01 अक्टूबर 2014

न्यूजलैटर सब्सक्राइब करें

CLOSE

Sign Up


कैंसे बचें कालसर्प योग से?

Updated Feb 26, 2009 at 17:47 pm IST |

 

26 फरवरी 2009

पं.राजेन्द्र शर्मा


वार्ता

गाजियाबाद।
सामान्यतः कालसर्प योग को घातक माना जाता है लेकिन सच्चाई यह है कि जिस व्यक्ति की कुंडली में यह योग हो वह जीवन में एक के बाद एक सफलता की सीढियां चढ़ते हुए सर्वोच्च शिखर तक पहुंच सकता है।

विश्वभर के कई जाने माने राष्ट्राध्यक्ष, उद्योगपति तथा अन्य नामी-गिरामी हस्तियां कालसर्प योग के बावजूद जीवन में ऐसी उपलब्धियां प्राप्त कर चुके हैं जो सम्बद्ध क्षेत्रों के अन्य प्रभावी लोगों के लिए महज सपने ही बनकर रह जाती हैं।

कालसर्प योग सामान्यतः ग्रहों की उस स्थिति को कहते हैं जब जन्म कुन्डली में सारे ग्रह, राहु और केतु के मध्य फंस जाते हैं। राहु सर्प का मुख है और केतु सर्प की पूंछ हैं। आजकल जनमानस इस योग से भयाक्रांत हैं। जन्मकुन्डली में इस योग के होने से पता चलता है कि जातक ने पिछले अनेक जन्मों में असंख्य पाप कर्म किए हैं।

वैसे तो कालसर्प योग काल, समय, के गर्भ में छिपी किसी घटना के होने का संकेत मात्र देता हैं। इस योग वाले जातक विषम परिस्थतियों में भी कठिनाईयों का सामना करते हुए उच्च पद पर आसीन होते हैं तथा उन्हें अचानक धनलाभ होता है। ऐसे जातक श्रेष्ठ अधिकार प्राप्त करते हैं। यदि योग की तीव्रता हो तो व्यक्ति दर-दर का भिखारी भी बन जाता है। कठिन परिश्रम के बाद भी उसको उसका फल नहीं मिला और अंत में वह दुंर्मृत्यु को प्राप्त होता है।

संतान अवरोध अथवा संतान की असमय मृत्यु, विवाह में अनावश्यक विलम्ब, घर में हर समय अनबन, व्यापार में घाटा, धनप्राप्ति में बाधा उन्नति में अवरोध, व्यर्थ का भ्रमण, झूठे दोषारोपण, झूठे मुकदमे एवं मानसिक अशांति आदि इसके लक्षण हैं। पूर्व जन्मों में किए गए पाप इस जन्म में व्याधियों के रुप में प्रकट होते हैं।

वैसे तो कालसर्प योग अत्यंत घातक और अनिष्टकारी योग है किन्तु इसका अर्थ यह कदापि नहीं है कि इस योग से पीड़ित जातक अपने जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में असफलता और अक्षमता के ही शिकार होते हैं।

जन्म कुन्डली में विद्यमान अन्य शुभ ग्रह योग भी जातक को पूर्णरुप से प्रभावित करते हैं। ऐसे जातक न केवल जीवन में अनेक उपलब्धियां और सफलताएं प्राप्त करते हैं बल्कि वे राष्ट्राध्यक्ष, प्रधानमंत्री, राज्यपाल, सेनाध्यक्ष, अभिनेता, वैज्ञानिक तथा उच्चकोटि के धार्मिक नेता बनते हैं या अन्य उच्चतम पद प्राप्त करते हैं।

यह बात भी निश्चित है कि महानतम उपलब्धियां और सफलताएं प्राप्त करने के बावजूद उन्हें भी कालसर्प योग के अनुसार फल भुगतने पड़ते हैं। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति रोनाल्ड रीगन, प्रसिद्ध उद्योग पति हेनरी फोर्ड, फिल्म अभिनेता राजकपूर, अशोक कुमार, पूर्व राष्ट्रपति एवं प्रसिद्ध वैज्ञानिक डॉ.ए.पी.जे.अब्दुल कलाम, इराक के तानाशाह सद्दाम हुसैन, मुगल बादशाह अकबर और जर्मन तानाशाह एडोल्फ हिटलर की कुंडलियों में कालसर्प योग था।

एक पूर्व राष्ट्रपति और एक पूर्व प्रधानमंत्री समेत विभिन्न क्षेत्रों की कई चोटी की हस्तियां भी कालसर्प योग के बावजूद इतनी ऊंचाइयों तक पहुंच गई।

कालसर्प योग के दुष्प्रभावों से बचने के लिए अपनाएं यह उपाय –

- सर्वप्रथम अपना आचरण शुद्ध करें।

- प्रतिदिन माता, पिता तथा गुरुजनों के चरण स्पर्श कर उनसे आशीर्वाद प्राप्त करें।

- किसी विद्वान ब्राह्मण से कालसर्प योग निवृत्ति के लिए पूजन कराएं। यदि पूर्वजन्म कृत दोष अति उग्र है तो यह विधि 3 से 5 बार कराएं।

- पंचमी के व्रत करें तथा नव नाग स्तोत्र का पाठ करें।

- शिवोपासना करें तथा प्रतिवर्ष रद्राभिषेक कराएं।

- वट वृक्ष की प्रतिदिन 108 परिक्रमा करें।

- शिवलिंग पर ताम्बे का सर्व चढ़ाए तथा नाग-नागिन के जोडे़ को गंगा में प्रवाहित करें।

- सर्प सूक्त का नित्य पाठ करें।

- नागबलि एवं नारायण बलि कर्म कराएं।

- प्रत्येक अमावस्या पर पितृ पूजन एवं तर्पण करें।

- राहु के बीज मन्त्रों का सवा लाख जाप करें।

- गायत्री मन्त्र अथवा नाग गायत्री का पांच लाख जाप कराएं।

- रसोई की पहली रोटियां गाय, कौआ तथा कुत्ते को खिलाकर ही स्वयं भोजन करें।

- घर की चौखट पर मांगलिक चिन्ह अंकित करें।

- सफेद चन्दन का प्रतिदिन तिलक लगाएं तथा सफेद चंदन की लकड़ी धारण करें।

- नागों की बहिन मनसा देवी की पूजा करें।

- आस्तिक ऋषि का निरन्तर स्मरण करते रहे।

 

यह खबर आपको कैसी लगी

10 में से 3 वोट मिले

पाठकों की राय | 26 Feb 2009

Oct 14, 2012

मेरी जन्म तिथि 20-12-1984 ओर जन्म टाइम 7.30 या 7.35 ह क्या मेरी कुंडली म कालसर्प योग ह किरपया करके मुझे ब्ताए म क्या कृण.जन्म कुंडली मेरा नाम जितेंदर ह ओर सिरटिफिकते राजिन्दर म बहुत प्रेशन हूँ किरपा करके मुझे ब्ताओ म क्या कृण

Rajinder Singh Delhi

Oct 04, 2012

मेरी डटे ऑफ बर्त 28.03.1973 है क्या मेरी कुंडली में कालसर्प योग है तो किस प्रकार का है प्लीज़ बता दीजिए

madhu delhi

Jun 28, 2010

my name is amit sharma.
d.o.b--23-04-2010
time -2.55 am

amit meerut

Mar 03, 2010

kalsharpyoug can distroy a person hense explain it completley

bhaskar munger

Dec 11, 2009

कालसा सर्प कैसे उतरा जाए मेरी जानम डटे १०-१२-१९९०

pankaj goel delhi

May 24, 2009

खाळ शाऱp yओघ ःओटा ःआई एश्शे ईण्खाऱ णाःई खीyआ ज़ा शाख्टा ःआई. आआज़ खाळ bआःऊट ःए छाऱ्छा mआई खाळ्शाऱpyओघ ःआई. Mआण खो आcछा ळाघे तो षाण्टी खाऱाणे mआई खाyआ ःआऱz ःआई.

AJAY TIWARI ambikapur (chhattiesgarh)

Mar 26, 2009

कालसर्प से भयभीत न हो. कुंडली मैं स्थित ग्रह और उनकी दसाओ पर ही सारा खेल निर्भर होता है. जो कुछ घटता है वह कुंडली मैं स्तित ग्रहों की दशाओं के अनुरूप ही घटित होता है.

Jai Raj Gupta Kota (Raj.)

Feb 27, 2009

मांगलिक चिन्ह konsha (kesha) hota is.

ashvini bikaner

Feb 27, 2009

Easy way by Pandits to earn money. Media should refrain from spreading this nonsense.

Rajiv Ranjan Nagpur

Feb 26, 2009

, . ?

sonal lko

Feb 26, 2009

excellent article

himanshu pune


कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का इस्तेमाल न करें। अभद्र शब्दों का इस्तेमाल आपको इस साइट पर राय देने से प्रतिबंधित किए जाने का कारण बन सकता है। सभी टिप्पणियां समुचित जांच के बाद प्रकशित की जाएंगी।
नाम
शहर
इमेल

आज के वीडियो

प्रमुख ख़बरें

Live TV  |  Stock Market India  |  IBNLive News  |  Cricket News  |  In.com  |  Latest Movie Songs  |  Latest Videos  |  Play Online Games  |  Rss Feed  |  हमारे बारे में  |  हमारा पता  |  हमें बताइए  |  विज्ञापन  |  अस्वीकरण  |  गोपनीयता  |  शर्तें  |  साइट जानकारी
© 2011, Web18 Software Services Ltd. All Rights Reserved.