आप यहाँ हैं » होम » क्रिकेट

खेल संघ ने जला दिया सचिन-कांबली का वर्ल्ड रिकॉर्ड

| Feb 27, 2013 at 02:22pm | Updated Feb 27, 2013 at 02:45pm

मुंबई। 24 फरवरी 1988 को सचिन तेंदुलकर और विनोद कांबली ने मुबंई के शारदा आश्रम स्कूल की ओर से खेलते हुए हैरिस शील्ड टूर्नामेंट में सेंट जेवियर के खिलाफ 664 रनों की विशाल नाबाद साझेदारी का रिकॉर्ड बनाया था। 25 साल बाद मुंबई स्कूल स्पोर्ट्स एसोसिएशन (एमएसएसए) ने इस स्कोरशीट को जला डाला।

एमएसएसए के एक अधिकारी के अनुसार, यह स्कोरशीट खेलों के अन्य रिकॉर्ड के साथ रखी गई थी। हम और रिकॉर्ड स्टोर नहीं कर सकते थे सो उनके साथ वो स्कोरशीट भी जला दी गई। हम 25 साल पुरानी फाइल्स को स्टोर नहीं कर सकते। साथ ही यह स्कोरशीट किसी अन्य स्कोरशीट की तरह ही थी।

मालूम हो कि 1988 में मुंबई के गाइल्स शील्ड टूर्नामेंट में तेंदुलकर और कांबली ने यह रिकॉर्ड बनाया था। इसमें सचिन 329 और कांबली 349 पर नाबाद थे। इस रिकॉर्ड की खास बात है कि सचिन तेंदुलकर और कांबली को यह रिकॉर्ड बनाने में तीन दिन लगे थे।

664 रन का स्कोर वर्ल्ड रिकॉर्ड था। हालांकि बाद में यह रिकॉर्ड टूट गया था। इसे तोड़ा था बी मनोज और मोहम्मद शहनबाज तुंबी की जोड़ी ने। 2006-07 में सेंट पीटर्स हाई स्कूल की ओर से खेलते हुए इस जोड़ी ने 721 रन बनाए थे।

दूसरे अपडेट पाने के लिए IBNKhabar.com के Facebook पेज से जुड़ें। आप हमारे Twitter पेज को भी फॉलो कर सकते हैं।

IBNkhabar के मोबाइल वर्जन के लिए लॉगआन करें m.ibnkhabar.com पर!

अब IBN7 देखिए अपने आईपैड पर भी। इसके लिए IBNLive का आईपैड एप्स डाउनलोड कीजिए। बिल्कुल मुफ्त!

इसे न भूलें