आप यहाँ हैं » होम » मनोरंजन

अखिलेश के खिलाफ चुनाव लड़ने को ना कह दिया था काका ने!

| Jul 19, 2012 at 05:55pm | Updated Jul 19, 2012 at 09:24pm

लखनऊ। राजनीति में बहुत कम समय गुजारने वाले हिन्दी फिल्मों के पहले सुपरस्टार राजेश खन्ना उर्फ काका ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के खिलाफ 1999 में चुनाव लड़ने से मना कर दिया था। समाजवादी पार्टी (सपा) सूत्रों ने आज बताया कि 1999 में खन्ना को कांग्रेस यादव के खिलाफ कन्नौज से चुनाव लड़ाना चाहती थी, लेकिन काका ने चुनाव लड़ने से साफ मना कर दिया था।

काका ने कहा था कि जिसकी शादी में जाकर आशीर्वाद दिया हो, उसके पहले चुनाव में वे बाधा कैसे बन सकते हैं। उन्होंने यह भी कहा था कि दोनों की पत्नियों का नाम भी एक ही है, इसलिए भी वे अखिलेश के खिलाफ चुनाव नहीं लड़ेंगे। हालांकि उन्होंने इसे मजाक के लहजे में कहा था।

राजेश खन्ना पूर्व प्रधानमंत्री दिवंगत राजीव गांधी के निर्देश पर नई दिल्ली से चुनाव लड़े थे लेकिन भाजपा के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी से मात्र एक हजार वोटों से हार गए थे। आडवाणी इस सीट के अलावा गांधीनगर से भी लड़े थे। इसलिए उन्होंने दिल्ली सीट से इस्तीफा दे दिया था। उनके इस्तीफे से रिक्त सीट पर हुए उपचुनाव में शत्रुघ्न सिन्हा को हराकर सांसद चुने गए थे। जीत के बाद राजेश खन्ना ने कहा था फिल्म के हीरो ने विलेन को हराया है।

दूसरे अपडेट पाने के लिए IBNKhabar.com के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।

IBNkhabar के मोबाइल वर्जन के लिए लॉगआन करें m.ibnkhabar.com पर!

अब IBN7 देखिए अपने आईपैड पर भी। इसके लिए IBNLive का आईपैड एप्स डाउनलोड कीजिए। बिल्कुल मुफ्त!

इसे न भूलें