आप यहाँ हैं » होम » सिटी खबरें

देखें: पूरी फैमिली के साथ जंगल में हुआ लैला खान का मर्डर!

| Jul 05, 2012 at 05:40pm | Updated Jul 05, 2012 at 05:49pm

मुंबई। बॉलीवुड की उभरती हुई अदाकारा लैला खान की मर्डर मिस्ट्री हल हो गई है। बीते जमाने के सुपरस्टार राजेश खन्ना के साथ फिल्मी पर्दे पर नजर आने वाली लैला अब इस दुनिया में नहीं है। इस खुलासे के साथ ही बीते डेढ़ साल से जारी रहस्य पर से पर्दा हट गया है। जम्मू पुलिस ने कुछ दिन पहले लैला के करीबी परवेज इकबाल टाक को गिरफ्तार किया था। पूछताछ के दौरान परवेज ने जानकारी दी कि लैला की हत्या 9 फरवरी 2011 को ही कर दी गई थी।

परवेज का दावा है कि लैला के साथ उसकी मां सलीना पटेल, दो बहनों, भाई और एक रिश्तेदार की हत्या मुंबई से 100 किलोमीटर दूर एक सुनसान जंगल में की गई थी। हत्या के बाद सबकी लाशें वहीं दफना दी गईं। पुलिस का कहना है कि इस हत्याकांड को परवेज ने अपने तीन साथियों के साथ मिलकर अंजाम दिया था। हत्या की असल वजह लैला की दौलत और प्रॉपर्टी है।

आरोप के मुताबिक इस हत्याकांड में परवेज के आलावा अफगान खान, आसिफ ऊर्फ अतीक शेख, वफी और सोनी नाम के शख्स शामिल हैं। हालांकि जम्मू पुलिस का कहना है कि जब तक मारे गए लोगों की लाश या उसके हिस्से नहीं मिल जाते, इस बारे में पुख्ता दावा नहीं किया जा सकता है।

पूछताछ के दौरान परवेज ने पुलिस को गुमराह करने की पूरी कोशिश की। उसने पुलिस से कहा कि लैला और उसका परिवार दुबई में फर्जी पासपोर्ट के आधार पर रह रहा है लेकिन पुलिस को एयरपोर्ट पर लैला और उसके परिवार के जाने का कोई ब्यौरा नहीं मिला। इसके बाद जब पुलिस ने सख्ती की तो परवेज ने सच उगल दिया।

परवेज कई महीने तक पुलिस से बचता रहा लेकिन उसकी गिरफ्तारी की वजह बनी लैला की कार। लैला के लापता होने के बाद उसकी स्कॉर्पियो कार जम्मू के नेहरू मार्केट में लावारिस मिली थी लेकिन लैला की दूसरी कार मित्शुबिशी आउटलैंडर 29 मई को किश्तवाड़ में परवेज की दुकान से बरामद हुई।

लैला की कार का रजिस्ट्रेशन मुंबई का था जिसके आधार पर जम्मू पुलिस ने मुंबई पुलिस से संपर्क किया। वहां से उन्हें जानकारी मिली कि ये कार लापता अभिनेत्री लैला खान की है। साथ ही मुंबई पुलिस ने ये जानकारी भी दी कि इस कार का इस्तेमाल लैला के अपहरण में भी हुआ था। ये जानकारी मिलते ही पुलिस ने परवेज को गिरफ्तार उससे पूछताछ शुरू कर दी।

मुंबई पुलिस की टीम परवेज को पूछताछ के लिए उसे रिमांड पर लेना चाहती है ताकि वो उसे लेकर उस जगह पर जाए जहां लैला और उसके परिवार के दूसरे लोगों की हत्या हुई थी मुमकिन है कि पुलिस को वहां कोई ऐसा सुराग मिले जो लैला की हत्या पर मुहर लगा दे।

लैला का अपहरण फरवरी 2011 में हुआ था। उसे आखिरी बार 8 फरवरी को उसके इगतपुरी स्थित बंगले पर देखा गया था। लैला के पिता नादिर पटेल ने फरवरी 2011 में लैला समेत 6 लोगों के अपहरण का मामला दर्ज कराया था। नादिर के मुताबिक लैला, उसकी मां सलीना, उसकी दो बहनों, भाई और एक रिश्तेदार को अगवा किया गया था।

लैला के मुंबई से अगवा होने के 7 महीने बाद उसकी स्कॉर्पियो कार जम्मू कश्मीर से बरामद हुई थी। तब आरोप लगे थे कि लैला के रिश्ते लश्करे-तैयबा के आतंकियों से हैं। साथ ही उस पर 26/11 हमले के दौरान आतंकियों की मदद करने के भी आरोप लगे थे।

लैला खान 2008 में तब सुर्खियों में आई जब उन्होंने गुजरे जमाने के सुपरस्टार राजेश खन्ना के साथ फिल्म में काम किया। फिल्म का नाम था वफा जिसमें लैला ने जमकर बोल्ड सीन किए थे। वफा के बाद लैला ने कुछ और फिल्में भी साइन की थीं लेकिन 2011 की शुरुआत में अचानक लैला खान लापता हो गई।

दूसरे अपडेट पाने के लिए IBNKhabar.com के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।

IBNkhabar के मोबाइल वर्जन के लिए लॉगआन करें m.ibnkhabar.com पर!

अब IBN7 देखिए अपने आईपैड पर भी। इसके लिए IBNLive का आईपैड एप्स डाउनलोड कीजिए। बिल्कुल मुफ्त!

इसे न भूलें