरीबन 74.8 करोड़ लोगों को नियमित रूप से साफ पानी नहीं मिल रहा है और करीब 18 लाख लोगों को दूषित पानी से अपनी जरूरतें पूरी करनी पड़ रहीं हैं। यह जानकारी विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) द्वारा जारी एक रिपोर्ट में सामने आई है। रिपोर्ट में बताया गया है कि 25 लाख लोग सफाई के अभाव में रह रहे हैं और 100 करोड़ लोगों को खुले में शौच जाना पड़ रहा है, वहीं ग्रामीण इलाकों में हर 10 में से नौ लोग खुले में शौच जाने के लिए मजबूर हैं।

'ग्लास-2014' के नाम से जारी की गई इस रिपोर्ट में यह प्रमुख निष्कर्ष सामने आए हैं। यह अध्ययन हर दो साल में डब्ल्यूएचओ द्वारा कराया जाता है। इस अध्ययन के 2014 संस्करण को 'जल और स्वच्छता में निवेश, असमानता को कम करने, उपयोग में वृद्धि' नाम से जारी किया गया है। अध्ययन में बताया गया है कि पिछले दो दशकों में पीने के साफ पानी तक 23 लाख लोगों की पहुंच बढ़ी है।

ज्यादा फलाहार से अवसाद का खतरा

Published on Nov 19, 2014 at 19:55
0 IBNKhabar

न्यूयार्क। अगर आप अपने बच्चों पर ज्यादा फल खाने का दबाव डालते हैं, तो ऐसा न करें। जरूरत से ज्यादा फलाहार के भी बुरे परिणाम हो सकते हैं, जो बच्चों में अवसाद के रूप में सामने आ सकते हैं। एक शोध के अनुसार फलों में स्वाभाविक रूप से शर्करा होती है, जो फ्रक्टोस की उपलब्धता के लिए जिम्मेदार है। जरूरत से ज्यादा फलाहार किशोर होते बच्चों में अवसाद और बेचैनी को बढ़ा सकता है और साथ ही दिमागी प्रतिक्रिया को भी प्रभावित कर सकता है।

अटलांटा के एमोरी युनिवर्सिटी के शोधकर्ता कांस्टेंस हैरेल ने बताया कि हमारे शोध के नतीजे आपके आहार से मस्तिष्क पर पड़ने वाले प्रभाव और किशोर होते बच्चों में पोषण के महत्व पर प्रकाश डाल सकते हैं। ये शोध वाशिंगटन डीसी में आयोजित सोसायटी फॉर न्यूरोसाइंस की वार्षिक बैठक न्यूरोसाइंस 2014 में पेश की गई है।

जानें कैसे होता है ये डेंगू, इसके लक्षण-उपचार

  • ibnkhabar.com
Published on Nov 17, 2014 at 09:34 | Updated Nov 17, 2014 at 10:02
0 IBNKhabar

नई दिल्ली। डेंगू का कहर एक बार फिर शुरू हो चुका है। देश के कई इलाकों से डेंगू फैलने की खबरे सामने आने लगी हैं। दिल्ली में भी डेंगू अपने पैर पसार रहा है। लाख चाहकर भी एमसीडी एडीज मच्छरों पर काबू नहीं कर पा रही है। हर साल अक्टूबर पार होते-होते डेंगू फैलाने वाले मच्छर खुद ही खत्म हो जाते थे और एमसीडी दावा कर देती थी कि उसने डेंगू पर काबू पा लिया। लेकिन इस बार इन मच्छरों ने एमसीडी की परेशानी को बढ़ा दिया है। दूसरे शब्दों में कहें तो एडीज मच्छर इस मौसम के आदी हो गए हैं। डॉक्टरों के लिए यही सबसे बड़ी परेशानी है।

डेंगू से बचने के उपाय

रीढ़ की हड्डी की चोट करेगी दिमाग पर असर

Published on Nov 16, 2014 at 09:46 | Updated Nov 16, 2014 at 10:04
0 IBNKhabar

न्यूयॉर्क। रीढ़ की हड्डी में आई चोट (एससीआई) प्रगतिशील मस्तिष्क को विकृत कर सकती है। यह बात एक नए अध्ययन में सामने आई है। निष्कर्ष में पता चला है कि एससीआई संज्ञात्मक समस्याओं और अवसाद के साथ व्यापक और निरंतर मस्तिष्क में सूजन पैदा कर सकती है, जिससे तंत्रिका कोशिकाओं की प्रगति रुक जाती है।

इस अध्ययन के नेतृत्वकर्ता और अमेरिका के मैरीलैंड विश्वविद्यालय के चिकित्सा स्कूल (यूएम एसओएम) के शोधकर्ता एलन फाडेन ने कहा कि पहली बार हमारे अध्ययन में पता चला कि पृथक एससीआई से प्रमुख मस्तिष्क क्षेत्रों में मस्तिष्क कोशिकाओं की प्रगति में नुकसान हो सकता है।

मोटापे को कहें अलविदा, मधुमेह से पाएं मुक्ति

Published on Nov 14, 2014 at 09:26
0 IBNKhabar

नई दिल्ली| खान-पान की गलत आदतें, धूम्रपान की लत और अस्वस्थ जीवनशैली भारतीय युवाओं में मधुमेह (डायबिटीज) की आशंका को बढ़ा रही है। मोटापा इसमें समस्या और बढ़ा देता है। ऐसे में स्वस्थ जीवनशैली और मोटापे से दूर रहकर मधुमेह जैसी बीमारी से भी बचा जा सकता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक, डायबिटीज एशिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य समस्या के रूप में उभरी है, एशियाई सबसे अधिक मात्रा में मधुमेह का शिकार हो रहे हैं।

अंतरराष्ट्रीय मधुमेह फेडरेशन के अनुसार, भारत में वर्तमान समय में 6.5 करोड़ वयस्क मधुमेह की समस्या से ग्रस्त हैं और लगभग 7.7 करोड़ लोगों में प्री डायबिटीज की संभावनाएं दिखाई दे रही हैं। इनके अनुसार, 2035 तक यह आंकड़े 10.9 करोड़ तक पहुंचने की आशंका जाताई जा रही है। 40 साल से कम उम्र के, लगभग 15 प्रतिशत (1.5 करोड़) लोग मधुमेह की इस समस्या से ग्रस्त हैं।

गाय के दूध से बच्चों में एड्स का इलाज आसान

Published on Nov 13, 2014 at 09:59
0 IBNKhabar

न्यूयॉर्क| सामान्यत: एड्स से बचाव और उपचार में प्रयोग की जाने वाली वाली एंटी-रेट्रोवायरल दवाएं पानी में बहुत घुलनशील नहीं होती हैं। लेकिन इन एंटी-रेट्रोवायरल दवाओं से युक्त दूध बच्चों को एचआईवी संक्रमण से बचाने और उपचार में बेहतर मदद कर सकता है। शोधकर्ताओं की एक टीम ने गाय के दूध में एक प्रोटीन की संरचना में फेरबदल कर इसमें एंटी-रेट्रोवायरल दवा को घुलनशील बनाने का नया तरीका खोजा है। नवजात बच्चे अधिकांश एंटी-रेट्रोवायरल दवाएं सहन नहीं कर पाते।

एचआईवी से बचाव और उपचार में प्रयोग की जाने वाली सबसे सामान्य दवा रिटोनावीर के बहुत सारे दुष्प्रभाव भी हैं। अमेरिका की पेनसिल्वानिया स्टेट यूनिवर्सिटी में खाद्य विज्ञान के सहायक प्रोफेसर फेटेरिको हार्ट ने बताया कि यह भौतिक-रासायनिक गुण शिशुओं की व्यवस्था को चुनौती देते हैं। इस समस्या को सुलझाने के लिए हार्ट ने गाय के दूध में पाए जाने वाले एक प्रोटीन समूह 'केसिंस' पर प्रयोग करके देखा।

रोज टहलना आदत बनाएं,अपनी याददाश्त बढ़ाएं

Published on Nov 10, 2014 at 10:33
0 IBNKhabar

न्यूयॉर्क| टहलने के लिए उत्साहित करने वाले लोगों के बीच रहना स्मृतिदोष के शिकार लोगों के लिए फायदेमंद होता है। एक नए अध्ययन में यह खुलासा हुआ है। रोजाना टहलने वाले लोगों के बीच रहने पर लोग टहलने के लिए प्रेरित होते हैं, जिसके कारण उम्रदराज लोगों के शारीरिक स्वास्थ्य (जैसे वजन और बल्डप्रेशर कम होना) और मानसिक स्वास्थ्य (स्मृति बढ़ना) में सुधार होता है।

अमेरिका के कंसास विश्वविद्यालय में क्लीनिकल सायकोलॉजी के सहायक प्रॉफेसर अंबर वाट्स ने कहा कि लोग किसी से मिलने या समय व्यतीत करने के बहाने भी टहल सकते हैं। अध्ययन में अल्जाइमर रोग से पीड़ित 25 लोग और 39 स्वस्थ उम्रदराज लोगों को शामिल किया गया। अध्ययन में यह बात सामने आई कि टहलने से इन सबको लाभ हुआ। यह निष्कर्ष हाल में जेरोंटोलॉजिकल सोसायटी ऑफ अमेरिका की सालाना बैठक के दौरान वाशिंगटन में प्रस्तुत किया गया।

सुबह जल्दी उठने वाले बच्चे होते हैं बीमार!

Published on Nov 10, 2014 at 09:39 | Updated Nov 10, 2014 at 11:04
0 IBNKhabar

न्यूयॉर्क।सुबह जल्दी उठकर स्कूल जाने वाले बच्चे न सिर्फ पर्याप्त नींद से महरूम होते हैं, बल्कि इसका उनके अकादमिक प्रदर्शन पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। एक अध्ययन में यह बात सामने आई है। अध्ययन में यह बात भी सामने आई है कि किशोरावस्था तक बच्चों को लगभग नौ घंटे की नींद की जरूरत होती है।

अमेरिका के शिकागो स्थित रश विश्वविद्यालय चिकित्सा केंद्र में सहायक प्रोफेसर और अध्ययन के मुख्य लेखक स्टेफनी क्राउली ने कहा कि यह उन कुछ अध्ययनों में से एक है जिसमें एक ही किशोर पर नींद और सरकाडियन रिद्म (सोने-जागने का समय) के लिए ढाई साल तक निगाह रखी गई है।





IBN7IBN7
ibnliveibnlive

ऑटो

लास वेगास में आयोजित अंतरराष्ट्रीय इल्केट्रॉनिक्स उपभोक्ता उत्पाद प्रदर्शनी में टोयोटा ने हाइड्रोजन से चलने वाली भविष्य की कार पेश की।
खूबसूरत वादियां, समंदर और हरे भरे जंगल पार करते हवाई जहाज और फ्लाइट की खिड़कियों से बाहर झांकते लोग आने वाले समय में ये पुराने जमाने की बात होने वाली है।
फिलिप डिवरी ने कहा है कि इससे पहले दो दिन के प्रोमोशन कार्यक्रम के दौरान 150 ट्रक ऑपरेटरों को आमंत्रित किया गया था जहां कई बड़े ट्रक ऑपरेटरों ने वॉल्वो एफएन में रुचि दिखाई।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

रिश्ते

अहंकारी और अक्खड़ किस्म के बॉस अक्सर हीन भावना का शिकार होते हैं और अपनी नाकामियों और अक्षमताओं को छुपाने के लिए अपने मातहत पर जानबूझकर दबाव बनाते हैं।
माताएं बातचीत के दौरान बेटे के बजाय बेटी से ज्यादा भावनात्मक रूप से घुली-मिली होती हैं और इस प्रक्रिया में लड़कों की अपेक्षा लड़कियां भावनात्मक रूप से ज्यादा बुद्धिमान होकर निखरती हैं।
एक रिसर्च में कहा गया है कि आधी रात में स्मार्टफोन का बार-बार इस्तेमाल करने की वजह से रिश्तों की गर्माहट खत्म हो रही है, जिसके नतीजे ब्रेकअप, फरेब और तलाक के रूप में सामने आ रहे हैं।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

गैजेट्स

स्मार्टफोन के जरिए खुद से ही अपनी फोटो खींच कर लगाने का प्रचलन आजकल बेहद लोकप्रिय है। सेल्फी लेने वालों में दुनियाभर की विभिन्न क्षेत्रों की हस्तियां भी शामिल हो चुकी हैं।
इसमें 64 बिट चिपसेट के साथ 2.3 GHz इंटेल एटम प्रोसेसर और एंड्रायड 5.0 लॉलीपॉप आपरेटिंग सिस्टम समर्थित है और इसका लुक एप्पल के आईपैड मिनी की तरह है।
ब्रिटेन के साउथ हैंप्टन विश्वविद्यालय के एक शोधकर्ता ने एक ऐसी लाउडस्पीकर प्रणाली विकसित की है, जिससे ऊंचा सुनने वाले लोग भी अब टेलीविजन की आवाज को आसानी से सुन सकते हैं।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

फैशन

एक अध्ययन में सामने आया है कि साधारण तौर पर एक महिला हर सप्ताह 6.40 घंटे अपने रूप को संवारने के लिए खर्च करती है।
वेलेंटाइन डे यानी प्यार करने वालों का दिन। इस दिन पर आर्थिक सुस्ती और बढ़ती महंगाई का कोई असर नहीं पड़ने वाला है।
ऑनलाइन खरीदारी का चलन बढ़ता ही जा रहा है। वर्ष 2013 में 2012 की 8.5 अरब डॉलर की खरीदारी के मुकाबले 85 फीसदी अधिक ऑनलाइन खरीदारी हुई।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

इतिहास

भारतीय एवं विश्व इतिहास में 06 नवंबर का अपना ही एक खास महत्व है। इस दिन कई ऐसी घटनाएं घटी जो इतिहास के पन्नों में हमेशा के लिए दर्ज होकर रह गईं हैं।
भारतीय एवं विश्व इतिहास में 5 नवंबर का अपना ही एक खास महत्व है। इस दिन कई ऐसी घटनाएं घटी जो इतिहास के पन्नों में हमेशा के लिए दर्ज होकर रह गईं हैं।
भारतीय एवं विश्व इतिहास में 4 नवंबर का अपना ही एक खास महत्व है। इस दिन कई ऐसी घटनाएं घटी जो इतिहास के पन्नों में हमेशा के लिए दर्ज होकर रह गईं हैं।
ibnliveibnlive