आप यहाँ हैं » होम » सिटी खबरें

दिल्ली गैंगरेप: घरवालों के लिए मर चुका है नाबालिग आरोपी

| Jan 10, 2013 at 06:01pm | Updated Jan 10, 2013 at 06:17pm

बदायूं। पूरे देश को झकझोर देने वाले दिल्ली में पिछले 16 दिसंबर को हुये गैंगरेप के नाबालिग आरोपी को भले ही बहुत कड़ी सजा नहीं मिले और वह जिंदा रह जाये लेकिन परिवार ने उसे मरा मान लिया है।

गैंगरेप मामले के छह आरोपी में से एक राज मोहम्मद नाबालिग है और हो सकता है कि सजा के तौर पर उसे फांसी नहीं हो और वह जिंदा रहे लेकिन अपने परिवार के लिए वह मर चुका है। राज मोहम्मद उत्तर प्रदेश में बदायूं के छोटे से गांव भवानीपुर का रहने वाला है। महज 11 साल की उम्र में ही गांव के कुछ लड़कों के साथ वह दिल्ली चला गया था। खुद उसकी मां अनिसा ने उसे गरीबी के चलते गांव से बाहर शहर में कुछ बनने भेजा।

गांव के लड़के तो वापस आ गये लेकिन वह नहीं आया। राज मोहम्मद ने एक साल तक तो ढाबे पर काम किया और घर पैसे भेजे मगर उसके बाद कहीं गायब हो गया। मां-बाप को उसका कोई पता नहीं चला। राज की मां अनीसा गांव के एक आधे बने हुए घर में अपने मंद बुद्धि पति, दो बेटी और दो छोटे बेटों के साथ रहती है। मां और दोनों बेटी मजदूरी करके घर का खर्च चलाते हैं।

दूसरे अपडेट पाने के लिए IBNKhabar.com के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।

IBNkhabar के मोबाइल वर्जन के लिए लॉगआन करें m.ibnkhabar.com पर!

अब IBN7 देखिए अपने आईपैड पर भी। इसके लिए IBNLive का आईपैड एप्स डाउनलोड कीजिए। बिल्कुल मुफ्त!

इसे न भूलें