आप यहाँ हैं » होम » क्रिकेट

मुश्किल है टीम इंडिया का T20 वर्ल्डकप जीतना: कीर्ति

| Sep 20, 2012 at 07:41pm | Updated Sep 21, 2012 at 09:55am

नई दिल्ली। जाने माने पूर्व क्रिकेटर और सांसद कीर्ति आजाद ने आईबीएनखबर से खास मुलाकात में वर्ल्ड टी20 में टीम इंडिया की संभावनाओं, खामियों पर चर्चा की। पेश हैं इस बातचीत के प्रमुख अंश...

सवाल- क्या आप मानते हैं कि मौजूदा टीम इंडिया 2007 की सफलता को रिपीट कर पाएगी?

जवाब- क्रिकेट के खेल में कहना मुश्किल होता है, खासकर जिस प्रकार टीम ने पिछले कुछ मैच खेले हैं तब। अफगानिस्तान के खिलाफ हम ऐसे खेले जैसे कि कोई कोई चैरिटी मैच खेल रहे हों। यानी की जबर्दस्ती आउट होते दिख रहे थे। यह तो गनीमत समझें कि अफगानिस्तान की टीम थी नहीं तो टीम इंडिया 80-85 के अंदर निपट जाती। इससे पहले पाकिस्तान के साथ हम लचर खेले। कभी वो 91 पर 5 विकेट खो चुके थे फिर वो 185 तक गए। न्यूजीलैंड के साथ भी ऐसा ही हाल हुआ। स्टार्ट अच्छी हो रही है फिनिश नहीं कर पा रहे हैं। ऐसे में मुझे मुश्किल लगता है कि हम 2007 रिपीट कर पाएंगे। फिर भी ये क्रिकेट का खेल है। लॉटरी की तरह है टी-20 । किसकी लगे कहा नहीं जा सकता।

सवाल-आपकी नजर में कोई ऐसा खिलाड़ी जिसे मौका मिलना चाहिए था नहीं मिला?

जवाब- अजिंक्या रहाने ने आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन किया था ऐसे खिलाडियों को मौका मिलना चाहिए था, नहीं मिला। आश्चर्य इस बात का है कि मैं हरभजन का फैन हूं लेकिन जिस तरह बिना प्रदर्शन के उन्हें मौका मिल गया वो सवाल उठाता है हमारी सिलेक्शन की प्रकिया पर।

सवाल-क्या टी20 मैचों के लिए उम्र का कोई क्राइटेरिया होना चाहिए?

जवाब-मैं उम्र को ज्यादा तरजीह नहीं देता। अगर कोई खिलाड़ी फिट हो तो उम्र की क्या बात है। अगर अच्छा खेलने में सक्षम है तो उसे मौका मिलना चाहिए। अभी सचिन को देखिए वो इतनी उम्र के बाद भी अच्छा खेल रहे हैं।

सवाल- मौजूदा इंडियन टीम में आपका फैवरिट खिलाड़ी कौन है?

जवाब- चढ़ते सूरज को सब प्रणाम करते हैं। विराट कोहली चढ़ता सूरज है। जाहिर है कि मेरी पसंद भी विराट कोहली हैं। वो लगातार अच्छा खेल रहे हैं।

सवाल- क्या आप मानते हैं कि वर्ल्ड टी20 में आप मैच फिक्सिंग की आंशका है?

जवाब- आशंकाएं तो सब चीजों में हो सकती हैं। इसमें हो भी सकती है, नहीं भी हो सकती है। अगर मैं किसी टीम का परमानेंट खिलाड़ी हूं तो आप जैसे कोई आकर मुझे ऑफर दें तो अगर मेरा ईमान खराब हो तो हो सकता है अगर ईमान खराब नहीं हो तो नहीं भी हो सकता है। आईसीसी की एंटी करप्शन यूनिट के 200 लोग लगाए हैं इसकी निगरानी के लिए। इसका मतलब कहीं पर उनको ये आभास है कि ऐसा हो सकता है।

दूसरे अपडेट पाने के लिए IBNKhabar.com के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।

IBNkhabar के मोबाइल वर्जन के लिए लॉगआन करें m.ibnkhabar.com पर!

अब IBN7 देखिए अपने आईपैड पर भी। इसके लिए IBNLive का आईपैड एप्स डाउनलोड कीजिए। बिल्कुल मुफ्त!

इसे न भूलें