आप यहाँ हैं » होम » एस्ट्रो

अब भी कम नहीं हुआ है महाकुंभ पहुंचने वालों का जोश

| Feb 27, 2013 at 11:40am | Updated Feb 27, 2013 at 02:57pm

लखनऊ। इलाहाबाद में चल रहा महाकुंभ मेला लगभग अपने आखिरी दौर में पहुंच गया है, लेकिन आस्था की डुबकी लगाने के लिए श्रद्धालुओं का जोश और उत्साह कम नहीं हुआ है। लोग भारी संख्या में गंगा, यमुना और अदृश्य सरस्वती के त्रिवेणी संगम में स्नान के लिए पहुंच रहे हैं।

संगम तट के विभिन्न घाटों पर श्रद्धालु सुबह से स्नान कर रहे हैं। यह सिलसिला देर शाम तक जारी रहेगा। मेला प्रशासन के अधिकारियों ने बुधवार को तीन लाख से अधिक श्रद्धालुओं के स्नान करने की उम्मीद जताई है।

स्नान के बाद श्रद्धालु विभिन्न पंडालों में चल रहे भंडारे का प्रसाद ग्रहण करके मेला घूमने का आनंद उठा रहे हैं। मेले में कई स्थानों पर दोपहर से राम कथा, कृष्ण कथा, श्रीमदभागवत महापुराण और धार्मिक प्रवचन होते हैं, जिसमें श्रद्धालु शिरकत करके भक्ति रस लेते हैं।

महाकुंभ मेले की रौनक कहे जाने वाले नागा साधु मौनी अमावस्या से शाही स्नान के बाद यहां से प्रस्थान कर चुके हैं। ऐसे में अब महाकुंभ मेले में स्नान करने के लिए आने वाले श्रद्धालुओं को नागा साधुओं के दर्शन नहीं रहे हैं।

मेले में सुरक्षा के प्रबंध पहले की तरह चाक चौबंद हैं। हर प्रवेश द्वार पर अर्धसैनिक बलों के साथ राज्य पुलिस के जवान जांच के बाद ही लोगों को मेले में प्रवेश करने देते हैं। सीसीटीवी से कोने-कोने में निगाह रखी जा रही है।

मकर संक्रांति से शुरू हुए प्रयाग महाकुंभ के पांच शाही स्नान बीत चुके हैं और अब आखिरी शाही स्नान महाशिवरात्रि को होना है। उसी दिन मेले का समापन हो जाएगा। अब तक सात करोड़ से अधिक श्रद्धालु संगम में स्नान कर चुके हैं।

दूसरे अपडेट पाने के लिए IBNKhabar.com के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।

IBNkhabar के मोबाइल वर्जन के लिए लॉगआन करें m.ibnkhabar.com पर!

अब IBN7 देखिए अपने आईपैड पर भी। इसके लिए IBNLive का आईपैड एप्स डाउनलोड कीजिए। बिल्कुल मुफ्त!

इसे न भूलें