आप यहाँ हैं » होम » पॉलिटिक्स

डीजल-FDI के विरोध में 8 पार्टियों के 20 को प्रदर्शन

| Sep 15, 2012 at 05:03pm | Updated Sep 15, 2012 at 09:19pm

नई दिल्ली। रिटेल क्षेत्र में एफडीआई और डीजल के दाम बढ़ने के खिलाफ समाजवादी पार्टी, वाम दल, बीजू जनता दल, टीडीपी और जेडीएस एक साथ मिलकर 20 सितंबर को देश भर में प्रदर्शन करेंगे। इन दलों के नेताओं ने गैर यूपीए और गैर एनडीए पार्टियों को साथ आने का आह्वान किया है। एक साथ इन पार्टियों को आने से तीसरे मोर्चे की सुगबुगाहत तेज हो गई है। हालांकि इन पार्टियों का कहना है कि ये विरोध केवल जनभावना के खिलाफ है। इससे किसी मोर्चे का नाम देना सही नहीं होगा। सीपीएम नेता वृंदा करात का कहना है कि सरकार के इसे फैसले से आम आदमी आहत है। उनकी आवाज को उठाने के लिए हम सब एक साथ 20 सितंबर को देश भर में प्रदर्शन कर रहे हैं। ताकि सरकार डीजल, रसोईगैस और एफडीआई मुद्दे पर अपना फैसला वापस ले।

यही नहीं, यूपीए के घटक दल टीएमसी ने भी सरकार को फैसला वापस लेने के लिए 72 घंटे का अल्टीमेटम दिया है। इसके अलावा यूपीए को बाहर से समर्थन दे रही बीएससी ने भी सरकार को फैसला वापस लेने के लिए कहा है। लेकिन फिलहाल सरकार फैसले पर अडिग दिख रही है।

दूसरे अपडेट पाने के लिए IBNKhabar.com के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।

IBNkhabar के मोबाइल वर्जन के लिए लॉगआन करें m.ibnkhabar.com पर!

अब IBN7 देखिए अपने आईपैड पर भी। इसके लिए IBNLive का आईपैड एप्स डाउनलोड कीजिए। बिल्कुल मुफ्त!

Previous Comments

इसे न भूलें