आप यहाँ हैं » होम » सिटी खबरें

हाईकोर्ट ने दी महिला कैदी को गर्भपात की इजाजत

| Jan 16, 2013 at 09:06pm

इंदौर। मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय की इंदौर खंडपीठ ने बुधवार को एक महिला कैदी द्वारा गर्भपात करान की मंजूरी प्रदान कर दी। संभवतः प्रदेश के इतिहास में अपनी तरह का यह पहला मामला है।

एकल पीठ के न्यायाधीश एस सी शर्मा ने इंदौर जिला जेल की महिला कैदी हल्लो बी की याचिका पर सुनवाई करने के बाद उसे दो विशेषज्ञ चिकित्सकों की रिपोर्ट के आधार पर 12 सप्ताह से ज्यादा समय के गर्भ का गिराने की अनुमति प्रदान कर दी।

न्यायालय ने पिछली सुनवाई पर इस मामले मेडिकल टर्मिनेशन ऑफ प्रेग्नेंससी एक्ट 1971 की धारा 3.2(बी) के तहत 12 से 20 हफ्ते का गर्भ होने के चलते स्थानीय एम वाय अस्पताल के दो विशेषज्ञ चिकित्सकों की रिपोर्ट मांगी थी। दो विशेषज्ञ डॉक्टरों द्वारा प्रस्तुत रिपोर्ट पर यह अनुमति प्रदान की।

न्यायालय ने इसके साथ ही जेल अधीक्षक को आदेशित किया की महिला के स्वास्थ्य का पूरा ख्याल रखा जाएं और इसकी चार माह के अंदर रिपोर्ट पेश करे। न्यायालय के इस आदेश को विधि विशेषज्ञ अहम फैसला बता रहे है। वही कानूनविदों के अनुसार संभवतः प्रदेश का अपनी तरह का यह पहला मामला है।

गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले इंदौर के संयोगितगंज थाने क्षेत्र में हल्लो बी नामक महिला ने अपने कथित पति उस्मान पटेल की हत्या कर दी थी। जिसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। जेल में मेडिकल परीक्षण के बाद पता चला की उसे दो माह का गर्भ है।

जिसके बाद उसने जेल अधिकारियों को गर्भ गिराने के लिए आवेदन दिया था। चूंकि मामला जेल मैन्युअल से अलग था इसलिए विधिक राय के लिए भेज दिया। जहां से यह मामला पहले नीचली अदालत जाने पर महिला कैदी को गर्भपात कराने की अनुमति देने से इंकार कर दिया गया। जिस पर महिला कैदी ने वकील शन्नो गुप्ता खान के माध्यम से उच्च न्यायालय यह याचिका दायर की।

याचिका में महिला कैदी ने कहा कि उसे बेचा गया था और उसके पेट में पल रहा गर्भ किसका है उसे पता नहीं है। वह इस अवैध संतान को जन्म नहीं देना चाहती है इसलिए उसे स्वेच्छा से गर्भपात कराने की अनुमति न्यायालय प्रदान करे।

दूसरे अपडेट पाने के लिए IBNKhabar.com के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।

IBNkhabar के मोबाइल वर्जन के लिए लॉगआन करें m.ibnkhabar.com पर!

अब IBN7 देखिए अपने आईपैड पर भी। इसके लिए IBNLive का आईपैड एप्स डाउनलोड कीजिए। बिल्कुल मुफ्त!

इसे न भूलें