आप यहाँ हैं » होम » मनोरंजन

मूवी रिव्यूः बोल्ड है ‘टेबल नंबर-21’ का क्लाइमैक्स

| Jan 05, 2013 at 03:02pm | Updated Jan 05, 2013 at 03:39pm

नई दिल्ली। फिल्म टेबल नंबर 21 के अंत में आने वाले बड़े खुलासे और झकझोर कर रख देने वाले क्लाइमैक्स की आप दाद न दें, ऐसा मुश्किल ही है, पर समस्या यहां ये है कि जहां एक ओर डायरेक्टर आदित्य दत्त और उनके राइटर ने तय क्लाइमैक्स ढूंढ निकाला है वहीं वो इस धीमी थ्रिलर के बाकी हिस्से पर ध्यान देना ही भूल गए हैं। राजीव खंडेलवाल और टीना देसाई एक मिडल क्लास शादीशुदा कपल विवान और सिया के किरदार में हैं जिन्होंने एक लकी ड्रॉ में फिजी में एक हफ्ते का हॉलीडे प्लान जीता है।

लाइव गेमिंग वेबसाइट के मालिक के तौर पर परेश रावल इन्हें एक सिंपल से गेम में हिस्सा लेने के लिए उकसाते हैं जिससे ये इनाम के तौर पर एक मोटी रकम जीत सकते हैं। इस कपल को सात सवालों का जवाब ईमानदारी से हां या ना में देना है और हर एक सवाल के साथ एक टास्क परफोर्म करना है जिससे ये लोग 21 करोड़ तक जीत सकते हैं। पर जब जवाब असहज होते चले जाते हैं और टास्क खतरनाक तो ये साफ हो जाता है कि खेल उतना नहीं है जितना दिख रहा है।

जिज्ञासाभरी शुरुआत के बावजूद फिल्म अपनी बचकानी स्क्रिप्ट की वजह से धीरे-धीरे अपनी पकड़ खोती चली जाती है। इस किस्म की थ्रिलर के लिए इसका स्क्रीनप्ले जरूरी टेंशन कायम करने में नाकाम साबित होता है। जहां एक ओर इस कपल को अपने डर का सामना कर अपने अतीत के साथ समझौता करना है, वहीं एक-दूसरे के लिए अपने प्यार पर सवाल भी खड़े करने हैं। दत्त इनके द्वारा आपके दिलों में वो डर पैदा नहीं कर पाते। फिल्म कुछ हिस्से में आपको हंसाती भी है जो शायद इस फिल्म का मकसद नहीं है, जैसे कि वो सीन जिसमें एक अहम किरदार को शर्मनाक तरीके से अपने सारे बाल मुंडवाने पड़ते हैं, जिसका नतीजा वो फिल्म में अंडे जैसा दिखने वाला सर आपको खूब हंसाएगा।

टेबल नंबर 21 अपनी क्षमता का सही इस्तेमाल नहीं करती है। फिल्म का अंत काफी बोल्ड है पर कुछ जगहों पर फिल्म अपनी पकड़ नहीं बना पाती। ये अपने चरित्रों और पार्श्व के मामले में भी काफी आलस से भरपूर और बचकानी लगती है। फिल्म की शुरुआत में हमें ऐसे किरदारों से मिलवाया जाता है जिन्हें कोई भी पसंद करेगा और मुश्किल घड़ी में उनकी परवाह करेगा, पर फिर एक ही झटके में वो सब छीन लिया जाता है जिससे कि फिल्म को कोई हैरान करने वाला क्लाईमैक्स मिल सके। मैं डायरेक्टर आदित्य दत्त की फिल्म टेबल नंबर 21 को पांच में से दो स्टार देता हूं, यहां तक कि परेश रावल और राजीव खंडेलवाल जैसे मंझे हुए एक्टर भी इसमें सुस्त नजर आते हैं।

दूसरे अपडेट पाने के लिए IBNKhabar.com के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।

IBNkhabar के मोबाइल वर्जन के लिए लॉगआन करें m.ibnkhabar.com पर!

अब IBN7 देखिए अपने आईपैड पर भी। इसके लिए IBNLive का आईपैड एप्स डाउनलोड कीजिए। बिल्कुल मुफ्त!

इसे न भूलें