IBN7IBN7

लैब में बनेंगे स्पर्म-ओवा,इंसानों का क्या होगा!


Published on Dec 27, 2014 at 10:30 | Updated Dec 27, 2014 at 12:37
0 IBNLive

नई दिल्ली। कैंब्रिज यूनीवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने मानव त्वचा की कोशिका से शुक्राणु और अंडाणु तैयार करने में सफलता हासिल की है। ये एक ऐसी उपलब्धि है जो प्रजनन क्षमता से जुड़ी समस्याओं के इलाज में क्रांतिकारी साबित हो सकती है। शोध के अगले चरण में इन शुक्राणुओं और अंडाणुओं को क्रमशः चूहों के वृषण और अंडाशय में डालकर ये पता लगाया जाएगा कि क्या इनसे एक पूर्ण जीव को जन्म दिया जाना संभव है।

कैंब्रिज में गार्डन इंस्टीट्यूट के शोधकर्ताओं के दल के प्रमुख अजीम सूरानी के मुताबिक महिलाओं की त्वचा की सेल से केवल अंडाणु बनाए जा सकते हैं क्योंकि उनमें वाई क्रोमोसोम नहीं होता जबकि सैद्धांतिक रूप से पुरुष की त्वचा की कोशिका से शुक्राणु और अंडाणु दोनों बनाए जा सकते हैं। हालांकि द गार्डियन अखबार के मुताबिक सूरानी कहते हैं कि वर्तमान उपलब्ध जानकारी के आधार पर ऐसा किया जाना अभी संभव नहीं है। उनके मुताबिक ये असंभव नहीं है कि हम ऐसी कोशिकाओं को गेमेट्स (क्रोमोसोम की जोड़ी) तैयार करने के लिए लें लेकिन क्या हम कभी ऐसा करेंगे, ये बाद का विषय है।

गर्भास्थ शिशु पर वायु प्रदूषण डालता है बुरा असर


Published on Dec 24, 2014 at 11:34 | Updated Dec 24, 2014 at 13:47
0 IBNLive

लंदन| तेल अवीव विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं द्वारा किए गए एक ताजा अध्ययन के अनुसार, वायु प्रदूषण का गर्भ में पल रहे बच्चे पर बुरा असर पड़ता है और इसके कारण जन्म के समय उसमें विकृति भी पैदा हो सकती है। तेल अवीव विश्वविद्यालय की सैक्लर चिकित्सा विज्ञान संकाय और सार्वजनिक स्वास्थ्य विद्यालय के प्राध्यापक लिएट लेर्नर गेवा ने अपने शोध में कहा कि हमारे शोध के परिणाम बताते हैं कि वायु जितना अधिक प्रदूषित होगा गर्भस्थ शिशु के विकृति के साथ पैदान होने की उतनी ही आशंका होगी।

शोधकर्ताओं ने 1997 से 2004 के बीच इजरायल में जन्में 216,730 बच्चों पर अध्ययन किया। अध्ययन की अवधि के लिए वायु प्रदूषण से संबंधित आंकड़े संबंधित विभाग से प्राप्त किए गए। भौगोलिक सूचना प्रणाली का उपयोग कर प्रत्येक महिला के लिए उनके रिहाइश के आधार पर गर्भावस्था के दौरान वायु प्रदूषण के असर का विश्लेषण किया गया। शोध में पता चला कि पूरे गर्भावस्था के दौरान अधिक वायु प्रदूषण के संपर्क में रहने पर विकृत बच्चे के जन्म लेने की आशंका बढ़ गई तथा यह संवहन प्रणाली और यौन अंगों में विकृति के रूप में दिखाई पड़ा। शोध पत्रिका 'एनवायरमेंटल रिसर्च' के ताजा अंक में प्रकाशित यह शोध गर्भस्थ शिशु पर अन्य तरह के प्रदूषणों के पड़ने वाले बुरे असर का अध्ययन करने के लिए आधार प्रदान करता है।

पढ़ें: सर्दियों में कैसे रखें अपने दिल का ख्याल


Published on Dec 22, 2014 at 09:56
0 IBNLive

लखनऊ। पारा गिरने के साथ दिल के मरीजों की दिक्कतें बढ़ने लगीं हैं। चिकित्सकों के मुताबिक सर्दी के मौसम में हार्टअटैक का खतरा सामान्य दिनों की अपेक्षा कई गुना तक बढ़ जाता है। सर्दी के मौसम में खून गाढ़ा हो जाने के कारण शरीर में रक्त का संचार सही तरके से नहीं हो पाता। ऐसे में दिल के रोगियों को सावधानी बरतने की जरूरत होती है। पीजीआई, लखनऊ में प्रोफेसर डॉ. राकेश कपूर के मुताबिक, पहली बार अटैक आया है तो मरीज को पांच घंटे के भीतर या इससे भी पहले उपचार मिल जाना चाहिए। दूसरी बार अटैक में चार और तीसरी बार में तीन घंटे के भीतर उपचार मिल जाना चाहिए।

अमूमन देखा गया है कि मरीज को अस्पताल तक आने में ही एक से डेढ़ घंटे का समय लग जाता है और कई बार उसके इस बात की जानकारी ही नहीं होने पर कई घंटे लग जाते हैं।

तस्वीरों में देखें: योगा के लिए कौन-कौन से हैं ऐप


Published on Dec 21, 2014 at 10:43 | Updated Dec 21, 2014 at 13:33
0 IBNLive

नई दिल्ली। आज की भागती दौड़ती दुनिया में लोग हेल्थ ट्रेनिंग लेना तो चाहते हैं, लेकिन जिम जाने की फुर्सत नहीं है। वैसे भी जिम हर किसी को सूट नहीं करता है, ऐसे में योग पूरी दुनिया में एक बेहतर विकल्प के तौर पर सामने आया है।

लेकिन अब ना तो हर किसी के पास इतना वक्त है और ना ही पैसा कि योग के ट्रेनर को घर पर बुलाए और योग सीखे। सीख भी ले तो भूलने की समस्या। रोज नए योगासन सामने आ रहे हैं, जिनसे अपडेट रहना भी चुनौती है। ऐसे में आप जैसे टेकसेवी लोगों की मदद के लिए मार्केट में आ गए हैं योगा एप, जिनके जरिए आप ना केवल बिना ट्रेनर के योग कर सकेंगे बल्कि लगातार अपडेट भी रहेंगे। देखें ऐसे ही दस टॉप योगा ऐप जिन्हें गूगल प्लेस्टोर या आईट्यून से डाउनलोड किया जा सकता है। तस्वीरों में देखें: करना है योगा, ऐप से होगा

अब कैंसर से छुटकारा दिलाएगी कुत्ते जैसी नाक


Published on Dec 21, 2014 at 07:39
0 IBNLive

नई दिल्ली। कुत्तों को इंसान का सबसे भरोसेमंद और प्यारा दोस्त माना जाता है। बीते कुछ सालों में हुई रिसर्च से ये भी साबित हो चुका है कि कुत्तों की सूंघने की ताक़त का इस्तेमाल बीमारियों की पहचान में भी किया जा सकता है।

लेकिन अगर हम कहें कि कुत्तों की इसी ज़बर्दस्त सूंघने की ताक़त को एक माइक्रोचिप में भी डाला जा सकता है तो शायद आप ताज्जुब में पड़ जाएं। ये भविष्य के गर्भ में छिपा कोई करिश्मा नहीं है। ये वो कल्पना है जो साकार हो चुकी है। ये वो सच्चाई है जो वैज्ञानिकों की सालों की मेहनत और रिसर्च के बाद ज़मीनी हक़ीक़त में तब्दील हो गई है। इस चमत्कार को आप डिजिटल नोज़ कह सकते हैं।

पढ़ें: क्या हैं स्वाइन फ्लू लक्षण और बचाव फोटो


Published on Dec 18, 2014 at 16:23 | Updated Dec 19, 2014 at 08:12
0 IBNLive

नई दिल्ली। स्वाइन फ्लू ने एक बार फिर देश में दस्तक दी है और हैदराबाद सहित तेलंगाना में इस बीमारी के चलते 8 लोगों की मौत भी हो चुकी है। राज्य में 50 से ज्यादा लोग इस जानलेवा बीमारी से पीड़ित हैं और इनकी संख्या दिनोदिन बढ़ रही है।

एच1एन1 इंफ्लुएंजा यानि स्वाइन फ्लू 2009 में पूरी दुनिया में भीषण महामारी के रूप में सामने आया था। हजारों लोगों की जान लेने वाली इस बीमारी का वायरस बाद में कमजोर पड़ गया लेकिन पिछले साल भी इसने दिल्ली, मुंबई, पंजाब सहित देश के कुछ इलाकों में अपना रौद्र रूप दिखाया था। इस बार इसने तेलंगाना को निशाना बनाया है।

हृदय रोग के जोखिम को कम करता है योग!


Published on Dec 17, 2014 at 09:17 | Updated Dec 17, 2014 at 09:23
0 IBNLive

न्यूयॉर्क। कई कारणों से लोग जिम जाने या सुबह टहलने में सक्षम नहीं होते। मगर चिंता करने की जरूरत नहीं है क्योंकि अगर आप रोजाना योग करें तो यह हृदय संबंधित बीमारियों के जोखिम को कम करने में सहायक होगा। इस बात के पुख्ता प्रमाण हैं कि दिल से जुड़ी बीमारियों के खतरे को कम करने में योग बेहद सहायक है और हृदय को स्वस्थ करने में यह एक प्रभावी चिकित्सा के रूप में काम करता है।

नीदरलैंड और अमेरिकी शोधकर्ताओं ने शोध के दौरान पाया कि हृदय रोग के जोखिम को कम करने में योग उतना ही लाभकारी है जितना पारंपरिक शारीरिक गतिविधियां जैसे तेज टहलना।

देखें: खाने में ये 10 उपाय अपनाएं, मोटापा घटाएं!


Published on Dec 16, 2014 at 13:56 | Updated Dec 16, 2014 at 15:30
0 IBNLive

नई दिल्ली। मोटापा एक ऐसी बीमारी है जो अपने साथ बीमारियों का पूरा पैकेज लेकर आती है। आज की व्यस्त जीवनशैली, तनाव और खानपान को लेकर लापरवाही मोटापे को न्योता देते हैं। यहां हम खानपान से जुड़े ऐसे 10 उपाय बता रहे हैं जिन्हें अपनाकर आप न सिर्फ मोटापे से दूर रहेंगे बल्कि उससे जुड़ी अन्य बीमारियों जैसे हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, अर्थराइटिस से भी बचें रहेंगे।

फोटोगैलरी देखें: 10 उपाय अपनाएं, मोटापा घटाएं!

अगर रहना है जवान तो खूब खाएं चॉकलेट!


Published on Dec 16, 2014 at 09:58
0 IBNLive

लंदन। इस बात से हर कोई अवगत है कि ज्यादा मात्रा में शर्करा का सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है, लेकिन अगर इसका सेवन संतुलित रूप में किया जाए, तो इसके कई फायदे हैं। एक नए शोध में यह बात सामने आई है। शोध तो यह भी कहता है कि मीठा व्यंजन न सिर्फ बुढ़पा देर से आता है, बल्कि यह सुचारु रक्त संचार को सुनिश्चित करता है और आपको खुशमिजाज रखने में मदद करता है।

मिरर डॉट को डॉट यूके के मुताबिक, नया साल आने वाला है, इसलिए हर ओर चॉकलेट दिख रही है, इसलिए बिना सोचे चॉकलेट्स का आनंद लीजिए, क्योंकि विभिन्न ब्रांडों द्वारा कराए गए शोध में यह बात सामने आई है कि चॉकलेट आपकी सेहत के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है।

नशेड़ी बना देगा फेसबुक!


Published on Dec 15, 2014 at 20:52 | Updated Dec 16, 2014 at 18:07
0 IBNLive

न्यूयॉर्क। इंटरनेट पर सोशल नेटवर्किंग साइटों का अत्यधिक इस्तेमाल न सिर्फ लती बना देता है बल्कि कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएं भी पैदा कर सकता है। एक ताजा अनुसंधान से पता चला है कि फेसबुक जैसे सोशल साइटों का अत्यधिक इस्तेमाल करने से आवेग पर नियंत्रण पाने की क्षमता में कमी आती है, जो मादक पदार्थों के सेवन की ओर भी अग्रसर कर सकता है।

अल्बानी विश्वविद्यालय की मनोविज्ञानी जुलिया होर्मेस ने 18 साल से अधिक आयु के 292 स्नातक के विद्यार्थियों पर यह शोध किया और नशे की लत की संभावना पर मुख्यत: उनका मूल्यांकन किया। शोध में शामिल इन विद्यार्थियों में से 90 फीसदी फेसबुक पर सक्रिय हैं और इंटरनेट पर बिताए गए कुल समय का एक तिहाई सोशल साइटों पर व्यतीत करते हैं। सोशल साइटों के उपयोग करने वाले लोगों में 10 फीसदी लोगों को अनुसंधनकर्ताओं ने 'सोशल साइट का इस्तेमाल करने की व्याधि' से ग्रस्त पाया।





IBN7IBN7
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive
ibnliveibnlive

ऑटो

सेडान सेगमेंट में मिल रहे कॉम्पिटिशन की वजह से ह्युंदई इस सेगमेंट में थोड़ी पीछे चल रही थी। लेकिन ह्युंदई अब फिर से वरना को नये अवतार में 16 फरवरी को लॉन्च करने जा रही है।
पूरी दुनिया में वाहन निर्माता कंपनियां तेजी से प्रौद्योगिकी कंपनियों में बदल रही हैं। आज बनने वाली किसी भी कार में ढेर सारे कंप्यूटर लगे रहते हैं, इसलिए एप्पल को इस क्षेत्र में अच्छा प्रतिस्पर्धी माना जा सकता है।
भारतीय ऑटो इंडस्ट्री साल 2015 अपनी स्मूद राइड के लिए तैयार है। कुछ बाइकों और कारों के लॉन्च होने वाले मॉडल्स तय भी हैं। तस्वीरें देखें।
ibnliveibnlive