यूपी में बेरोजगारी भत्ते के लिए 11 हजार आवेदन मंजूर

वार्ता

लखनऊ। जनसंख्या की दृष्टि से विश्व के छठे सबसे बड़े राष्ट्र के बराबर उत्तर प्रदेश में बेरोजगारी भत्ते के लिए प्रभावपूर्ण, कुशल और अविलम्ब परिणामदायी प्रणाली अपनायी जा रही है।

प्रदेश के सेवायोजन निदेशक अनिल कुमार ने बेरोजगारी भत्ता देने की पद्धति को पूरी तरह पारदर्शी बनाने का दावा करते हुए कहा कि सेवायोजन कार्यालयों में प्रत्येक पंजीकरण का स्वयं निदेशक के स्तर पर अनुश्रवण किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि आज तक बेरोजगारी भत्ते के लिए पूरे प्रदेश में 64052 आवेदन पत्र प्राप्त हुए हैं जिनमें से 33368 की कम्प्यूटर में फीडिंग कर दी गई है। उन्होंने बताया कि 13045 आवेदन पत्रों पर जांच की कार्यवाही की जा रही है तथा 11032 आवेदन बेरोजगारी भत्ते के लिए स्वीकृत हुए हैं। इसके अलावा 111 आवेदन पत्र अस्वीकृत हुए हैं।

निदेशक ने बताया कि लखनऊ में 471 आवेदन प्राप्त हुए हैं जिनमें से 436 स्वीकृत कर लिए गए हैं और इन्हें स्वीकृति सूचना भेज दी गई है। इन्हें अगले माह से एक-एक हजार रुपये बेरोजगारी भत्ता दिया जाएगा और इसके लिए 1100 करोड़ रुपये का बजट स्वीकृत हुआ है।