IBN7IBN7

प्रेग्नेंट औरतों को स्वाइन फ्लू का ज्यादा खतरा


Published on Feb 17, 2015 at 08:31 | Updated Feb 17, 2015 at 08:50
0 IBNLive

नई दिल्ली। संक्रमण के लिहाज से गर्भवती महिलाओं को सबसे आसान शिकार माना जाता है। जिस स्वाइन फ्लू से दुनिया में खौफ कायम है, उसका आसान शिकार ज्यादातर वे महिलाएं हुई हैं, जिनका गर्भपात हुआ है या जो गर्भवती हुई हैं। गर्भधारण के समय महिलाओं की प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर पड़ जाती है और जिसके कारण वो इससे कहीं ज्यादा मात्रा में प्रभावित होती हैं। गर्भधारण के समय ये फ्लू तेजी से फैलता है और शरीर कमजोर और संक्रमित बना देता है जिससे निमोनिया या भ्रूण संकट जैसी भयानक स्थिति पैदा हो सकती है।

गर्भपात के दौरान गर्भाशय का आकर बढ़ने लगता है महिलाओं में वैसे ही इस बढ़ते हुए आकार के कारण डायाफ्राम और जिस जगह फेफड़े होते हैं वहां दबाव पड़ने लगता है, जिसकी वजह से फेफड़ों में हवा की आवाजाही में कमी हो जाती है। इस प्रकार उनका शरीर किसी भी संक्रमण से प्रभावित हो सकता है।

अब पुरुष भी ले सकेंगे गर्भ निरोधक गोलियां


Published on Feb 16, 2015 at 16:59
0 IBNLive

न्यूयार्क। अब अनचाहे गर्भ से बचने के लिए पुरुष भी गर्भ निरोधक गोलियां ले सकेंगे। अभी तक पुरुषों के लिए कंडोम और महिलाओं के लिए गर्भ निरोधक गोलियां प्रचलन में हैं, लेकिन कंडोम का इस्तेमाल न करने की इच्छा रखने वाले पुरुषों के लिए भी अब महिलाओं की ही तर्ज पर गर्भ निरोधक गोलियां उपलब्ध होंगी। अनचाहे गर्भ से बचने के लिए पुरुषों के इस्तेमाल योग्य कम से कम दो परियोजनाओं पर वैज्ञानिक काम कर रहे हैं।

इनमें से एक एच2-गैमेनडैजोल है जो शुक्राणु को पूर्ण रूप से विकसित नहीं होने देगा। सामान्य रूप से अपरिपक्व शुक्राणु टेस्टिस में प्रवेश करने के बाद पूरा रूप लेते हैं, लेकिन एच2-गैमेनडैजोल उन्हें विकसित होने से रोक देगा। अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ कंसास मेडिकल सेंटर में प्रजनन जीव वैज्ञानिक जोसफ ताश ने कहा कि यदि कोई शुक्राणु नहीं हो तो अंडाणु उर्वर नहीं हो सकता।

डायबिटीज से होता है मस्तिष्क को खतरा!


Published on Feb 16, 2015 at 09:50 | Updated Feb 16, 2015 at 10:11
0 IBNLive

टोरंटो। टाइप 2 मधुमेह के कारण व्यक्ति अच्छा जीवन नहीं जी पाता और अब शोधकर्ताओं ने पाया है कि यह मस्तिष्क की खास क्षमताओं को भी घटा सकता है। शोध के मुताबिक, टाइप 2 मधुमेह से मस्तिष्क की कार्यप्रणाली पर बुरा असर पड़ता है। इसमें भावनाओं पर नियंत्रण, व्यवहार और विचार आदि शामिल हैं।

कनाडा में वॉटरलू विश्वविद्यालय से संबद्ध शोध के मुख्य लेखक कॉरी विन्सेंट के मुताबिक, मस्तिष्क के कामकाज का यह पहलू विशेष रूप से महत्वपूर्ण हैं, क्योंकि जब भी हम अपनी स्वाभाविक प्रवृत्ति के विपरीत कोई काम करने का प्रयास करते हैं या हमें ऐसा करने के लिए बाध्य होना पड़ता है तो हम पूर्ण रूप से मस्तिष्क पर निर्भर होते हैं।

दिल के दौरे से औरतों का उबरना ज्यादा मुश्किल!


Published on Feb 16, 2015 at 09:07 | Updated Feb 16, 2015 at 09:16
0 IBNLive

वॉशिंगटन। युवतियों और अधेड़ उम्र की तरफ बढ़ रहीं महिलाओं में अपने पुरुष साथियों की अपेक्षा अधिक तनाव रहता है, जिसके कारण दिल का दौरा पड़ने पर उनके इससे उबरने की संभावनाएं कम हो जाती हैं। एक ताजा अध्ययन में यह बात सामने आई है। येल विश्वविद्यालय के सहायक एवं अध्ययन के लेखक प्राध्यापक जियाओ शू ने कहा कि महिलाओं में साथी पुरुषों की अपेक्षा तनाव अधिक रहता है, जो परिवार और अन्य कार्यों में उनकी भूमिकाओं में भिन्नता के कारण हो सकता है।

अनुसंधानकर्ताओं ने अस्पताल में भर्ती होने के शुरुआती दिनों में प्रत्येक मरीज द्वारा महसूस किए गए मानसिक तनाव का अध्ययन किया। इसके लिए उन्होंने एक अध्ययन 'वीआईआरजीओ' में दिए आंकड़ों का इस्तेमाल किया। 'वीआईआरजीओ' अध्ययन में अमेरिका के 103, स्पेन के 24 और ऑस्ट्रेलिया के तीन अस्पतालों में 18 से 55 आयुवर्ग के मरीजों का 2008 से 2012 के बीच अध्ययन किया गया। शोध में शामिल प्रतिभागियों से पूछा गया कि पिछले एक महीने उनका जीवन कितना अप्रत्याशित, अनियंत्रित और काम की अधिकता वाला रहा। वित्तीय संकट से जूझ रहीं महिलाओं के साथ अक्सर पाया गया कि उन पर अपने बच्चों या नाती-पोतों का भी भार रहता है।

हवाई यात्रा से पहले दिल के मरीज बरतें सावधानी


Published on Feb 15, 2015 at 09:37
0 IBNLive

नई दिल्ली। आज के समय में हवाई यात्रा यातायात का सबसे सुलभ जरिया हो गया है और बहुत सारे हवाई यात्री ऐसे भी होते हैं, जिन्हें सांस संबंधी बीमारियां या दिल की बीमारियां होती हैं तो उन्हें हवाई जहाज में ऑक्सीजन की जरूरत पड़ सकती है। ऐसे लोगों को सुरक्षित यात्रा के लिए डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। ऐसे मरीजों की जांच करते समय डॉक्टरों को उनके लिए हवाई यात्रा संबंधी अनुमति देने से पहले कुछ बातों का ध्यान जरूर रखना चाहिए। ऐसा कहना है इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के अध्यक्ष डॉ. ए. मार्तण्ड पिल्लै और महासिचव डॉ. के. के अग्रवाल का।

फ्लाइट में ऑक्सीजन के पूरक की जरूरत के आकलन के लिए ध्यान में रखने योग्य महत्वपूर्ण तथ्य हैं:

स्वाइन फ्लू से बचना है, तो अपनाएं ये घरेलू उपाय!


Published on Feb 13, 2015 at 09:53 | Updated Feb 13, 2015 at 14:13
0 IBNLive

नई दिल्ली। देश के कई राज्यों में पैर पसार चुके स्वाइन फ्लू का खौफ वर्तमान में उभर आया है। ऐसे में इससे बचने के लिए कुछ घरेलू नुस्खे का प्रयोग कर सकते हैं।

ये हैं स्वाइन फ्लू से बचने के नुस्खे:-

अब मोटापे को काबू करना हुआ बहुत आसान!


Published on Feb 13, 2015 at 09:11 | Updated Feb 13, 2015 at 09:19
0 IBNLive

नई दिल्ली। मधुमेह और मोटापे की वजह से दिल का दौरा, दिमागी दौरा, अंधापन, फेफड़े का खराब होना, शरीर की सारी नसों को हानि का खतरा पैदा हो सकता है। तंबाकू के बाद कैंसर का दूसरा महत्वपूर्ण कारण मोटापा ही है। 54 साल के विनोद गुप्ता 123 किलोग्राम वजन के साथ मधुमेह और मोटापे की बीमारी से परेशान थे। उनका (बीएमआई) सामान्य स्तर से बढ़कर 39.4 तक पहुंच गया था। लेकिन अब बैरिएट्रिक सर्जरी के द्वारा वह इन बीमारियों से ठीक हो चुके हैं और छह महीने में उन्होंने 26.7 किलोग्राम वजन भी कम कर लिया और आज दो साल बाद भी विनोद का वजन 80 किलोग्राम है।

फोर्टिस अस्पताल में मेटाबोलिक एंड बॅरिएट्रिक सर्जरी विभाग के निदेशक डॉ. अतुल पीटर्स ने कहा कि अनियंत्रित मधुमेह कई बड़े खतरे जैसे-दिल का दौरा, दिमागी दौरा, अंधापन, फेफड़े का खराब होना, शरीर की नसों को हानि जैसी बीमारियां पैदा कर सकती है।

चींटियों के डंक में छुपा होता है पीलिया का इलाज!


Published on Feb 13, 2015 at 08:18 | Updated Feb 13, 2015 at 09:47
0 IBNLive

रायपुर। बस्तर में पाए जानेवाली चींटी (चापड़ा) आदिवासी पीलिया पीड़ित मरीजों को डंक मारती है तो इनमें मौजूद बिलरूबिन (पित्तजनक) रासायनिक क्रिया के जरिए बिलुबर्डिन में बदल जाती है। इससे पीलिया मरीज के शरीर में पीलापन कुछ कम नजर आता है, यह बात शोध में सामने आई है।

बस्तर के आदिवासी अंचल के ग्रामीण सालों से पीलिया होने पर चापड़ा से इलाज करते हैं। यही नहीं चापड़ा की चटनी का उपयोग करते हैं, साथ ही साथ पेट की बीमारियों सहित कंजक्टिवाइटिस का भी इसी से इलाज करते आ रहे हैं। बस्तर विश्वविद्यालय की एक शोधार्थी माधवी तिवारी बस्तर के आदिवासियों द्वारा चापड़ा चींटी से पीलिया का इलाज करने की मान्यता को परखने लिए शोध कर रही हैं। चापड़ा चींटी का वैज्ञानिक नाम इकोफिला स्मार्ग डिना है।

अब आनुवांशिक बीमारी नहीं होगी मोटापा


Published on Feb 12, 2015 at 09:08
0 IBNLive

मेलबर्न। शोधकर्ताओं का कहना है कि मोटापे से होने वाले नुकसान मां से बच्चे में स्थानांतरित हो सकते हैं, लेकिन एहतियात रखकर इसे रोका भी जा सकता है। शोधों से पता चला है कि महिलाओं में मोटापा प्रजनन क्षमता को प्रभावित करता है। इससे गर्भधारण में तो परेशानियां पेश आती ही हैं, गर्भस्थ शिशु के विकास में भी बाधा पहुंचती है। ऑस्टेलिया की युनिवर्सिटी ऑफ एडिलेड की प्रोफेसर रिबेका रॉबकर ने बताया कि अध्ययन के नतीजों से पता चला है कि मोटी महिलाओं के लिए भी प्रजनन क्षमता और गर्भधारण की संभावनाओं को सामान्य बनाने के लिए भविष्य में इलाज ढूंढ़ा जा सकता है। साथ ही मोटापे से होने वाले नुकसान को पीढ़ी दर पीढ़ी आनुवांशिक रूप से बच्चों में स्थानांतरित होने से भी रोका जा सकता है।

रॉबकर ने कहा कि अध्ययन में हमें एक ऐसी प्रक्रिया के बारे में पता चला, जिससे मोटापे का नुकसान मां से बच्चे में स्थानांतरित होता है और ऐसा होने से रोका भी जा सकता है। मानव शरीर में सभी माइट्रोकॉड्रिया मां के शरीर से ही प्राप्त होते हैं। ऐसे में मां यदि मोटी हो, तो खिंचाव उत्पन्न होता है, जिससे माइट्रोकॉड्रिया के संचरण में बाधा पहुंचती है। रॉबकर ने कहा कि जब हमने माइट्रोकॉड्रिया के संचरण प्रक्रिया में ऊतकों में उत्पन्न खिंचाव का पता लगाया, तो खिंचाव को कम करने वाले यौगिकों का इस्तेमाल किया। ये यौगिक मधुमेह की बीमारी के इलाज में भी सक्षम पाए गए हैं। रॉबकर ने बताया कि ये यौगिक ऊतकों के खिंचाव को कम करने में कारगर हैं और इसके इस्तेमाल से मोटापे के नुकसान को मां से बच्चे में स्थानांतरित होने से रोका जा सकता है।

ऑनलाइन खरीदें दवाएं, घर बैठे चेकअप करवाएं


Published on Feb 11, 2015 at 19:37 | Updated Feb 11, 2015 at 21:30
0 IBNLive

नई दिल्ली देश में ऑनलाइन शॉपिंग का कारोबार बहुत तेजी से फल फूल रहा है, जहां आप छोटी से छोटी और बड़ी से बड़ी चीज महज कुछ क्लिक के बाद खरीद और यहां तक कि बेच भी सकते हैं। लेकिन बहुत कम लोगों को ये पता है कि चीजों की इस फेहरिस्त में अब जीवन रक्षक दवाएं भी शामिल हो गई हैं।

यानी आप अगर काम में व्यस्तता के चलते मेडिकल शॉप जाने के लिए वक्त नहीं निकाल पाते या आपके डॉक्टर द्वारा लिखी गई दवा आपको तमाम मेडिकल स्टोरों में घूमने के बावजूद नहीं मिल रही है तो आप उन्हें भी ऑनलाइन ऑर्डर कर सकते हैं।





IBN7IBN7
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive