IBN7IBN7

माइकल डगलस ने कहा, नहीं टूटी मेरी शादी


Published on Sep 04, 2013 at 10:27
0 IBNLive

लास एंजेलिस। हॉलीवुड अभिनेता माइकल डगलस ने अपने वैवाहिक जीवन में किसी भी तरह के तनाव या संघर्ष की बात से इंकार किया है। डगलस ने अभिनेत्री कैथरीन जेटा जोंस से विवाह किया है। इस समय वह अपनी नई फिल्म 'बिहाइंद द कैंडेलाब्रा' के प्रचार में व्यस्त हैं। उन्होंने कहा कि उनका वैवाहिक जीवन ठीक-ठाक चल रहा है, बस जोंस और मैं कुछ समय के लिए अलग-अलग रह रहे हैं।

फिल्म के विशेष प्रदर्शन पर पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि आप क्या बात कर रहे हैं, मेरे घर में कोई कलह चल रही है? ऐसा कुछ भी नहीं है, सब कुछ ठीक है। मैं और मेरी पत्नी अपने जीवन में खुश हैं।

तो क्या बेटे के कारण टूटी डगलस की शादी?


Published on Aug 31, 2013 at 11:10
0 IBNLive

लास एंजेलिस। निर्माता माइकल डगलस और कैथरीन जेटा-जोंस के बीच अलगाव का कारण डगलस के बेटे कैमरन को माना जा रहा है। कैमरन, डगलस और उनकी पूर्व पत्नी डाएंड्रा लुकर के बेटे हैं। तनाव के कारण डगलस और कैथरीन ने 13 साल पुरानी शादी तोड़कर अलग होने का फैसला लिया।

34 साल के कैमरन कई सालों से कानूनी मुकदमों और नशे की लत से जूझ रहे हैं। उन्हें न्यूयॉर्क शहर के एक होटल के कमरे में मेथ और कोकीन का सौदा करते हुए भी पकड़ा गया था। वेबसाइट 'शोबिजपाई डॉट कॉम' ने एक सूत्र के हवाले से कहा कि कैमरन के कारण ही माइकल और कैथरीन अलग हुए हैं।

पति का पॉलीग्राफ टेस्ट कराना चाहती हैं कोल


Published on Aug 26, 2013 at 10:04 | Updated Aug 26, 2013 at 10:38
0 IBNLive

लॉस एंजेलिस। टीवी प्रस्तोता कोल कार्डेशियन अपने पति लामार ओडम का पॉलीग्राफ टेस्ट कराना चाहती हैं, ताकि वह खुद को बेगुनाह साबित कर सकें। वेबसाइट 'फीमेलफर्स्ट डॉट को डॉट यूके' के अनुसार, कोल और ओडम के वैवाहिक रिश्ते में उस समय खटास आई, जब दो महिलाओं ने ओडम पर उनके साथ रिश्ते में रहने का आरोप लगाया। हालांकि दोनों ही महिलाओं ने अभी तक कोल और ओडम के तलाक की बात नहीं उठाई है, लेकिन कोल इस बात की सच्चाई जानना चाहती हैं।

पत्रिका 'ओके' के अनुसार एक सूत्र ने बताया कि वैसे परिस्थति इतनी भी बुरी नहीं हुई है, फिर भी कोल सच जानना चाहती हैं। वह ओडम की पॉलीग्राफ टेस्ट कराना चाहती हैं। जबकि ओडम इस बात से चकित और नाराज हैं। सूत्र ने कहा कि जब भी कोल ओडम से टेस्ट के बारे में बात करती हैं, वह भड़क जाते हैं और उन पर भरोसा नहीं करने के लिए कोल पर नाराज होते हैं।

हॉलीवुड की फिल्म में फिर दिखेंगे अनुपम खेर


Published on Aug 14, 2013 at 12:21
0 IBNLive

मुंबई। बॉलीवुड में अपने संजीदा अभिनय के लिए मशहूर चरित्र अभिनेता अनुपम खेर एक बार फिर से हॉलीवुड की फिल्मों में अपने अभिनय का जौहर प्रस्तुत करते नजर आएंगे। अनपुम खेर ब्रिटिश फिल्मकार मंसूर अली की फिल्म सोनग्राम में काम करने जा रहे हैं।

इस फिल्म में अनुपम खेर के साथ हॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री एशिया अर्जेंटो भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती नजर आएंगी। बताया जाता है कि फिल्म की कहानी साल 1971 में बांग्लादेश के मुक्ति संग्राम पर आधारित थी।

लड़कियों को खूबसूरत बनाता है कॉन्फिडेंस: गोम्ज


Published on Aug 10, 2013 at 14:08
0 IBNLive

लास एंजेलिस| गायिका सेलेना गोम्ज मानती हैं कि महिलाओं का आत्मविश्वास उन्हें आकर्षक बनाता है। गोम्ज ने वेबसाइट 'एक्सेसहॉलीवुड डॉट कॉम' को बताया कि मैं समझती हूं कि मेरे लिए महिलाओं की सबसे आकर्षक चीज उसका आत्मविश्वास है।

'मैजिक' की गायिका गोम्ज जुलाई में 21 साल की हो गई हैं। उन्होंने कहा कि मैं इस साल 21 की हो गई हूं। मेरे लिए बहुत कुछ अच्छा हुआ है। और आत्मविश्वास वह चीज है जिसे मैं बढ़ाना चाहती हूं। गोम्ज ने यह भी कहा कि उनके नए आत्मविश्वास ने उनके स्टाइल को प्रभावित किया है।

कानूनी पचड़े में फंसी पॉप गायिका रिहाना


Published on Aug 09, 2013 at 09:34 | Updated Aug 09, 2013 at 09:37
0 IBNLive

लॉस एंजेलिस। गायिका रिहाना इन दिनों कानूनी पचड़े में फंस गई हैं। उनकी दादी के अंतिम संस्कार की तैयारी करने वाली कंपनी ने इसका शुल्क पूरी तरह न चुकाने पर उनके खिलाफ मुकदमा किया है। रिहाना की दादी क्लारा ब्रैथवेट का जून 2012 में निधन हो गया था। उनका शव दफन करने के लिए बारबाडोस भेजा गया था और गायिका एक पार्टी चाहती थीं। पार्टी में टेंट में बड़ी स्क्रीन वाले टेलीविजन और आकर्षक फूलों का प्रबंध हो।

वेबसाइट 'टीएमजेट डॉट कॉम' के मुताबिक उन्होंने इस आयोजन का शुल्क 1,50,000 डॉलर नहीं चुकाया क्योंकि उन्हें यह बहुत ज्यादा लगा था। शवदाह गृह के मुताबिक रिहाना ने इस शुल्क का सिर्फ एक चौथाई हिस्सा ही चुकाया है।

अगले साल तीसरी शादी करेंगी किम करदाशियां


Published on Aug 08, 2013 at 12:40
0 IBNLive

लॉस एंजलिस। हॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री किम करदाशियां अगले साल शादी कर सकती हैं। अमेरिकी टेलीविजन पर अपने बहुर्चित शो कीपिंग अप विथ द करदाशिंयांस के जरिए अपनी विशिष्ट पहचान बनाने वाली करदाशियां ने इसके पूर्व दो शादियां की थीं और अब वह तीसरी बार शादी करने जा रही हैं।

बताया जाता है कि करदाशियां अपने बॉयफ्रेंड कान्ये वेस्ट के साथ शादी करने जा रही हैं। चर्चा है कि करदाशियां यह शादी इस साल नहीं करेंगी क्योंकि वह 13 को अशुभ मानती हैं। करदाशियां मानती हैं कि अगर वह साल 2013 में शादी करती हैं तो कोई आफत आ सकती है। करदाशियां अगले साल 2014 में शादी करेंगी। करदाशियां ने हाल ही में एक बच्चे को जन्म दिया था।

शकीरा के घर की नीलामी, घर भी समुद्र किनारे


Published on Aug 01, 2013 at 16:44 | Updated Aug 01, 2013 at 17:20
0 IBNLive

लॉस एंजेलिस। गायिका शकीरा मिआमी समुद्रतट वाले अपने घर को बेचना चाहती हैं। जिसकी अनुमानित कीमत 14.95 करोड़ डॉलर है। शकीरा ने यह घर 33.8 लाख डॉलर में खरीदा था। बड़े विशाल कमरों, ऊंची छतों, शीशे की दीवारों और घर के बाहर पूल सहित घर में एक बड़ा सा मुख्य शयरकक्ष, पौधशाला, अतिथि गृह, व्यायामशाला के साथ लकड़ी के डेक भी है।

अचल संपत्ति संबंधी वेबसाइट 'रेडफिन डॉट कॉम' के मुताबिक उन्होंने संपत्ति के लिए तीन शयन कक्ष, तीन स्नानघर और लगभग 2,000 वर्ग फिट जमीन का विस्तार किया है। उनके पड़ोस में इस समय अभिनेता मैट डैमन की हवेली है।

हॉलीवुड की सबसे कमाऊ अभिनेत्री बनीं जोली


Published on Jul 30, 2013 at 16:01
0 IBNLive

न्यूयार्क। फोर्ब्स पत्रिका ने अभिनेत्री एंजेलिना जोली को हॉलीवुड की सर्वाधिक कमाई वाली अभिनेत्री घोषित किया है। वैसे पिछले तीन साल से जोली की एक भी फिल्म प्रदर्शित नहीं हुई है। समाचार एजेंसी ईएफई के अनुसार, जोली को उनकी आने वाली फिल्म 'मेलफिशेंट' के लिए 3.3 करोड़ डॉलर मेहनताना दिया गया है। फिल्म में जोली एक बुरी जादूगरनी की भूमिका में हैं। इस फिल्म के माध्यम से जोली तीन साल बाद हॉलीवुड में वापसी करेंगी।

ब्रैड ने एंजेलिना के लिए खरीदा प्राइवेट जेट


Published on Jul 28, 2013 at 10:12 | Updated Jul 28, 2013 at 10:15
0 IBNLive

लॉस एंजेलिस। अभिनेता ब्रैड पिट ने कथित रूप से अपनी मंगेतर अभिनेत्री एंजेलिना जॉली से जल्दी-जल्दी मुलाकात करने के लिए एक प्राइवेट जेट विमान खरीदा है। पिट इस समय लंदन में अपनी आने वाली फिल्म 'फ्यूरी' की शूटिंग कर रहे हैं। यह फिल्म द्वितीय विश्व युद्ध पर आधारित है। जबकि जॉली इस समय हवाई में 'अनब्रोकेन' का निर्देशन कर रही हैं।

वेबसाइट 'फीमेलफर्स्ट डॉट को डॉट यूके' ने एक सूत्र के हवाले से कहा कि ब्रैड लंदन में 'फ्यूरी' के सेट से एंजेलिना के 'अनब्रोकेन' के सेट तक की यात्रा के लिए एंजेलिना को एक जेट विमान उपहार में देना चाहते हैं। सूत्र ने बताया कि उन्होंने एंजेलिना से कहा है कि वह हवाई जहाज पसंद कर सकती हैं, वह उसका भुगतान करेंगे और इस तरह वे उड़ान भर सकेंगे और एक दूसरे को देख सकेंगे। एंजोलिना हमेशा से ही जेट विमान से सागर पार जाना चाहती थीं।





IBN7IBN7
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

हैल्थ

जापान के स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने दावा किया है कि ई सिगरेट में सामान्य सिगरेट की तुलना में 10 गुना अधिक खतरनाक रसायन होते हैं जिनसे कैंसर जैसी घातक बीमारियां होती हैं।
मोटापा यूं तो अपने आप में ही एक बीमारी है लेकिन यह जानकर सबको आश्चर्य होगा कि विश्वभर में हर साल कैंसर के चार लाख 81 हजार से अधिक मामले मोटापे के कारण ही होते हैं।
तनाव को अब आप हल्के में लेना बंद कीजिए, क्योंकि अगर यह स्थायी तौर पर आप पर हावी रहा, तो ये आपकी 'सिजोफ्रेनिया' जैसी गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है।
ibnliveibnlive