IBN7IBN7

शकीरा ने बेटे 'मिलान' से सीखा काम करना


Published on Mar 06, 2014 at 10:04
0 IBNLive

लॉस एंजेलिस। कोलंबियाई पॉप स्टार शकीरा कहती हैं कि मां बनने के बाद उनकी जिंदगी में एक सकारात्मक बदलाव आया है। वह यह है कि शकीरा अब अपने काम को अधिक जटिल नहीं बनाती ताकि काम से वक्त बचाकर अपने बेटे के साथ ज्यादा से ज्यादा वक्त गुजार सकें। शकीरा और उनके साथी गेरार्ड पीक 15 महीने के बेटे मिलान के माता-पिता हैं।

मिलान को अपनी मां के साथ रहना बेहद अच्छा लगता है। वेबसाइट फीमेलफर्स्ट डॉट को डॉट यूके के अनुसार शकीरा ने कहा कि ऐसा लगता है कि यह मैंने मिलान से सीखा है जैसे अपने काम को सरलता से किस तरह निबटाना है। क्योंकि मिलान को ज्यादातर समय मेरी जरूरत होती है तो मैंने सीख लिया है कि कैसे काम जल्दी निबटाया जाता है।

कभी नहीं सोचा था कि ऑस्कर जीतूंगा: पिट


Published on Mar 05, 2014 at 12:51
0 IBNLive

लॉस एंजेलिस। ऑस्कर अवॉर्ड जीतने के बाद हॉलीवुड अभिनेता ब्रैड पिट ने कहा कि उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि वह ऑस्कर जीतेंगे। पिट को '12 इयर्स ए स्लेव' के निर्माता के लिए ऑस्कर मिला है।

वेबसाइट 'ईऑनलाइन डॉट कॉम' के मुताबिक, पिट ने कहा कि मुझे नहीं पता कि मैं इसे कहां रखने वाला हूं। मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं एक घर लूंगा, मैंने अब तक इतना आगे नहीं सोचा। '12 इयर्स ए स्लेव' एक व्यक्ति के अस्तित्व और स्वतंत्रता की लड़ाई की वास्तविक कहानी है। फिल्म ने 86वें अकादमी पुरस्कार समारोह में सर्वश्रेष्ठ फिल्म का खिताब जीता है।

बजा 'ग्रेविटी' का डंका, 7 ऑस्कर अवॉर्ड मिले


Published on Mar 03, 2014 at 08:53 | Updated Mar 03, 2014 at 17:53
0 IBNLive

लास एंजेलिस। 86वें ऑस्कर अवार्ड समारोह में अंतरिक्ष की घटनाओं पर आधारित फिल्म ग्रेविटी को 7 पुरस्कार मिले। ग्रेविटी ने साउंड की श्रेणी, सर्वश्रेष्ठ विजुअल इफेक्ट, सिनेमैटोग्राफी, संपादन सहित कई अन्य श्रेणियों में अवार्ड हासिल किए। जबकि फिल्म 'ब्लू जैसमिन' में जबर्दस्त अभिनय के लिए अभिनेत्री केट ब्लैंचेट को सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के पुरस्कार से नवाजा गया।

ब्लैंटचेट को सर्वश्रेठ अभिनेत्री का पुरस्कार

'जुरासिक पार्क 4' में नजर आएंगे इरफान खान


Published on Mar 02, 2014 at 14:13 | Updated Mar 02, 2014 at 14:32
0 IBNLive

मुंबई। इरफान खान के उन बेहतरीन अभिनेताओं में से एक हैं जिनके चर्चे केवल बॉलीवुड नहीं बल्कि हॉलीवुड में भी हैं। इस बार इरफान खान अपने अभिनय का जलवा हॉलीवुड की फिल्म 'जुरासिक पार्क 4' में दिखाने को तैयार हैं। खबरें हैं कि इरफान इस फिल्म में काम करने जा रहे हैं।

डायनासोर पर आधारित जुरासिक पार्क की पहले आई सभी फिल्मों ने पर्दे पर खूब धूम मचाई थी। अब इस फिल्म के सीजन-4 का निर्माण किया जा रहा है। चर्चा है कि इस फिल्म में इरफान खान भी अहम किरदार निभाते नजर आएंगे।

पूर्व मिस स्कॉटलैंड के साथ डेटिंग कर रहे हैं लारा


Published on Mar 01, 2014 at 16:11 | Updated Mar 01, 2014 at 16:28
0 IBNLive

लंदन। वेस्टइंडीज के महान क्रिकेट खिलाड़ी ब्रायन लारा कथित तौर पर इन दिनों पूर्व मिस स्कॉटलैंड जेमी बोअर्स के साथ डेटिंग कर रहे हैं। मैनचेस्टर युनाइटेड और त्रिनिदाद एवं टोबैगो के स्टार फुटबाल खिलाड़ी ड्वाइट यार्क ने बोअर्स और लारा के बीच दोस्ती कराई थी।

समाचार पत्र डेली न्यूज ने बोअर्स के हवाले से लिखा है कि यह हमारी दोस्ती के शुरुआती दिन हैं। मैं किसी को इसके बारे में बताना नहीं चाहतीं, लेकिन ब्रायन इसे लेकर सबके बीच चर्चा कर रहे हैं।

लुकास ने स्कूल को दान किए 2 करोड़ 50 लाख डॉलर


Published on Feb 26, 2014 at 14:39 | Updated Feb 26, 2014 at 14:59
0 IBNLive

लॉस एंजेलिस।फिल्मकार जॉर्ज लुकास और पत्नी मेलोडी हॉबसन ने उनकी संस्था के माध्यम से शिकागो स्थित एक निजी स्कूल को 2 करोड़ 50 लाख डॉलर दान किए हैं। वेबसाइट कांटेक्टम्यूजिक डॉट कॉम के मुताबिक, अनुदान राशि का प्रयोग एक नया कला भवन बनाने में होगा। भवन का नाम संगीतज्ञ और फोटोग्राफर गोर्डन पार्क्स के नाम पर रखा जाएगा।

स्टार वार्स फिल्म के निर्देशक जॉर्ज लुकास की ओर से जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि हम जीवन और समुदायों को बदलने के लिए कला की ताकत में यकीन रखते हैं। गोर्डन पार्कस के काम ने कुछ ऐसा ही किया है। हॉबसन ने कहा कि हमारे लिए यह जरूरी था कि शिकागो यूनिवर्सिटी के परिसर में एक अफ्रीकी-अमेरिकी के नाम पर एक इमारत हो, जिसमें हमारे समाज ने एक उत्कृष्ट योगदान दिया हो।यह पहली बार नहीं है जब दोनों ने शिकागो-क्षेत्र की शैक्षिक संस्था को दान दिया है। इससे पूर्व भी वे गैर सरकारी संस्था को शिक्षा के लिए आर्थिक मदद दे चुके हैं।

भारतीय डिजाइनर की ड्रेस पहनेंगी शकीरा


Published on Feb 26, 2014 at 08:05 | Updated Feb 26, 2014 at 10:44
0 IBNLive

नई दिल्ली| अंतर्राष्ट्रीय सुपरस्टार शकीरा टेलीविजन रियलिटी शो द वॉइस के छठे संस्करण की प्रमुख कड़ी में भारतीय फैशन डिजाइनर खुशहाली कुमार की डिजाइनर ड्रेस में नजर आएंगी। शकीरा शो में बतौर कोच लौट आईं हैं। प्रमुख कड़ी के लिए उनका ध्यान कुमार के ब्रांड रीव की एक ऊंची पोशाक पर है।

खुशहाली कुमार के ब्रांड रीव के लिए कार्यरत अमेरिकी मीडिया और सेलिब्रिटी अधिकारी केट ने कहा कि मशहूर डिजाइनर जोड़ी रॉब जैनगार्डी एवं मैरिएल हीनन ने व्यक्तिगत तौर पर खुशहाली कुमार के परिधानों को देखा। परिधानों को देखने के तुरंत बाद उन्होंने जान लिया कि हाल ही में मां बनी शकीरा के लिए एकदम फिट थे।

एंजलीना बनीं हॉलीवुड की सबसे कमाऊ एक्ट्रेस


Published on Feb 23, 2014 at 11:22 | Updated Feb 23, 2014 at 12:53
0 IBNLive

लॉस एंजेलिस। एंजेलिना जॉली हॉलीवुड में सबसे ज्यादा मेहनताना पाने वाली अभिनेत्री हैं। उन्होंने साल 2013 में 3 करोड़ 30 लाख डॉलर कमाए। वेबसाइट ई ऑनलाइन डॉट कॉम की रिपोर्ट के मुताबिक वूमेंस मीडिया सेंटर द्वारा एक रिपोर्ट में संकलित किए आंकड़ों के मुताबिक ऑस्कर विजेता एंजेलिना सबसे अधिक मेहनताना पाने वाली अभिनेत्रियों में शीर्ष पर हैं।

वहीं 2 करोड़ 60 लाख डॉलर के साथ जेनिफर लॉरेंस दूसरे स्थान पर रहीं। क्रिस्टिन स्टीवर्ट तीसरे 2 करोड़ 15 लाख डॉलर, जेनिफर एनिस्टर चौथे 2 करोड़ डॉलर और एम्मा स्टोन 1 करोड़ 60 लाख डॉलर पांचवें स्थान पर रहीं।

बीबर के घर पर लगाई जा रही पुलिस गश्त


Published on Feb 22, 2014 at 14:22
0 IBNLive

लॉस एंजेलिस। पॉप गायक जस्टिन बीबर अपने प्रशंसकों से परेशान न हों, इसके लिए पुलिसकर्मी जॉर्जिया के अटलांटा स्थित उनके किराए के मकान पर गश्त लगा रहे हैं। वेबसाइट कांटेक्टम्यूजिक डॉट कॉम के मुताबिक बीबर पिछले सप्ताह तीन-माह का किराए का करार करने के बाद आरएंडबी स्टार डलास ऑस्टिन की हवेली में रहने लगे हैं।

अफवाह है कि वह संगीत का मक्का कहने जाने वाले अटलांटा में स्वयं का घर खरीदने के इच्छुक हैं।मकान सैंडी स्प्रिंग पुलिस डिपार्टमेंट इलाके में स्थित है। पुलिसबल ने अब पॉप स्टार बीबर की गोपनीयता की रक्षा के लिए अधिकारियों को विशेष गश्त पर लगा दिया है।

लो! पेटा के वीडियो में निर्वस्त्र हुईं पामेला एंडरसन


Published on Feb 15, 2014 at 18:06
0 IBNLive

लॉस एंजेलिस। अमेरिकी एक्शन ड्रामा श्रृंखला 'बेवाच' की अभिनेत्री पामेला एंडरसन पशु अधिकार संगठन पीपुल फॉर एथिकल ट्रीटमेंट ऑफ एनिमल्स (पेटा) के वैलेंटाइन डे विषयक एक वीडियो विज्ञापन के लिए निर्वस्त्र हो गईं। विज्ञापन का उद्देश्य लोगों को सर्दियों में अपने कुत्तों को गर्माहट देने के लिए प्रेरित करना है।

अभिनेत्री-मॉडल 'ला चिने' शीर्षक श्वेत-श्याम वीडियो में एक कुत्ते के साथ हैं। एंडरसन अपने पूर्व पति टॉमी ली के साथ सेक्स कैसेट में दिखने के लिए मशहूर हैं। वेबसाइट 'कांटेक्टम्यूजिक डॉट कॉम' की रपट के मुताबिक, एंडरसन मोनसियर ब्रैंडो नामक एक आकर्षक पिल्ले के सामने निर्वस्त्र हुईं और बाद में उसे लेकर पलंग पर चढ़ गईं।





IBN7IBN7
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive