आप यहाँ हैं » होम » पॉलिटिक्स

सोनिया ने सांसदों से कहा- BJP को उसी की भाषा में जवाब दो

| Aug 28, 2012 at 11:15am | Updated Aug 28, 2012 at 11:05pm

नई दिल्ली। कांग्रेस संसदीय दल की बैठक में पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अपने सांसदों को और आक्रामक तेवर अपनाने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि किसी मामले में पार्टी के नेताओं को डिफेंसिव होने की कोई जरूरत नही है। उन्होंने ये भी कहा कि पार्टी नेताओं को आगामी चुनाव को ध्यान में रखते हुए जनता के पास जाना चाहिए।

सोनिया ने साफ-साफ कहा कि बीजेपी नकारात्मक राजनीति कर रही है ब्लैकमेल करना बीजेपी की रोजी रोटी है। इसलिए पार्टी नेताओं के सिर झुका कर नहीं सिर उठाकर जनता के सामने जाना चाहिए और असलियत बतानी चाहिए। सोनिया गांधी ने बीजेपी के ‘मोटा’ शब्द की निंदा की। साथ ही कहा कि बीजेपी को उन्ही की भाषा में जवाब देने की जरूरत है। अगले चुनाव में हमें बीजेपी को हराना है।

सोनिया के बयानों पर बीजेपी के प्रवक्ता राजीव प्रताप रुडी का कहना है कि उनकी पार्टी को सोनिया गांधी से राजनीति सीखने की जरूरत नहीं है। गौरतलब है कि सोमवार को लगातार पांचवें दिन विपक्ष के हंगामे के चलते कोई कामकाज नहीं हो सका। हंगामे के बीच ही प्रधानमंत्री ने दोनों सदनों में अपना बयान दिया। बयान के बावजूद हंगामा जारी रहने के कारण दोनों सदनों की कार्यवाही तीन बार के स्थगन के बाद दिन भर के लिए स्थगित कर दी गई थी।

इस बीच, लोकसभा में विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज ने राज्यसभा में विपक्ष के नेता अरुण जेटली के साथ एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा कि हम चाहते हैं कि प्रधानमंत्री नैतिक जिम्मेदारी लें। राजस्व को हुए नुकसान के लिए प्रधानमंत्री जिम्मेदार हैं। इसलिए हम चाहते हैं कि वह इस्तीफा दें। उन्होंने कहा कि बगैर नीलामी के जिन निजी कम्पनियों को कोयला ब्लॉक आवंटित किए गए, उन्हें रद्द किए जाए और नए सिरे से उनकी नीलामी हो।

सुषमा ने कहा था कि सीएजी ने कोयला ब्लॉक आवंटन में जिस राजस्व के नुकसान की बात कही है, उससे कांग्रेस ने 'मोटा माल' कमाया है।

दूसरे अपडेट पाने के लिए IBNKhabar.com के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।

IBNkhabar के मोबाइल वर्जन के लिए लॉगआन करें m.ibnkhabar.com पर!

अब IBN7 देखिए अपने आईपैड पर भी। इसके लिए IBNLive का आईपैड एप्स डाउनलोड कीजिए। बिल्कुल मुफ्त!

Previous Comments

इसे न भूलें