29 जुलाई 2014

न्यूजलैटर सब्सक्राइब करें

CLOSE

Sign Up


मुस्लिमों में भी लोकप्रिय है रक्षा बंधन

Updated Aug 04, 2009 at 11:50 am IST |

 

04 अगस्‍त 2009
वार्ता

लखनऊ।
नवाबों एवं तहजीब के शहर लखनऊ में भाई-बहन के प्यार के बंधन का त्योहार रक्षा-बन्धन को मुस्लिमों में भी मनाने का सिलसिला सदियों से चला आ रहा है।

होली, दीपावली, ईद व बकरीद की तरह रक्षा बन्धन भी ऐसा त्यौहार है जो किसी एक धर्म का त्यौहार नहीं है। इस त्यौहार को सिर्फ हिन्दू ही नहीं मनाते बल्कि मुस्‍लमान भी सदियों से मनाते आ रहे है।

पढ़ें: मुस्लिम हाथों में भी सजी राखी  

सावन महीने की पूर्णिमा के दिन होने वाले रक्षा-बन्धन के पर्व को बहन अपने भाइयों की कलाई पर रक्षा सूत्र राखी बांधती है और उनसे अपनी रक्षा का वचन लेती है।

नवाबी घराने लखनऊ के नवाबजादा तथा रायल फैमली ऑफ अवध के एडवाइजरी बोर्ड के उपाध्यक्ष सैयद मासूम रजा का कहना है कि उनके जीवन में इस पर्व का महत्व कभी भी कम नही हुआ।

वह कहते है कि उन्हे और उनकी बहनों को इस त्यौहार का बडी बेसब्री व बेताबी से इन्तजार रहता है। नवाबजादा सैयद मासूम रजा बताते है कि उनकी दो मुंहबोली बहनें भी है जो हिन्दू हैं मगर इन दोनों का प्यार भी उनके लिए सगी बहनों से कम नहीं है।

चाहे कुछ भी हो जाए यह दोनों बहनें उनकी कलाई पर राखी बांधना या सजाना नहीं भूलती। अगर किसी कारणवश बाहर है तो समय पर राखी भेजकर अपना प्यार जताती है। रक्षा-बन्धन जैसा त्यौहार उनके लिए अत्यन्त महत्वपूर्ण त्यौहारों में से एक है जिसका वह वेसब्री से इन्तजार करते हैं।

पढ़ें: हिमाचल में वृक्षों को राखी बांध रही हैं महिलाएं

सफीर-ए-शाही अवध मसीउद्दौला के वंशज नवाब मिर्जा असकरी हसन ने कहा कि विशुद्ध रुप से भारतीय संस्कृति पर आधारित इस रक्षा बन्धन के त्यौहार को लोग घर पर परिवार के साथ मनाने के बजाय होटल व रेस्टोरेन्ट में मनाने लगे हैं जो उचित नहीं है।

नवाब हसन ने कहा कि रक्षा बन्धन की परम्परा शाही परिवार में नवाब आसिफुद्दौला के दौर से चली आ रही है। शाही एवं नवाबी खानदान इस त्यौहार के साथ भावनात्मक रूप से जुडा हुआ है। 

 

यह खबर आपको कैसी लगी

10 में से 1 वोट मिले

पाठकों की राय | 04 Aug 2009

Aug 04, 2009

ये खबर इस बात को दर्शाती है की रक्षाबन्धन का त्योहार किसी धर्म विशेष के लिए नहीं है
बल्कि ये भाई बहन के पावन रिश्ते को दिखाती है की ये रिश्ता सभी धर्मो मे समान है और सभी
भाई बहनो को इस त्योहार का इन्तेज़ार रहता है.

roynanu raipur


कृपया ध्यान रखें: अपनी राय देते समय किसी प्रकार के अभद्र शब्द, भाषा का इस्तेमाल न करें। अभद्र शब्दों का इस्तेमाल आपको इस साइट पर राय देने से प्रतिबंधित किए जाने का कारण बन सकता है। सभी टिप्पणियां समुचित जांच के बाद प्रकशित की जाएंगी।
नाम
शहर
इमेल

आज के वीडियो

प्रमुख ख़बरें

Live TV  |  Stock Market India  |  IBNLive News  |  Cricket News  |  In.com  |  Latest Movie Songs  |  Latest Videos  |  Play Online Games  |  Rss Feed  |  हमारे बारे में  |  हमारा पता  |  हमें बताइए  |  विज्ञापन  |  अस्वीकरण  |  गोपनीयता  |  शर्तें  |  साइट जानकारी
© 2011, Web18 Software Services Ltd. All Rights Reserved.