आप यहाँ हैं » होम » देश

45 दिन में गीतिका को 400 कॉल किए थे गोपाल ने!

| Aug 11, 2012 at 06:22pm | Updated Aug 11, 2012 at 07:11pm

नई दिल्ली। गीतिका खुदकुशी मामले में एक चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। गीतिका मौत से पहले किसी इम्तिहान की तैयारी कर रही थी और जिस रात उसने खुदकुशी की, उस रात वो उस इम्तिहान की तैयारी की किताबें पढ़ रही थी। एक और चौंकाने वाली खबर ये है कि गीतिका ने जब से कांडा की एयरलाइंस कंपनी से नौकरी छोड़ी उसके बाद से गीतिका को 400 कॉल्स किए गए। करीब 45 दिन में गीतिका और उसके परिवारवालों को 400 कॉल्स किए गए।

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के मुताबिक 4 अगस्त को गीतिका ने रात 2 से 4 बजे के बीच पंखे से लटककर खुदकुशी की। गीतिका ने जिस रात खुदकुशी की, तब उसकी एमबीए की किताबें खुली हुई थीं और कमरे की लाइटें जली हुई थीं। परिवार के मुताबिक गीतिका 7-8 अगस्त को होने वाले किसी टेस्ट की तैयारी कर रही थी। इस मामले में मुलजिम गोपाल गोयल कांडा से जुड़े 17 लोगों से दिल्ली पुलिस की टीम अब तक पूछताछ कर चुकी है। सूत्रों के मुताबिक कांडा और उसकी एमडीएलआर एयरलाइंस कंपनी की मैनेजर अरुणा चड्ढा ने डेढ़ महीने में 400 से ज्यादा फोन कॉल्स गीतिका को किए। ये कॉल्स लेट नाइट भी किए गए। दोनों गीतिका पर वापस आने का बराबर दबाव डाल रहे थे।

गीतिका के परिवार का कहना है कि गीतिका ने करीब डेढ़ महीने पहले गोपाल कांडा की कंपनी को छोड़ा था, तब से गीतिका और उसकी मां अनुराधा शर्मा के मोबाइल पर रोजाना 10 से 15 कॉल्स आते थे।

सूत्रों के मुताबिक पुलिस ने गीतिका और उनकी मां के दोनों मोबाइल फोन की कॉल डिटेल निकाली है। गीतिका के लैपटॉप और डायरी को भी चेक किया गया है। पुलिस को कई अहम जानकारियां मिली हैं। पुलिस कंपनी के उन कर्मचारियों और अधिकारियों से भी बात करेगी, जिन्होंने गीतिका के नौकरी करने के दौरान एमडीएलआर में काम किया था। इनमें से कुछ लोग नौकरी छोड़ चुके हैं। पुलिस के मुताबिक कांडा ने करीब डेढ़ साल पहले मोबाइल की तीन सिम कंपनी के कर्मचारियों के नाम पर ली थी। मगर, इन सिम को कर्मचारी नहीं बल्कि गोपाल कांडा इस्तेमाल करते थे। इन्हीं सिम से गीतिका और उनकी मां को फोन किए जाते थे।

दिल्ली के अशोक विहार फेज-3 में रहने वाली गीतिका ने 4 अगस्त की देर रात अपने फ्लैट में खुदकुशी कर ली थी। इसका पता 5 अगस्त की सुबह करीब 7 बजे लगा था। गीतिका ने दो पेज के सुसाइड नोट में गोपाल गोयल कांडा और अरुणा चड्ढा पर मानसिक प्रताड़ना का आरोप लगाया था। पुलिस ने इस मामले में दोनों आरोपियों के खिलाफ पहले आत्महत्या के लिए उकसाने और फिर धमकी देने और आपराधिक साजिश रचने का मामला दर्ज किया था। अरुणा को गिरफ्तार किया जा चुका है। कांडा फरार चल रहा है।

दूसरे अपडेट पाने के लिए IBNKhabar.com के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।

IBNkhabar के मोबाइल वर्जन के लिए लॉगआन करें m.ibnkhabar.com पर!

अब IBN7 देखिए अपने आईपैड पर भी। इसके लिए IBNLive का आईपैड एप्स डाउनलोड कीजिए। बिल्कुल मुफ्त!

Previous Comments

इसे न भूलें