आप यहाँ हैं » होम » सिटी खबरें

सरकारी स्कूल में अंग्रेजी माध्यम की पढ़ाई के फैसले का विरोध

| Aug 03, 2012 at 12:51pm

चेन्नई। तमिल इलीट्स फोरम ने तमिलनाडु सरकार से आग्रह किया है कि वह सभी सरकारी स्कूलों में पहली से पांचवी कक्षा में अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाई शुरू करने के अपने फैसले को वापस ले ले।

फोरम के सदस्यों तमिल भाषाविद् तथा तमिलनाडु कांग्रेस कमेटी की पूर्व अध्यक्ष कुमारी अनंतन और भरतियार विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रो एम पोन्नवाइको ने पत्रकारों से कहा कि सरकार के इस फैसले से सरकारी स्कूलों पर अंग्रेजी का प्रभुत्व स्थापित हो जाएगा।

उन्होंने कहा कि विश्वभर के विद्वानों एवं बड़े नेताओं का यह मत रहा है कि मातृ भाषा में ही आसानी एवं प्रभावी तरीके से बच्चों को शिक्षा प्रदान की जा सकती है। उन्होंने कहा कि सरकार के इस फैसले को फोरम ने गंभीरता से लिया है। इस कदम से तमिल भाषाई छात्रों को बड़ा नुकसान उठाना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि सरकार को सभी सरकारी स्कूलों में अंग्रेजी माध्यम से पढ़ाई को बैन कर देना चाहिये।

दूसरे अपडेट पाने के लिए IBNKhabar.com के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।

IBNkhabar के मोबाइल वर्जन के लिए लॉगआन करें m.ibnkhabar.com पर!

अब IBN7 देखिए अपने आईपैड पर भी। इसके लिए IBNLive का आईपैड एप्स डाउनलोड कीजिए। बिल्कुल मुफ्त!

इसे न भूलें