आप यहाँ हैं » होम » पॉलिटिक्स

मोदी का इंटरव्यू लेने पर शाहिद सिद्दीकी सपा से 'बाहर'

| Jul 28, 2012 at 11:09am | Updated Jul 28, 2012 at 05:21pm

नई दिल्ली। समाजवादी पार्टी के नेता शाहिद सिद्दिकी को नरेंद्र मोदी का इंटरव्यू लेने की सजा मिली है। उन्हें पार्टी से निकाल दिया गया है, शाहिद सिद्दिकी ने गुजरात के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी का इंटरव्यू लिया था जिसमें मोदी ने कहा था कि अगर वो दंगों के दोषी हैं तो उन्हें फांसी पर लटका दिया जाए।

पार्टी के नेता रामगोपाल यादव ने शनिवार की सुबह कहा कि मीडिया लगातार शाहिद सिद्दीकी को एसपी का प्रवक्ता बता रहा है। मेरा अनुरोध है कि ऐसा न करें, वो हमारी पार्टी में ही नहीं हैं, तो प्रवक्ता होने का सवाल कहां से उठता है। एसपी ने एक लिस्ट जारी करके कहा है कि पार्टी की ओर से चार नेता ही सार्वजनिक बयान देंगे या मीडिया में पक्ष रखेंगे।

इस लिस्ट में पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव, अखिलेश यादव, रामगोपाल यादव और पार्टी के वरिष्ठ प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी का नाम है। पिछले दिनों उर्दू अखबार 'नई दुनिया' के संपादक के तौर पर शाहिद सिद्दीकी ने नरेंद्र मोदी का इंटरव्यू किया था। इसमें मोदी ने कहा था कि अगर वो गुजरात दंगों के दोषी पाए जाते हैं तो उन्हें फांसी पर लटका दिया जाए। इसी इंटरव्यू के जरिए गुजरात के मुख्यमंत्री ने भारत के मुसलमानों के नाम एक संदेश भी जारी कर दिया जिसमें उन्हें सिर्फ वोट बैंक बन कर न रहने की सलाह दी गई है। मोदी के इस इंटरव्यू को मुसलमानों में उनकी छवि दुरुस्त करने की कोशिश के रूप में देखा जा रहा है।

मालूम हो कि इसी साल यूपी विधानसभा चुनाव से पहले 8 जनवरी को शाहिद सिद्दिकी को समाजवादी पार्टी में शामिल किया गया था। उस वक्त खुद मुलायम सिंह यादव और आजम खान की मौजूदगी में वो पार्टी में आए थे। उस वक्त शाहिद आरएलडी में थे।

एसपी नेता आजम खान ने मुलायम के इस कदम का स्वागत किया है और कहा कि मोदी से रिश्ता रखना बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

समाजवादी पार्टी के यूपी प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी का कहना है कि रामगोपाल यादव ने जो बयान जारी किया है उसके मुताबिक शाहिद सिद्दीकी पार्टी में शामिल नहीं हैं। जिस तरीके से उनकी गतिविधियां थीं। उसे देखते हुए पार्टी को ये कदम उठाना पड़ा है। पार्टी में शामिल होने के सवाल पर राजेंद्र चौधरी ने गोलमोल जवाब देते हुए कहा कि वो पार्टी में शामिल थे या नहीं उन्हें इसकी जानकारी नहीं है।

वहीं, इस पूरे मामले पर बीजेपी नेता शाहनवाज हुसैन का कहना है कि ये जगजाहिर है कि शाहिद सिद्दीकी फिलहाल समाजवादी पार्टी के नेता के तौर पर जाने जाते हैं, लेकिन जिस तरह अब पार्टी उनसे पल्ला झाड़ने की कोशिश कर रही है वो सिर्फ और सिर्फ वोट बैंक की राजनीति का नतीजा है।

मालूम हो कि उर्दू साप्ताहिक नई दुनिया के संपादक शाहिद सिद्दीकी को दिए इंटरव्यू में नरेंद्र मोदी ने कहा था कि अगर मैं गुजरात दंगों का गुनहगार हूं तो मुझे फांसी पर लटका दो। कवर पेज इंटरव्यू नई दुनिया के संपादक और समाजवादी पार्टी के राज्य सभा सांसद शाहिद सिद्दीकी ने लिया है। छह पेज के इस इंटरव्यू में गोधरा कांड के बाद गुजरात दंगों, गुजरात में मुस्लिमों की हालत और कई अन्य संवेदनशील मुद्दों पर बात की गई।

दूसरे अपडेट पाने के लिए IBNKhabar.com के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।

IBNkhabar के मोबाइल वर्जन के लिए लॉगआन करें m.ibnkhabar.com पर!

अब IBN7 देखिए अपने आईपैड पर भी। इसके लिए IBNLive का आईपैड एप्स डाउनलोड कीजिए। बिल्कुल मुफ्त!

Previous Comments

इसे न भूलें